जल संरक्षण की विभिन्न पद्धतियों को समझ रहे जल मित्र

वाल्मी में चयनित प्रतिभागियों को दिया जा रहा प्रशिक्षण

शुभम चौहान :भोपाल :मप्र जल एवं भूमि प्रबंध संस्थान (वाल्मी) द्वारा प्रदेश के युवाओं को जल मित्र के रूप में चयनित कर जल आपूर्ति के प्रति आत्मनिर्भरता बढ़ाने एवं वर्षा जल संग्रह को अधिक से अधिक संग्रहित करने,भविष्य में जल की प्रर्याप्त उपलब्धता बनाएं रखने  तथा वर्षा जल संग्रहण की विभिन्न पद्धतियों को समझने के लिए दिनांक 22 से 26 जुलाई तक पांच दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है जिसमें प्रतिभागियों को रेन वाटर हार्वेस्टिंग, रुफ वाटर हार्वेस्टिंग, सोख्ता गड्ढा सहित प्राचीन जल स्त्रोतों के संरक्षण के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी एवं चिन्हित क्षेत्रो का भ्रमण कराया जाएगा।प्रशिक्षण उपरांत जल मित्रों को आवश्यकतानुसार विभिन्न हितग्राहियों को जल संरक्षण कार्यों के नियोजन एवं क्रियान्वयन संबंधी मार्गदर्शन हेतु भेजा जावेगा।

साक्षात्कार उपरांत हुआ चयन- जल मित्र के लिए विभिन्न इच्छुक प्रतिभागियों ने आवेदन के माध्यम से जल मित्र के रूप में कार्य करने की इच्छा जाहिर की इसके उपरांत साक्षात्कार के आधार पर प्रतिभागियों का चयन किया गया।

प्रशिक्षण में शामिल चयनित प्रतिभागी- श्री राहुल सिंह परिहार, राहुल तिवारी,श्रीराम पांडेय,मनीष सोनकर,अभिषेक मिश्र,शिवम् मिश्रा,अम्बरीष शर्मा,रजत शर्मा,शिवपाल चौरे, रामेश्वर मेवाड़ा,विजय प्रकाश,कृष्णकांत,नवेंदु चंदेल,रजनी अय्यर,दानिश खान,जया चतुर्वेदी,रंजीता शर्मा, संजय,अमृता त्रिपाठी,दुर्गेश सोनी,पूजा रायकवार,राहुल सोलंकी,टीकाराम लोधी,गजेन्द्र मेवाड़ा।


Post a Comment

0 Comments