Recents in Beach

header ads

कोसली तहसील में शपथ पत्र बनाने के काम में गोलमाल



तहसीलदार ने जांच के लिए एसडीएम को लिखा पत्र 
धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। कोसली तहसील कार्यालय में शपथ पत्रों के फोटो के नाम पर हजारों रूपए का गोलमाल करने का मामला प्रकाश में आया है।, जबकि तहसीलदार ने मामला उजागर होते ही अपने बचाव में एसडीएम कोसली को इस मामले में समुचित कार्यवाही करने के लिए पत्र लिख दिया है। इस संबंध में अमित कुमार, नरेंद्र और सुरेश कुमार ने बताया कि हाल में हरियाणा सरकार ने विभिन्न विभागों में रिक्तियां भरने के लिए आवेदन निकाले, जिसमें आवेदन के साथ शपथ पत्र की अनिवार्यता की गई थी। एक उम्मीदवार को चार पदों के लिए चार अलग-2 शपथ पत्र बनवाने के लिए नियमानुसार एक शपथ पत्र के निर्धारित 25 रूपए के हिसाब से एक सौ रूपए लिए जाने चाहिए थे और उसकी बाकायदा रसीद भी दी जानी चाहिए थी मगर तहसील कार्यालय में कम्प्यूटर आप्रेटर से मिलीभग करके चार शपथ पत्रों पर एक ही सीरियल नंबर दर्शाकर सरकारी खाते में मात्र 25 रूपए ही जमा कराए गए जबकि शपथकर्ता से इस काम की एवज में वसूले गए सौ रूपए में से 75 रूपए अपनी जेब में डाल लिए गए। 

नियमानुसार कोई भी व्यक्ति एक से अधिक भी शपथ पत्र एक साथ बनवाता है तो उससे पूरा शुल्क वसूल किया जाता है और जबकि सरकारी खजाने में एक शपथ पत्र का पैसा ही जमा होता है। ऐसा होने से सरकारी खजाने को आर्थिक चूना लगाने का काम किया गया। ऐसे शपथ पत्र बनवाने वाले युवाओं ने तहसीलदार कोसली से इस मामले की जांच कराने का आग्रह किया। इस पर तहसीलदार ने इस मामले में जांच के लिए एसडीएम कोसल को पत्र लिखकर जांच का आग्रह कर दिया है। अब देखना यह है कि इस मामले में संलिप्त पाए गए कर्मचारी के खिलाफ सरकार अथवा प्रशासन की ओर से क्या कार्यवाही की जाती है। 

Post a Comment

0 Comments