Recents in Beach

header ads

एकल इस्तेमाल प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद हो: उपायुक्त

        धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी।
सोमवार को सचिवालय सभागार में उपायुक्त यशेंद्र ने जिले के समारोह स्थल संचालकों, मंदिर, मस्जिद और गुरूद्वारों के धर्म गुरूओं व संतों के साथ ही पोलीथिन के थोक विक्रेताओं के संग एक बैठक करके एकल इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक को बंद करने की अपील की।
उन्होंने प्रशासन को इस काम में आम आदमी से सहयोग करने की अपील की। उन्होंने ऐसा होने से एक दिन रेवाड़ी प्लास्टिक मुक्त शहर बन जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि स्वच्छता हम सबके लिए जरूरी है, इसलिए आम आदमी दृढ संकल्प लेकर प्रशासन को यह सपना साकार करने में सहयोग दे। अगर ऐसा हो पाया तो हम सबमिलकर कुछ समय में ही शहर के बाजार, सड़क और गंदगी के ढेर से प्लास्टिक और पालीथिन को गायब कर देंगे। उन्होंने कहा कि पोलिथिन बैन है, यह पर्यावरण के लिए घातक है। पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम- 1986 की धारा 15 के तहत, जो कोई भी इन आदेशों का पालन करने में विफल रहता है, उसे अधिकतम पांच साल की सजा या 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।
उन्होंने नगरपरिषद के कार्यकारी अधिकारी, नगरपालिकाओं के सचिवों को निर्देश दिये कि पोलिथिन बेचने वालो पर सख्त कार्यवाही की जाए। उन्होंने समारोह स्थल के संचालको को कहा कि वे कम्पोस्ट बनाने का कार्य भी करें। उन्होंने बताया कि प्लास्टिक की बनी ऐसी चीजें, जिनका हम सिर्फ एक ही बार इस्तेमाल कर सकते हैं या इस्तेमाल कर फेंक देते हैं और जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है, वह सिंगल यूज प्लास्टिक कहलाता है। उन्होंने बताया कि इसकी वजह से ही पर्यावरण को नुकसान है। ज्यादातर लोग बचा हुआ खाना प्लास्टिक की थैलियों में भरकर फेंक देते हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने रैडक्रास भवन में बर्तन बैंक बनाया हुआ है, जिसके माध्यम से किसी बड़े आयोजन के लिए बर्तन निःशुल्क उपलब्ध कराए जाते हैं।

रेवाड़ी फोटो : समारोह स्थल संचालकों एवं अन्य धर्मगुरूओं की बैठक लेते उपायुक्त। 

Post a Comment

0 Comments