Recents in Beach

header ads

जन सेवा स्कूल भिवानी की दादागिरी का आलम,4 साल के मासूम बच्चे को कर रहे प्रताड़ित

अजेयभारत टीम : भिवानी:

स्थानीय नई अनाज मण्डी स्थित जन सेवा स्कूल का वाइस प्रिंसिपल अमित नारू षड्यंत्रकारी व भ्रष्टाचारी है। स्कूल वाइस प्रिंसिपल की गुंडागर्दी इस कदर बढ़ गई है कि वो जब चाहे अपनी मर्जी से स्कूल के किसी भी विद्यार्थी की क्लास बदल देता है।

राज्य सरकार, शिक्षा विभाग, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, जिला प्रशासन को शिकायत भेजकर स्कूल वाइस प्रिंसिपल के गैर कानूनी काले कारनामों की जांच कर सख्त कानूनी कार्रवाई करने की मांग की गई है।

ये आरोप लगाते हुए भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) से मान्यता प्राप्त एवं वित्त मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एकमात्र आयकर छूट प्राप्त हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) एवं भारतीय शतरंज संघ (एआईसीएफ) के नेशनल महासचिव कुलदीप ने बताया कि उसका 3 साल का भतीजा हर्षदीप जोकि स्कूल रिकॉर्ड में क्लास पहली सेक्शन ए में है। स्कूल वाइस प्रिंसिपल कानून का उल्लंघन कर अपनी मनमानी व गुंडागर्दी कर कई बार जब चाहे उसकी क्लास बदलता रहता है यानी उसे कभी यूकेजी तो कभी एलकेजी तो कभी पहली क्लास में जबरदस्ती बैठा देता है। इससे बच्चे को मानसिक परेशानियां व क्षति पहुंचती है। अन्य मासूम विद्यार्थियों के साथ भी यही गलत खेल खेलता रहता है।

स्कूल वाइस प्रिंसिपल ने अपना हिस्सा  कमीशन खाने के लिए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के नियमो का उल्लंघन करते हुए स्कूल में अवैध बिल्डिंग निर्माण करवा दिया है।

स्कूल वाइस प्रिंसिपल सरकार के नियमो का उल्लंघन करते हुए किताबो व अन्य सब चीजों में कमीशन लेता है।

उन्होंने बताया कि स्कूल वाइस प्रिंसिपल ने अपने घपलों पर पर्दा डालने व काले कारनामों को छुपाने के लिए स्कूल के भीतर गुंडे पाल रखे है जो गुंडागर्दी करते है, अभिभावकों व विद्यार्थियों को डराते धमकाते है। गाली गलौज कर धमकी देते है।

स्कूल वाइस प्रिंसिपल किताबों, ड्रेस, बेल्ट आदि के गलत फर्जी बिल बनाकर मासूम विद्यार्थियों से डबल दाम वसूलता है। वो कमीशन किसकी जेबो में भेजता है, शिकायत कर इसकी जांच की मांग की गई है।

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने इस स्कूल को ये जमीन नो प्रॉफिट नो लोस की शर्त पर गरीब व जरूरतमंद बच्चो को सस्ती शिक्षा के लिए दी हुई है तथा प्राइमरी स्कूल तक की ही स्वीकृति दी हुई है। लेकिन स्कूल में गैर कानूनी तरीके से दसवीं क्लास तक के विद्यार्थी है। ये स्कूल रिहायशी कॉलोनी में है हुडडा विभाग की। इससे कॉलोनी वासियों को कई तरह की परेशानियां होती है। गुंडागर्दी का माहौल बनता जा रहा है। नियमो का उल्लंघन कर स्कूल वाइस प्रिंसिपल ने अपने निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए इसे निजी व्यापार बनाकर रख दिया है।

Post a Comment

0 Comments