Recents in Beach

header ads

सड़क हादसे रोकने के लिए कार्य योजना बनाए अधिकारी: उपायुक्त


धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। मंगलवार को सचिवालय में सड़क सुरक्षा की समीक्षा बैठक में उपायुक्त यशेन्द्र ने कहा कि सड़क सुरक्षा से संबंधित सभी विभाग हादसे रोकने के लिए मिलकर काम करें और मानव जीवन बचाने के लिए एक कार्य योजना तैयार करें। 

उन्होंने कहा कि लोक निर्माण, एएनएचएआई, वन विभाग, जनस्वास्थ्य विभाग, जिन्हें सड़क में अपने विभाग से संबंधित कमी नजर आए, वे उसे जल्द पूरा करें। इस काम को पूरा करके पूरे जिले की रिपोर्ट छह माह के अंदर निर्धारित प्रोफार्मा पर दी जाए। उन्होंने कहा कि जीरो विजन का मतलब जीरो सडक हादसे से है। उन्होंने सभी एम्बुलेंस के उपकरण चालू हालत में होने तथा सूचना मिलने के बाद जल्द मौके पर पहुंचना सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने सड़कों पर उन काले यानी हादसे वाले बिन्दुओं, जहां हादसे अधिक होते हैं कि पहचान किए जाने तथा हादसों की रोकथाम के लिए जल्द कदम उठाने के आदेश दिए। बता दें कि प्रशासन ने जिले में हादसे वाले 12 काले बिन्दु, बनीपुर चैक, ओढी कट, जयसिंहपुर खेड़ा, संगवाडी, असाई ग्लास, हीरो कट, पाल्हावास, गुरावड़ा, भुडला, पाडला, साहबी पुल, साबन चैक हैं। बैठक में पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को जल्द नाईवाली चैक की सड़क को सुधारने के निर्देश मिले। 


उपायुक्त ने कहा कि सडक सुरक्षा के लिए आरटीए विभाग ने राजेश पायलेट चैक, रणवीर हुड्डड्ढा चैक, राजीव गांधी चैक, महाराणा प्रताप चैक, राव तुलाराम चैक, गौपालदेव चैक, अंबेडकर चैक से एनएच-48, एनएच 352 से गांव मसानी तक, गौपालदेव चैक से कनुका मौड तक, गौपालदेव चैक से खडगवास मोड तक आरटीए विभाग द्वारा सडक सुरक्षा के लिए सोलर कैट आई मीडियन मार्कर का अच्छा कार्य किया है। बैठक में यह जानकारी दी गई कि वर्ष 2016 में 281, वर्ष 2017 में 289, वर्ष 2018 में 292 तथा 2019 में अब तक मई माह तक 106 व्यक्ति सड़क हादसों में मारे गए हैं। अधिकांश हादसे शाम 6 से प्रातः 3 बजे के बीच में हुए। एसपी राहुल शर्मा ने बैठक में बताया कि नैशनल हाईवे नंबर 48 पर जयङ्क्षसहपुर खेड़ा से कापड़ीवास तक 6 पीसीआर रहती हैं तथा पैट्रोलिंग भी करती रहती है। उन्होंने सुझाव दिया कि सडक पर कोई गाडी खराब हो जाती है तो वहां पर बेरिकेटिंग करके उस पर रिफलैक्टर टेप लगाई जाए ताकि दूसरी गाड़ी के चालकों को दूर से ही वाहन नजर जाए। 

आरटीए सचिव एवं एडीसी प्रदीप दहिया ने बैठक में बताया कि सडक सुरक्षा की दृष्टि से शहर राष्ट्रीय राजमार्गो पर सोलर कैट आई, कैट आई मीडियन मार्कर का कार्य किया गया है। बैठक में पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा, सचिव आरटीए प्रदीप दहिया, सीएम डा. कृष्ण कुमार, डीएसपी जितेन्द्र, कार्यकारी अभियंता पीडब्ल्यूडी हेमन्त कुमार, आरएसए मोहित यादव, हरियाणा विजन जीरो के प्रसाद शेखर, एसके सिंह, योगेश पाठक, आरएसओ रमेश शर्मा एनएचएआई के इंजीनियर उमेश आदि मौजूद रहे। 


Post a Comment

0 Comments