Recents in Beach

header ads

शिक्षा नगरी पिलानी में भी बेटियां नहीं है सुरक्षित!

रमेश रामावत, चिड़ावा (झुंझुंनू)
31 अगस्त को हुआ मामला दर्ज और 26 सितंबर को हुआ पीड़िता का मेडिकल l

झुंझुनू में नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म मामले में पीड़ित पिता ने नेशनल एंटी क्राइम एंड ह्यूमन राइट्स काउंसिल ऑफ इंडिया की टीम को मामले की जानकारी दी. उच्चधिकारियों के दखल बाद चिड़ावा वृताधिकारी रघुवीर प्रसाद ने मामले पर संज्ञान लिया है l
पिलानी/झुंझुनू. मामले को लेकर 31 अगस्त 2019 को नाबालिग लड़की के पिता ने पिलानी थाने में रिपोर्ट दी है. रिपोर्ट में बताया था कि उसकी नाबालिग लड़की पिलानी में एक निजी महाविद्यालय में पढ़ने के लिए घर से निकली थी. जहां से अशोक कुमार नाम के शक्स ने अपहरण कर लिया, उसे नशीला पदार्थ पिलाकर पुलिस थाने के पीछे अपने रिश्तेदार के यहां एक कमरे में बंद कर दिया. इसके बाद अशोक कुमार और चार लड़कों ने मिलकर नाबालिग के साथ कई दिनों तक दुष्कर्म किया. पुलिस ने पीड़िता के पिता की रिपोर्ट पर धारा 365 में मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी.दुष्कर्म के आरोपी अभी भी फरार.बता दें कि 31 अगस्त को मामला दर्ज होने के बावजूद भी पीड़िता का मेडिकल नहीं हुआ. अब 26 सितंबर को पिलानी में मेडिकल बोर्ड के द्वारा मेडिकल हुआ है. इस दौरान बताया जा रहा है कि नशे के दौरान नाबालिग से कुछ कागजातों पर आरोपी ने साइन भी करवाए हैं ये कागजात शादी के बताए जा रहे हैं l
मामले में काईवाई नहीं होने पर पीड़िता के पिता ने नेशनल एंटी क्राइम एंड ह्यूमन राइट्स काउंसिल ऑफ इंडिया की टीम राजस्थान से संपर्क किया और मामले की जानकारी दी. राजस्थान की टीम ने उच्चधिकारियों से इस मामले में अवगत करवाया तथा उच्चधिकारियों की दखल से चिड़ावा वृताधिकारी रघुवीर प्रसाद ने मामले का संज्ञान लिया. चिड़ावा वृताधिकारी के आदेश पर ही पुलिस हरकत में आई और मेडिकल बोर्ड के द्वारा अब मेडिकल हुआ है. वहीं मामले में पीड़िता के 164 के बयान पंजीवत किये गए ।

Post a Comment

0 Comments