Recents in Beach

header ads

जानिये जन नेता प्रहलाद सिंह पटेल को,कहा एैसा कोई काम नहीं करूंगा जिससे दमोह का नाम बदनाम हो

जन का आशीष,3 लाख 53 हजार मतों से जीत
डा.लक्ष्मीनारायण वैष्णवदमोह/जन नेता प्रहलाद सिंह पटेल को जन का गत चुनाव से ज्यादा आशीष इस बार मिला और उन्होने अपने ही गत चुनाव में मिले मतों का रिकार्ड तोडते हुये 03 लाख 53 हजार से अधिक मतों से जीत दर्ज कराते हुये विजय श्री प्राप्त की। सिद्धांतों की राजनीति करने वाले जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले प्रहलाद सिंह पटेल को भारतीय जनता पार्टी ने उनको दूसरी बार उम्मीदवार दमोह संसदीय क्षेत्र 07 से बनाकर मैदान में उतारा था। ज्ञात हो कि गत 2014 के परिणामों पर नजर डालें तो 02 लाख 13 हजार 299 मतों को प्राप्त कर वह सांसद चुने गये थे दमोह सांसद के रूप में उनका यह दूसरा कार्यकाल प्रारंभ हुआ है जहां उनको गत चुनाव से ज्यादा मत देकर जन ने अपना विश्वास व्यक्त करते हुये प्रहलाद पटेल को अपना आशीष प्रदान किया है। ज्ञात हो कि दमोह संसदीय क्षेत्र में सर्वाधिक मतों को प्राप्त करने वाले सांसद में प्रहलाद सिंह पटेल का नाम सम्मिलित है। इस बार 65 प्रतिशत मतदान हुआ है जिसमें से 07 लाख 03 हजार 889 मत भाजपा को मिले हैं। ज्ञात हो कि दमोह संसदीय क्षेत्र में 17 लाख 65 हजार 230 मतदाताओं में से 11 लाख 63 हजार 801 यानि 65.82 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। वहीं 2014 की स्थिति पर नजर डालें तो लगभग 16 लाख मतदाताओं में से 09 लाख 12 हजार 080 अर्थात् 55.22 प्रति. मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। जिसमें से 05 लाख 13 हजार 079 यानि 56.14 प्रति.मतदाताओं ने अपना मत भाजपा के प्रहलाद सिंह पटेल को दिया था। इसके पूर्व इतने मत किसी भी सांसद को क्षेत्र में नहीं मिले हैं। प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि मुझे जो जन का आशीष मिला है उसको में भाजपा के प्रत्येक कर्मठ समर्पित कार्यकर्ता और प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी की जीत मानता हुं। मेरे द्वारा कभी एैसा कार्य नहीं किया जायेगा जिससे दमोह का नाम बदनाम हो क्षेत्र के लिये लगातार कार्य करता रहंुगा। उन्होने सभी मतदाताओं का आभार व्यक्त किया। 



इतिहास में प्रथमबार दमोह को मिला गौरव-भारत के इतिहास में यह प्रथम अवसर है जब किसी सांसद को दमोह संसदीय क्षेत्र से भारत सरकार में मंत्री मंडल में नेतृत्व करने का अवसर मिल रहा हो। अनेक सांसद हुये परन्तु प्रहलाद सिंह पटेल के भारत सरकार के मंत्री मंडल में सम्मिलित होने से क्षेत्र का मान प्रथम बढ रहा है जिसके कारण क्षेत्र के समस्त मतदाता एवं नागरिकों में प्रसन्नता का माहौल देखा जा रहा है। 


