Recents in Beach

header ads

खंड स्तर पर अंत्योदय सरल केंद्र की योजनाओं के लिए जागरूकता कैंप: एसडीएम रविंद्र


धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 

एसडीएम रेवाडी रविन्द्र यादव ने कहा है कि अंत्योदय सरल केन्द्र में 485 सेवाएं एवं योजनाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराई जा रही है। 

एसडीएम रविन्द्र यादव आज रेवाडी खण्ड के पंच, सरपंचो को जिला सचिवालय सभागार में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने पंच सरपंचो का आह्वान किया कि गांवों में ज्यादा से ज्यादा लोगो को अंत्योदय सरल केन्द्र के बारे में जागरूक करें। उन्होंने कहा कि रेवाडी खण्ड के बाद अन्य खण्ड में भी जागरूकता के लिए कार्य किया जाएगा। श्री यादव ने कहा कि अंत्योदय सरल योजना का मुख्य उद्देश्य सभी योजनाओं और सेवाओ को एक ही ऑनलाईन प्लेटफार्म पर उपलब्ध करवाना, आवेदन प्रक्रिया ऑनलाईन पेपरलैस तरीके से सुनिश्चित करना, जिला, उपमण्डल तहसील स्तर पर अत्याधुनिक प्रणाली से सेवाओं योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए केन्द्र स्थापित करना, ग्रामीण स्तर पर अटल सेवा केन्द्रों पर सभी योजनाएं सेवा उपलब्ध कराना है। 
उन्होंने कहा कि सेवा का अधिकार अधिनियम 2014 के अंतर्गत सभी योजनाओ तथा सेवाओ का लाभ देना एक निर्धारित समय सीमा में सुनिश्चित करना है। 

एसडीएम ने बताया कि अंत्योदय केन्द्रो और अंत्योदय सरल केन्द्रो में सभी योजनाओ का लाभ उठाने के लिए नागरिको को सेवा शुल्क के रूप में केवल 10 रूपये का भुगतान करना होता है। उन्होंने कहा कि नागरिको के प्रति जवाबदेही सुनिश्चित करने तथा सुशासन को मजबूत करने के लिए सार्वजनिक डैशबोर्ड स्थापित किया गया है। यह सेवा अधिकार अधिनियम के तहत आने वाली सेवाओ योजनाओ के लिए निर्धारित समय सीमा के अनुपालन को दर्शाता है कि विभाग कैसा कार्य कर रहा है। रविन्द्र यादव ने बताया कि रेवाडी जिला में 6 लाख 48 हजार 778 आवदेन प्राप्त हुए जिनमें 6 लाख 32 हजार का कार्य समय सीमा के अंदर कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अंत्योदय सरल की सेवाएं देने में जिला रेवाडी प्रदेश भर में तीसरे स्थान पर है, पहले नंबर पर जींद तथा दूसरे नंबर पर कुरूक्षेत्र है। उन्होंने बताया कि रेवाडी जिला का स्कोर 9.1 है। इस अवसर पंचायत के प्रतिनिधियों को प्रोजैक्ट के माध्यम से एक डेमो भी दिखाया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी सुमित चैधरी, बीडीपीओ रेवाडी दीपक यादव सहित रेवाडी खंड के सभी पंच सरपंच मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments