भाजपा उम्मीदवार डा. बनवारी के विरोध में बावल में होगी महापंचायत 7 को


               धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली सरकार में जनस्वास्थ्य राज्य मंत्री एवं बावल के पूर्व विधायक डा. बनवारी लाल की ओर से भाजपा और आरएसएस वर्करों की अनदेखी से पनपे विरोध के बीच बावल क्षेत्र के गांव मोहनपुर की दलित परिवार की एक बेटी की करीब डेढ साल गुमशुदगी के मामले और डा. बनवारी के निवास के पास बावल-84 के पंचायत प्रतिनिधियों के अनिश्चित कालीन धरने के बाद अब भाजपा उम्मीदवार के विरोध में बावल में 7 अक्तूबर को महापंचायत बुलाई जा रही है।
इसमें भाजपा से नाराज और भाजपा उम्मीदवार से नाराज लोग शामिल होंगे। अहम बात यह है कि ऐसे लोगों ने करीब एक सप्ताह भर पहले बावल शहर में डा. बनवारी के खिलाफ विरोध जुलूस निकाला गया। उसके बाद भाजपा हाईकमान की ओर से जनता और भाजपा वर्करों की अनदेखी के माहौल में आज खेडा मुरार रोड स्थित पंचमुखी शिव मंदिर के पास बावल नगर पालिका के मौजूदा आठ पार्षदों, 15 पूर्व पार्षदों, 35 पूर्व व वर्तमान सरपंचों समेत अनेक पंचायत प्रतिनिधियों ने भाजपा उम्मीदवार डा. बनवारी के पिछले पांच साल के विधायक काल की समीक्षा करने के साथ ही उनके साथ हुए दुव्र्यवहार को देखते हुए यह सामुहिक निर्णय लिया कि आगामी 7 अक्तूबर को कस्बा बावल में महापंचायत बुलाई जाए, जिसमें पूरी बावल चैरासी के गणमान्य लोगों के समक्ष अपनी बात रखी जाए।
इससे पहले सभी दल अपने उम्मीदवारों का चयन करके मैदान में उतार देंगे और महापंचायत में यह निर्णय भी सर्व सहमति से ले लिया जाए कि जो भी प्रतिनिधि किसी दल से डा. बनवारी को बाहर का रास्ता दिखाने का काम करेगा, उसे एकमत होकर भाजपा हाईकमान और डा. बनवारी के विरूद्ध चुनाव में सहयोग दिया जाए। इस मौके पर बावल नगर के पूर्व पार्षद एवं ऐडवोकेट विरेंद्र महलावत, ऐडवोकेट एवं पूर्व पार्षद राजेंद्र महलावत, सर्व समाज के प्रधान ओम प्रकाश आडती, पार्षद एवं ऐडवोकेट अर्जुन चैकन, पार्षद  बाबू गुल्ला राम, संजय  सैनी, हीरा सिंह चैहान, पालिका उपप्रधान चेतराम रेवाडिया, दिनेश छिनवाल, पूर्व सरपंच रत्न लाल झाबुआ, सरपंच बिल्लुराम सुठानी, सरपंच सरजीत सिंह दुल्हेडा, कर्मबीर ऐडवोकेट खरसानकी, विक्रम सिंह ब्लॉक समिति सदस्य, अमर सिंह, सोमबीर खुर्मपुर, छत्तरपाल तिहाडा, महाबीर चैपडा, सत्यपाल, संदीप चोटी धरचाना, अजय सिंह सैन, राज टीकला आदि अनेंको गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे । इस अवसर पर निर्णय लिया गया कि आगामी 7 अक्टूबर को  महापंचायत का आयोजन किया जाए ।
फोटो: बावल में पंचमुखी शिवमंदिर के निकट बनवारीलाल के विरोध में उपस्थित पंचायत प्रतिनिधि।

Post a Comment

0 Comments