विजय तो कभी पराजय पर लक्ष्य नहीं छोडा-प्रहलाद सिंह पटेल के जीवन में अनेक उतार चढाव आये परन्तु उन्होने न तो समझोता किया न ही वह कर्तव्य पथ से विचलित हुये कम उम्र में ही सांसद बनने वाले श्री पटेल ने जीत के साथ हार का भी मुंह देखा। 1989 मेें प्रहलाद सिंह पटेल मध्यप्रदेश के सिवनी क्षेत्र से सांसद निर्वाचित हुये तथा 1991 में यहीं से पराजित भी हुये तो फिर 1996 में सिवनी से जीते तो 1998 में सिवनी से ही हार का मुंह भी देखा। सिवनी संसदीय क्षेत्र से प्रहलाद सिंह पटेल 4 बार चुनाव लडे और जिसमें वह दो जीते दो हारे। भारतीय जनता पार्टी ने उन्हे अचानक बलाघाट भेज दिया और 1999 में वह विजय श्री का वरण करते हुये सांसद बने। तत्कालीन प्रधानमंत्री पं.अटल बिहारी बाजपेयी ने प्रहलाद सिंह पटेल को केन्द्रीय कोयला राज्य मंत्री की जबाबदारी सौंपी। बर्ष 2004 में पार्टी ने फिर उनके क्षेत्र को बदलते हुये कमलनाथ के विरूद्ध चुनाव लडने भेज दिया जहां उन्होने कमलनाथ को जमकर टक्कर दी परन्तु वह चुनाव हार गये। बर्ष 2014 में भारतीय जनता पार्टी संगठन ने प्रहलाद सिंह पटेल को दमोह संसदीय क्षेत्र 07 से चुनाव लडने आदेशित किया और यहां से प्रहलाद सिंह पटेल ने 2 लाख 13 हजार 299 मतों से जीत का परचम लहराया। बर्ष 2019 में भाजपा संगठन ने पुनःप्रहलाद सिंह पटेल पर भरोसा जताते हुये दमोह से मैदान में उतारा और परिणाम में प्रहलाद सिंह पटेल ने इतिहास को रच दिया। उन्होने 3 लाख 53 हजार 205 मतों को प्राप्त करते हुये कांग्रेस के उम्मीदवार प्रताप सिंह लोधी को करारी शिकस्त दी।
किसको मिले कितने मत-


07-दमोह संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों में बहुजन समाज पार्टी के जित्तू खरे बादल को 45822 मत, इंडियन नेशनल कांग्रेस प्रताप सिंह को 351016 मत, भारतीय जनता पर्टी प्रहलाद सिंह पटैल को 704221 मत, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) ठाकुरदास पटैल (टीडी पटैल) 9505 मत, गौडवाना गणतंत्र पार्टी मनुसिंह मरावी को 3508 मत, हिदुस्थान निर्माण दल मानवेन्द्र सिंह विट्टू भैया को 1510 मत, भारतीय शक्ति चेतना पार्टी मानसिंह लोधी को 8316 मत, सपाक्स पार्टी रिचा पुरूषोत्तम चैबे (हरिओम) 1910 मत, भारत प्रभात पार्टी विकास नागवंशी को 1499 मत, पिछड़ा समाज पार्टी यूनाईटेड शारदा प्रसाद पटैल 2304 मत, निर्दलीय प्रत्याशी अनंतलाल बसोर 2538 मत, निर्दलीय प्रत्याशी कमलेश असाटी 3048 मत, निर्दलीय प्रत्याशी देवी यादव 4607 मत, निर्दलीय प्रत्याशी प्रहलाद पटैल 10836 मत, निर्दलीय प्रत्याशी प्रहलाद भैया 5499 मत तथा इसमें से कोई नहीं (नोटा) को 7653 मत प्राप्त हुये है।


वक्रतुण्ड,औघढदानी,संकट मोचक,गौ माता का पूजनार्चन-श्रीश्री बाबा के अनन्य भक्त और शिष्य दमोह संसदीय क्षेत्र से दूसरी बार विजय श्री प्राप्त करने वाले सांसद प्रहलाद सिंह पटेल ने मतगणना के दिन अपने दिन की शुरूआत प्रतिदिन की भांति वैसे ही की जैसा वह करते हैं परन्तु आज परिवार के साथ उन्होने निश्चिंत भाव के साथ तीन प्रमुख सिद्ध स्थानों पर पूजनार्चन किया। प्रतिदिन की भांति गौ माता को गौ ग्रास खिलाकर वह सीधे जिले के सिद्ध क्षेत्र ग्राम झागर के गणेश मंदिर पहुंचे जहां भगवान वक्रतुण्ड का विशेष पूजनार्चन किया। वहीं ग्राम बकायन में उनके परिजनों ने संकट मोचक पवन पुत्र का पूजनार्चन किया इसके बाद वह पूरे परिवार सहित पहुंचे भगवान औघढदानी के दर पर बांदकपुर में जागेश्वरनाथ के पूजनार्चन के लिये जहां पूरे वैदिक रीति रिवाज के साथ पूजन करने के पश्चात् लगभग एक घंटे से अधिक समय तक भजनों का गायन किया। इसके बाद वह पहुंचे भारतीय जनता पार्टी कार्यालय जहां कार्यकर्ताओं के साथ पूरे दिन मतगणना के साथ दमोह एवं पूरे देश के परिणामों पर नजर रखे रहे।


