हरियाणवी काव्य संग्रह "मन का के ठिकाणा" का हुआ लोकार्पण

रोहतक । गाँव अजायब निवासी नरेंद्र मोदी विचार मंच की महिला प्रदेश अध्यक्ष जानी मानी शिक्षाविद, समाज सेविका एवं कवयित्री डॉ सुलक्षणा अहलावत के पहले हरियाणवी काव्य संग्रह " मन का के ठिकाणा" का लोकार्पण हुआ। रोहतक में आयोजित कार्यक्रम में परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार, रोहतक के सांसद डॉ अरविंद शर्मा, उनकी धर्मपत्नी डॉ रीटा शर्मा, नरेंद्र मोदी विचार मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि चाणक्य, हरियाणवी लोक गायक एवं डॉ सुलक्षणा के गुरु रणबीर सिंह बड़वासनी, बॉलीवुड अभिनेता यशपाल शर्मा की धर्मपत्नी श्रीमती प्रतिभा सुमन, अंतरराष्ट्रीय हास्य कलाकार महाबीर गुड्डू,  हरियाणा संस्कृत अकादमी के निदेशक डॉ सोमेश्वर दत्त शर्मा, हरियाणवी अभिनेता राघवेंद्र मलिक, सूर्यकवि लखमीचन्द के पौत्र विष्णु दत्त शर्मा ने "मन का के ठिकाणा" का लोकार्पण किया।


परिवहन मंत्री ने कहा कि डॉ सुलक्षणा का हरियाणवी बोली और हरियाणवी काव्य को जन जन तक पहुंचाने का प्रयास सराहनीय है। इस अवसर पर डॉ अरविंद शर्मा ने कहा कि हरियाणवी बोली की मिठास आज सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। हरियाणा संस्कृत अकादमी के निदेशक डॉ सोमेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि यह अपने आप में गर्व की बात है कि डॉ सुलक्षणा अंग्रेजी से पीएचडी करने के बावजूद हरियाणवी में लिखती हैं।

बॉलीवुड अभिनेता यशपाल शर्मा की धर्मपत्नी ने कहा कि आज हरियाणवी बोली बॉलीवुड की शान बनती जा रही है। हरियाणवी लोक गायक रणबीर सिंह बड़वासनियाँ ने कहा कि उन्हें गर्व है कि डॉ सुलक्षणा उनकी शिष्या है। अंतरराष्ट्रीय हास्य एवं सांस्कृतिक कलाकार महाबीर गुड्डू ने कहा कि डॉ सुलक्षणा आज के समय में महिलाओं के लिए रोल मॉडल बन गयी हैं। इस अवसर पर सूर्यकवि लखमीचन्द के पौत्र विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि आज हरियाणा को डॉ सुलक्षणा जैसे साहित्यकारों की आवश्यकता हैं जो हरियाणवी को और ऊंचाइयों पर लेकर जाएं।

Post a Comment

0 Comments