Recents in Beach

header ads

रेवाड़ी विस सीट के लिए भाजपा में एडवोकेट रविन्द्र यादव भी दावेदार


जल शोधक संयंत्र लगाना पहली प्राथमिकता
पूर्ववर्ती विधायकों ने नहीं निभाए जनता से किए सभी वायदे

धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 
जिला बार एसोसिएशन के दो बार पूर्व उप प्रधान रहे एडवोकेट रविन्द्र यादव एवं भाजपा के जिला महामंत्री ने रेवाड़ी विधानसभा सीट के लिए भाजपा टिकट पर अपनी दावेदारी ठोक दी है। उनका कहना है कि राजनीति में आना उनका शौक नहीं, बल्कि मजबूरी है क्योंकि आजकल राजनीति में युवा चेहरे को पीछे धकेलने का काम किया जाता है। उन्होंने कहा कि वे 3 अगस्त के बाद किसी भी दिन भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र पालीवाल से अपने साथियों के साथ मुलाकात करके उनके सामने रेवाड़ी विधानसभा चुनाव को भाजपा टिकट पर लड़ने के लिए अपना प्रतिवेदन जमा कराएंगे। उन्होंने यहां एक विशेष बातचीत में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर विभिन्न पहलूओं पर खुलकर अपनी बात रखी।

भाजपा में रेवाड़ी सीट के लिए विस चुनाव की टिकट के लिए एक से अधिक दावेदार होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि भाजपा के संगठन में एक साधारण कार्यकर्ता को भी बराबर मान-सम्मान दिया जाता है और मुझे भरोसा है कि इस बार पार्टी उन्हें यह मौका जरूर देगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की कार्यशैली ने युवाओं में नए उत्साह का संचार किया है और हरियाणा विधानसभा के आगामी आम चुनाव में भाजपा आमजन के भरोसे पर अपने निर्धारित 75 पार के लक्ष्य को बेधने में सफल हो जाएगी। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी विधानसभा सीट पर इस वक्त सबकी निगाहें लगी हुई हैं। हर नेता अपनी ओर से पार्टी संगठन के लिए काम करना चाहता है। हर दावेदार की यह इच्छा है कि भाजपा उसे विधानसभा चुनाव का टिकट दे और वह जनता के लिए कुछ कर सके।

एडवोकेट रविन्द्र ने कहा कि उनका राजनीति में आने का फैसला शौकिया नहीं, बल्कि मजबूरी है। उनके शब्दों अनुसार आज युवा राजनीति की दशा और दिशा को देखकर पीछे हटने लगा है और उसे पीछे धकेला जा रहा है, यह कहना गलत नहीं होगा। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी से जूझता युवा किसी गलत राह पर ना जाए, इसलिए उसमें आत्मविश्वास पैदा करने की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि भाजपा हाईकमान ने अगर उन्हें मौका दिया तो वे युवा शक्ति को रचनात्मक दिशा में ले जाने का काम करेंगे। बेरोजगारी दूर करने के लिए स्थानीय औद्योगिक कंपनियों में रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार के माध्यम से स्थानीय युवाओं को रोजगार दिए जाने का प्रावधान कराएंगे। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों और नेताओं ने रेवाड़ी शहर के विकास पर ध्यान तो दिया मगर विकास के साथ अनेक समस्याएं खड़ी हो गई। शहर जलभराव की समस्या से जूझ रहा है। पेयजल की समस्या को दूर करने के लिए मनोहर लाल सरकार ने समुचित कदम उठाए हैं मगर उसके बावजूद अभी काम करने की जरूरत है। शहर का सीवरेज सिस्टम कम आबादी के लिए बना, जिसकी वजह से अब लोगों को परेशानी हो रही है। बरसाती जल की निकासी और उसके संग्रहण की समुचित व्यवस्था नहीं हो पाने की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है।

उनहोंने कहा कि सरकार में विधायक की जिम्मेदारी अहम होती है। उसका जनता के बीच अधिक समय तक उपलब्ध होना, लोगों की समस्याओं को सुनकर उनका सरकार के माध्यम से समुचित हल निकलवाना उसकी जिम्मेदारी होती है। उन्होंने दावा किया कि वे दक्षिण हरियाणा में चल रही हाउस की राजनीति से दूर रहकर जनता के प्रतिनिधि के तौर पर पीएम नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करने के लिए कम लागत में अधिक लोगों के लाभ के लिए कुछ खास करने की कोशिश करेंगे। एडवोकेट रविंद्र यादव ने साफ कहा कि अगर भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया, तब वे पार्टी की टिकट लाने वाले प्रत्याशी की जी-जान से मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा की मनोहर लाल सरकार ने पौने पांच साल में आमजन की भलाई के लिए जितने भी निर्णय लिए उनसे पंक्ति के आखिर में खड़े व्यक्ति को लाभ हुआ है। 
पारिवारिक पृष्ठभूमि 
एडवोकेट रविंद्र यादव का परिवार मूल रूप से अटेली विधानसभा क्षेत्र के गांव नाबदी से जुड़ाव रखता है। वहां उनके दादा स्व. जयनारायण यादव और दादी चम्पा देवी दोनों अलग-2 पंचवर्षीय योजनाओं में पंच रहे। मौजूदा वक्त बिजली निगम से रिटायर ताउ जसवंत पंच हैं। इनके पिता सुमेर सिंह यादव भी बिजली निगम में सीए के पद पर अपनी सेवाएं देने के बाद अब सामाजिक कार्याें में रूचि दिखाते हुए समाज सेवा कर रहे हैं। एडवोकैट रविन्द्र यादव के जन्म से पहले ही इनका परिवार रेवाड़ी में आकर बस गया और 2008 से वे रेवाड़ी में एक अधिवक्ता के तौर पर गरीब लोगों को इंसाफ दिलाने की मुहिम में जुटे हैं। उनका कहना है कि जब तक जनता अपने अधिकारों के लिए आवाज नहीं उठाएगी, तब तक देश में बदलाव नहीं आएगा। 


Post a Comment

0 Comments