जन नेता प्रहलाद सिंह पटेल-मध्यप्रदेश के छोटे ग्राम गोटेगांव में एक साधारण किसान कृषक मुलाम सिंह पटेल एवं श्रीमती यशोदा बाई के यहां प्रहलाद सिंह पटेल ने 28 जूनए 1960 लिया। उन्होने बीएससीए एलएलबी एमएदर्शन आदर्श विज्ञान महाविद्यालय रानी दुर्गावती विश्वविद्यालयए जबलपुर से किया। 02 दिसंबर 1991 पुष्पलता सिंह पटेल सिंह के साथ परिणय सूत्र में बंधे उनकी दो पुत्रियां तथा एक पुत्र है। 1982 जिलाध्यक्ष भारतीय जनता युवा मोर्चाए भाजपा 1985 वर्ष में एक माह तक पदयात्रा कर जन.चेतना का संचार किया । 1986.90 सचिव युवा मोर्चा भारतीय जनता पार्टीए एवं इसी समय युवा मोर्चा मध्यप्रदेश के जनरल सेक्रेटरी रहें। 1989 प्रथम बार 9वीं लोकसभा के लिए निर्वाचित 1990.91 सदस्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति पर स्थायी समितिए सलाहकार समितिए कृषि मंत्रालय 1996 11 वीं लोकसभा 2 ;दक अवधि के लिए पुनः निर्वाचित भाजपा संसदीय दल लोकसभा सदस्य शहरी और ग्रामीण विकास संबंधी स्थायी समितिए सदस्यए विशेषाधिकार समितिए सदस्यए सलाहकार समितिए कृषि मंत्रालय । 

1999 13वीं लोकसभा के लिए पुनः निर्वाचित 1999.2000 सदस्य विज्ञान और प्रोद्योगिकीए पर्यावरण और वन संबंधी स्थायी समिति। 2002 बालाघाट जिले की जमुनियां बांध फूटने पर विस्थापन का कार्य जमुनिया सहित 13 ग्रामों में। 2000.2003 सदस्यए सलाहकार समितिए खान और खनिज मंत्रालय 24 मई 2003 राज्यमंत्री कोयला मंत्रालयए भारत सरकार का दायित्व मिला। 2011.2014राष्टर््ीय अध्यक्ष भारतीय जनता मजदूर महासंघ और भारतीय जनता मजदूर मोर्चा। सितंबर 2012भारतीय जनता मजदूर महासंघ के राष्टर््ीय अध्यक्ष रहते नयी दिल्ली में लाखों मजदूरों की महारैली एवं विशाल प्रदर्शन। मई 2014 में 16वीं लोकसभा के लिए पुनः निर्वाचित।  20 सितंबर 2016 उपाध्यक्ष सांविधानिक एवं संसदीय अध्ययन संस्थान नई दिल्ली । 05 जुलाई 2015 मणिपुर प्रदेश प्रभार । नवम्बर 2015 मणिपुर विधानसभा के उपचुनाव थांइवन 2 थांगजू में भाजपा की प्रथम बार ऐतिहासिक विजय मणिपुर प्रदेश में नगर पंचायत नगरपालिका नगर स्थानों पर चुनाव व भाजपा के 10 स्थान पर चेयरमेन बने। मणिपुर प्रदेश के एक मात्र नगरनिगम इम्फाल के चुनाव में 12 भाजपा प्रत्याशी विजय हुए। 


