Recents in Beach

header ads

किसान आधुनिक तरीके से करें खेती

धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 

बुधवार को उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने सचिवालय सभागार में कृषि प्रोद्योगिकी प्रबंधन परियोजना एवं इटली कृषि विकास परियोजना की वर्ष 2019-20 के लिए वार्षिक गर्वनिंग बोर्ड की बैठक में कहा कि संबंधित कर्मचारियों तक किसी बैठक के आयोजन से कम से कम 10 दिन पहले संबंधित कार्य मसौदा भेजा जाए ताकि वे पूरी तैयारी के साथ बैठक में सकें। ग्राम स्तर पर किसान प्रशिक्षण कैंप लगाए जाए तथा आधुनिक तकनीक जैसे अजोला घास एवं साईलेज उत्पादन के लिए किसानों को प्रोत्साहित करें ताकि पशुओं को भी पर्याप्त मात्रा में हरा चारा उपलब्ध हो सके।


उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार किसानों को खाद, बीज, दवाई तथा कृषि उपकरण सब्सिडी पर दिये जा रहे हैं। किसानों को चाहिए कि वे इसका अधिक से अधिक फायदा उठाएं। इससे प्रधानमंत्री का किसानों की आय दोगुनी करने का संकल्प भी पूरा होगा। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे जैविक खेती को बढ़ावा दें, क्योंकि इससे किसान कम लागत में अधिक मुनाफा अर्जित कर सकते हैं। उपायुक्त ने कहा कि किसानों को जागरूक करने के लिए प्रचार प्रसार का कार्य किया जाए तथा इसके लिए जब भी जागरूकता का कैम्प लगाये तो उसमें अधिक से अधिक किसान भाग ले यह सुनिश्चित किया जाए ताकि किसानों को ज्यादा से ज्यादा अवसर मिल सकें।


इण्डो इटालियन कृषि विकास प्रोजैक्ट जो कि रेवाडी जिला के पांच ब्लाक में चलाया जा रहा है, जिसके तहत बाजरा, फल सब्जियां आदि की गुणवक्ता पौष्टिकता के लिए कार्य किया जाता है इसके लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाता है जिसकी भी उपायुक्त ने समीक्षा की। इस मौके पर उप निदेशक कृषि जसविंदर सिंह, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग डॉ कपूर, डॉ नरेन्द्र सिंह, राकेश सैनी, जिला विकास अधिकारी नाबार्ड जगदीश परिहार, उपमण्डल अधिकारी कृषि दीपक कुमार, अधीक्षक अभियंता प्रवीन दहिया, दिनेश शर्मा, उप-निदेशक पशुपालन विभाग डॉ नसीब सिंह, डॉ नरेश, डॉ उतरा यादव, सचिव मार्किट कमेटी नरेन्द्र यादव, प्रगतिशील किसान भूपेन्द्र सिंह धनीराम भी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments