Recents in Beach

header ads

अश्लील मैसेज भेजने वाले पूर्व BEO ने विभाग को गलत जानकारी देकर पदोन्नति हासिल की

अजेयभारत टीम:नूंह। बाईट नगीना के प्राचार्य अनूप सिंह जाखड़ ने शिक्षा विभाग को गलत जानकारी देकर पदोन्नति हासिल की है।

आरटीआई के माध्यम से जानकारी प्राप्त करके आरोही मॉडल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, रेवासन में कार्यरत अंग्रेजी प्राध्यापिका डॉ सुलक्षणा अहलावत ने मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री को शिकायत पत्र लिखकर अनूप सिंह जाखड़ के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने की मांग की है।

डॉ सुलक्षणा ने बताया कि विभागीय नियमानुसार यदि किसी कर्मचारी के विरुद्ध कोई कोर्ट केस विचाराधीन हो तो उसे पदोन्नति नहीं दी जा सकती। उन्होंने बताया विभाग द्वारा पदोन्नति के समय इस आशय में जानकारी माँगी जाती है और आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार अनूप सिंह जाखड़ ने विभाग को यह जानकारी गलत प्रदान की।

डॉ सुलक्षणा ने बताया कि अनूप सिंह जाखड़ के विरुद्ध माननीय पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय, चंडीगढ़ में वर्ष 2015 से एक याचिका cwp 26097/2015 दायर है और जिसकी आगामी सुनवाई 4 सितंबर 2019 को होनी है। वहीं एसपी मेवात कार्यालय में भी अनूप सिंह जाखड़ के विरुद्ध प्राध्यापिका को अश्लील मैसेज भेजने की शिकायत लंबित है। इन दोनों बातों को छिपाकर उन्होंने विभाग को गुमराह किया है जो कानून व विभाग की नजर में अपराध है।

इन्हीं तथ्यों के आधार पर डॉ सुलक्षणा ने मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री को शिकायत भेजकर अनूप सिंह जाखड़ की पदोन्नति वापिस लेने की और उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने की मांग की है। उन्होंने बताया यदि विभाग अनूप सिंह जाखड़ के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं करेगा तो वो इस मामले को माननीय पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय, चंडीगढ़ के संज्ञान में लेकर आएंगी।

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका में उनकी गहरी आस्था है इसीलिए वो न्यायालय में पहले से दायर याचिका cwp 26097/2015 के माध्यम से ही इस मामले को रखेंगी और मांग करेगी कि अनूप सिंह जाखड़ को पदावनत किया जाए ताकि समाज में एक अच्छा संदेश जाए कि गलत करने वाला कोई भी हो लेकिन कानून व नियम सभी के लिए बराबर हैं।








Post a Comment

0 Comments