प्रहलाद पटेल की समाज सेवा एक नजर में-दमोह सांसद प्रहलाद सिंह पटेल जो एक जननेता के साथ ही समाज के लिये लगातार कार्य करने वाले नेताओं के रूप मेें भी एक अलग पहचान रखते हैं के कुछ प्रमुख कार्यो पर नजर डालें। नशा मुक्ति नशा मुक्त समाज बने इसके उद्देश्य को लेकर प्रहलाद पटेल ने कठिन तपस्या भी की है जब नौतपा में भीषण गर्मी होती है मृग जैसा प्राणी भी काला पड़ जाता है उस समय 11-11  दिन का 8 बार तपती दोपहरी में अनशन किया। मध्य प्रदेश के बहोरीबंद में नशा मुक्ति तथा ब्लड डोनेशन के लगातार कैंपों का आयोजन किया। जबलपुर में सम घाट में भीषण भूकंप से प्रभावित क्षेत्र में लगातार श्रमदान करते हुए कार्य किया चैबीसों घंटे श्रमदान में जुटे रहे।चमोली के ग्वाल घाटी के 7 गांव जो कि आपदा से प्रभावित हुए थे मैं कार्य किया श्रमदान किया लगातार 24 घंटे वहां नर की सेवा में जुटे रहे। बालाघाट के जमुनिया ग्राम सहित बांध के टूटने से प्रभावित 12 गांव में राहत और बचाव और श्रमदान कर नर की सेवा में चैबीसों घंटे लगे रहे।अपने गृह नगर नरसिंहपुर से मां नर्मदा स्वच्छता अभियान का शुभारंभ किया क्षेत्र में बहने वाली 27 किलोमीटर की मां नर्मदा नदी को स्वच्छ करने में लगातार श्रमदान किया और उसके पश्चात पर आगे बढ़कर अनेक क्षेत्रों में मां नर्मदा के स्वच्छता अभियान को आगे बढ़ाया नर्मदा परिक्रमा लगातार तप किया।


मध्य प्रदेश के दमोह संसदीय क्षेत्र 07 सांसद निर्वाचित होने के पश्चात लगातार क्षेत्र में उनका सामाजिक के कार्य जारी रहा नगर का बेलाताल के स्वच्छता की बात करें या फिर ग्राम लोहारी के सरोवर की श्रमदान और इसके लिए प्रेरित कर सहयोगियों के साथ स्वच्छता गहरीकरण और सौंदर्य में बिना किसी शासकीय राशि व्यय के शत प्रतिशत श्रमदान के साथ शत प्रतिशत सफलता अर्जित करने में विशेष योगदान रहा। देश में दुर्घटनाओं का एक बड़ा कारण सड़कों पर विचरण करने वाले आवारा मवेशी होते हैं जिन से मुक्ति के लिए एक विशेष अभियान चलाने का प्रयास किया और जिले के बटियागढ़ क्षेत्र के जरारु धाम में एक विचार गौ अभ्यारण की स्थापना की जिसमें जन सहयोग श्रमदान और सांसद निधि का कुछ अंश प्रयोग किया गया पूर्ण रूप से पथरीला यह क्षेत्र जहां कटीली झाड़ियां के अलावा दूर-दूर तक जल की धारा भी दिखाई नहीं देती थी आज कुछ ही वर्षों में विशाल वृक्षों से आच्छादित होने लगा है और यहां पर पानी ठहरने लगा है हजारों की संख्या में यहां गौ वंश को समरक्षण प्रदान किया जा रहा है आपको बतला दें कि यह मध्य प्रदेश का प्रथम गौ कहा जा सकता है।


दमोह संसदीय क्षेत्र में प्रमुख कार्य-दमोह संसदीय क्षेत्र में गत पांच बर्षो में सांसद प्रहलाद सिंह पटेल के द्वारा अनेक कार्य किये गये परन्तु हम कुछ प्रमुख कार्यो पर इस समय नजर डालेंगे। प्रायः सड़कों पर अधिकांश घटनाएं लावारिश मवेशियों के सामने आने से बचाने के प्रयास में वाहनो के अनियंत्रित होने से ही होती है। दूसरी ओर कृषि प्रधान क्षेत्र में लावारिश पशुओं के कारण भारी नुकशान होता है। कई बार तो लावारिश पशुओं के वजह से कृषकों के बीच आत्मघाती स्तर के विवाद भी होने लगते हैं। उन्होंने इस समस्या के निदान के लिए गौ-अभ्यारण्य स्थापित करने हेतु दमोह जिले के विकासखंड बटियागढ़ के अंतर्गत जरारू धाम, मगरोन के पास में बारहमासी जल स्त्रोत नाला से लगी हुई भूमि की माॅंग की, जिसके तहत 102 हेक्टेयर राजस्व भूमि उक्त गौ-अभ्यारण्य हेतु आवंटित की जा चुकी है। साथ ही इस स्थल तक 5 किलोमीटर की एप्रोच सड़क एवं उक्त आबंटित भूमि में तारबाड़ी का कार्य लगाने का कार्य सांसद निधि से स्वीकृत कर पूर्ण कराया जा चुका है। 

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्मदिवस दिनांक 17 सितम्बर, 2016 के सुअवसर पर उक्त जरारू धाम गौ-अभ्यारण्य का औपचारिक शुभारम्भ कर जनता को लोकार्पित भी किया जा चुका है। इस गौ-अभ्यारण्य में लावारिस, वृद्ध, बीमार, घायल आदि 10,000 से 15,000 तक गौवंश को रखने, उनको अत्याध्ुानिक यांत्रिक चारा, पानी, सफाई आदि की व्यवस्थाओं द्वारा गौवंश संरक्षण संवर्धन का कार्य प्रस्तावित है। इसमें अनुसंधान एवं लैब आदि के द्वारा गौवंश की उपयोगिता एवं उसके धन एवं पर्यावरण की समृद्धि में नियोजन को मूर्त रूप दिया जायेगा। बायो कीटनाशक खाद, औषधि, कूलेन्ट आदि रसायन के कामर्शियल उत्पादन द्वारा बाद में इस इकाई को स्वतः के संसाधानों से संचालित किया जाना भी प्रस्तावित है। सांसद श्री पटेल ने अपनी सांसद निधि से यह एम्बुलेंस स्वीकृत कर शासकीय पशु चिकित्सा विभाग को उपलब्ध कराई तो विभाग ने ड्राइवर और डीजल की व्यवस्था का रोना रोया। लिहाजा इस कार्य हेतु दो स्वयंसेवी संस्थाओं को राजी किया गया, जिनके द्वारा जून, 2016 से लगातार निःशुल्क सेवा प्रदान की जा रही है। उल्लेखनीय है कि 12 मई, 2017 तक कुल 72 जिनमें से घायल 48 को पशु चिकित्सालय में उपचार हेतु व शेष 24 मृत गौवंश पशु को समाधि हेतु पशु एम्बुलेंस का उपयोग हुआ है, जिसमें कुल 1700 कि.मी. का सफर तय हुआ है। जिस तरह मनुष्य के परिप्रेक्ष्य में ’मनुष्य की गरिमा’ का ध्यान रखा जाता है वैसे ही पशु की मृत्यु और मृत देह को भी सम्मान मिले, इसी बात को दृष्टिगत रखते हुए पशुशव के अंतिम संस्कार की व्यवस्था की गई है। इस संस्कार को ’समाधि’ नाम दिया है।यह वाहन असहाय, बिमार, मृत, घायल गौवंश के लिए बहुपयोगी सिद्ध हुई है, जिसकी सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है। वहीं 22 मई. 2018 को बुन्देलखंड क्षेत्र का पहला पासपोर्ट केंद्र दमोह में शुभारम्भ करवाया ।


देश का सबसे बड़ा फायरिंग रेंज एवं मल्टी वेपन स्कूलदमोह सांसद प्रहलाद सिंह पटेल द्वारा पत्र दिनांक 04 दिसम्बर, 2015 से मान. श्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री, भारत सरकार पत्र लिखकर व व्यक्तिगत सम्पर्क कर दमोह जिले में सपोर्ट वैन ट््रेनिंग स्कूल की स्थापना हेतु माॅंग की थी। परिणाम स्वरूप दमोह संसदीय क्षेत्रान्तर्गत अंतर्गत बटियागढ़ विकासखंड में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल सपोर्ट वैपन ट््रेनिंग स्कूल की स्थापना हेतु दिनांक 10 मार्च, 2016 को 654.38 हैक्टेयर (1616.97 एकड़) सरकारी भूमि के अधिग्रहण हेतु रूपए 16,55,34,750/- की स्वीकृति भारत सरकार द्वारा प्रदान की गई। जहां कार्य प्रगति पर है और इसके कारण क्षेत्र का नाम विश्व के मान चित्र पर अंकित हुआ और दमोह को एक अलग पहचान मिली। 

सांसद आदर्श ग्राम बांदकपुर, -सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गांव का चयन हेतु संपूर्ण संसदीय क्षेत्र के विकासखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों को आमंत्रित कर एक बैठक आयोजित की गई। चूंकि ग्राम बांदकपुर बुन्देलखण्ड व महाकौशल क्षेत्र में तीर्थ स्थल जागेश्वर धाम के नाम से प्रसिध्द है। जागेश्वर धाम के कारण ही सन् 1995 से पूर्व यहां के विकास एवं व्यवस्था हेतु ‘साड‘‘ गठित की गई थी। सन् 1995 में साडा समाप्त कर दी गई। जिसक कारण इस ऐतिहासिक स्थल की व्यवस्था एवं विकास कार्य बाधित हो गये । साडा समाप्ति के पश्चात् बांदकपर का ग्राम पंचायत का दर्जा दिया गया। ग्राम पंचायत के पास आय के पर्याप्त साधन न होने के कारण मूलभूत सुविधाए प्रभावित हुई। एक मात्र यही कारण था कि सम्पूर्ण संसदीय क्षेत्र के आठों विधानसभा क्षेत्र के दमोह, सागर व छतरपुर जिले के पदाधिकारियों ने सर्व सम्मति से ग्राम बांदकपुर का चयन सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत् किया । जनभावनाओं का सम्मान करते हुय सांसद प्रहलाद पटेल ने ग्राम बांदकपुर को सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत् गोद लेकर यहां के सर्वांगीण विकास का संकल्प लिया। संभवतः सम्पूर्ण देश में सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत् गांव का चयन करने हेतु लोकतांत्रिक प्रक्रिया एक मात्र दमोह संसदीय क्षेत्र में ही अपनाई गई। 


ग्राम बांदकपुर में मात्र सांसद निधि से लगभग पाॅच करोड़ रूपयें की लागत से भिन्न-भिन्न 29 निर्माण कार्य कराए गए। गांव में जल सप्लाई की पाइप लाइन बदलने, एक अतिरिक्त पानी की टंकी का निर्माण, नल जल योजना, वाटर ट््रीटमेंट प्लांट की स्थापना, मंदिर परिसर में फर्शी का काम, मंदिर परिसर से लेकर मेन रेाड़ तक हाई मास्क लाइट, ग्राम में सीसी रोड़ का निर्माण आदि कार्य कराए गए। 
दिव्यांगों को मोट्र्ेट ट्र्ाईसाईकिल वितरण:- 80 प्रतिशत से अधिक निःशक्तता दिव्यांगों को भारत सरकार की एडिप योजना अंतर्गत दमोह जिले में मोटराइज्ड ट्र्ाईसाईकिल वितरण हेतु सांसद निधि से रू. 10.00 लाख स्वीकृत व 150 हितग्राहियों को वितरित। बड़ामलहरा विधानसभा क्षेत्र के 170 दिव्यांगों को मोट्र्ेड ट्र्ाय-साईकिल वितरण हेतु सांसद निधि से रू. 10.20 लाख स्वीकृत व मोटराइज्ड ट्र्ाईसाईकिल उपलब्ध होने पर शीघ्र वितरण की जावेगी।


हवा की नमी से सूखते कंठ गीला करने लगायी मशीन-जिले के दूरस्थ आदिवासी बाहुल्य ग्राम हरदुआ मानगढ जहां आजादी के 70 बर्ष व्यतीत हो जाने के बाद भी पेयजल संकट से जुझते ग्राम को हवा से पानी बनाने वाली प्रदेश की प्रथम मशीन की स्थापना लोगों को दशकों की समस्या से मुक्ति मिली।


श्रमदान से जल संकट मुक्ति की राह पर सफलता-दमोह नगर के बेलाताल एवं ग्राम लुहारी के सरोवर को बिना शासकीय राशि का उपयोग किये जन सहयोग एवं श्रमदान से गहरीकरण एवं साफ सफाई का परिणाम आज जहां कुछ बर्ष पूर्व जनवरी माह में ही पानी कम होने के साथ मार्च तक सूख जाता था वहीं आज ग्रीष्म ऋतु में भी पानी की उपलब्धता के साथ समीप के जल स्त्रोतों में पानी के स्तर बढने से नागरिकों एवं पशुओं को संकट से मुक्ति मिल रही है।शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित सरस्वती शिशु मंदिरों के विकास  182.00 लाख रूपये का पूरे संसदीय क्षेत्र के सरस्वती शिशु मंदिरों में विकास एवं निर्माण कार्य कराये गये। क्षेत्र में विकास कार्यो एवं पेयजल,सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण में वन विभाग से  अनापत्ति प्रमाण पत्र प्रदान करवाने में महत्वपूर्ण कदम रहा तथा दमोह संसदीय क्षेत्र में दूर संचार निगम बीएसएनएल के बर्षाें से बंद एवं नवीन टावरों का शुभारंभ गांव गांव पहुंचा बीएसएनएल।

Post a Comment

0 Comments