Recents in Beach

header ads

झुंझुनूं फायरिंग का मास्टरमाइंड व एक सहयोगी को किया गिरफ्तार ।

पुलिस को चकमा देने की कोशिश में बदलते रहे गाड़िया ! झुंझुंनू सीओ सिटी लोकेन्द्र दादरवाल ने सुलझाई गुत्थी !
झुंझुनू रीको क्षेत्र झुंझुनूं में एक माह पूर्व विकास सीगड़ पर की गई थी । फायरिंग करने एवं उसके साथी संदीप बलौदा से 50 लाख रूपये की फिरौती मांगने की घटना झुंझुनू पुलिस के काफी गंभीर बनी हुई थी।
जिला पुलिस अधीक्षक गौरव यादव द्वारा फायरिंग की घटना में लिप्त अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए झुंझुनू सीओ सिटी लोकेन्द्र दादरवाल के नेतृत्व मे थाना कोतवाली झुंझुनू,थाना मलसीसर एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय की साईबर सेल के पुलिस कर्मियों की टीम गठित की गई। उक्त टीम द्वारा तकनीकी साधनों एवं अन्य तरिकों से सूचना संकलित कर घटना में लिप्त अपराधियों को चिन्हित कर घटना में लिप्त रहे दो अपराधियों की गिरफतारी करने में सफलता प्राप्त की है।टीम द्वारा संकलित सूचना के अनुसार इस घटना का मास्टरमाईंड संजय खीचड़ सैनिक नगर झुंझुनू जो पहले संदीप बलौदा के साथ क्रिकेट सट्टे का लेनदेन करता था।उसको इस बात की जानकारी थी कि संदीप बलौदा काफी पैसे वाला है। संदीप बलौदा से पैसा ऐंठने की योजना संजय द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर तैयार की।
वहीं 23 मई को संजय के भाई रविन्द्र के गुढ़ा स्थित कैफे पर की गई फायरिंग का बदला भी संजय लेना चाहता था।योजना के अनुसार संजय खीचड़ ने अपने पंजाब के दोस्त चिमा को फायरिंग करने के लिए अलसीसर बुलाया तथा यहां पर अपने कैफे पर काम करने वाले रोहित को स्विफ्ट गाड़ी देकर अलसीसर भेजा जहां पर रोहित ने स्विफ्ट गाडी की फर्जी नम्बर प्लेट तैयार कर लगाई एवं गाड़ी के शीशों पर काली फिलम लगाकर चिमा को लेकर झुंझुनू आया,जहां पर एक अन्य गाड़ी में संजय,हमीर खां का बास के अमरजीत व तारिफ मलसीसर मिले।सभी दो गाड़िया लेकर किसान कॉलोनी पहुंचेकर,वहां से एक वेरना गाड़ी से अमरजीत व संजय ने घटना स्थल की रैकी कर स्विफ्ट गाड़ी में संजय,अमरजीत
एव चिमा तीनों रीको में जाकर व्यवसाई विकास सीगड़ के ऊपर फायर किया तथा वेरना गाड़ी जिसमे तारिफ व रोहित बैकअप के रूप में उक्त गाडी को रखा। फायरिंग करने के पश्चात सभी नवलगढ़ गए फिर मलसीसर होते हुए हरियाणा चले गये।फायरिंग की घटना के बाद भी संदीप बलौदा को 50 लाख रुपये की फिरोती देने के लिए फोन करने लगे, फोन पर वार्तालाप के दौरान अपराधी अपने आप को लॉरा बिश्नोई गैंग से सम्बन्धित होना बताते सिक्योरिटी देने की ऐवज में पैसे की मांग करते रहे।पुलिस टीम द्वारा इस घटना में शामिल तारिफ व रोहित को पहले ही गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक वेरना गाडी बरामद कर चूकी है।घटना का मास्टरमाइंड संजय खीचड़ पुत्र जयसिंह जाट सैनिक नगर झुंझुनू व उसका सहयोगी अमरजीत पुत्र प्रभुदयाल नायक हमीर खां का बास थाना मलसीसर को गिरफ्तार किया गया।

ये रहे टीम में शामिल:-

गोपाल सिंह पुलिस निरीक्षक कोतवाली, अंकेश कुमार उप निरीक्षक,पवन कुमार हैडकांस्टेबल,कांस्टेबल चैनाराम,प्रवीण, संदीप,संजय थाना कोतवाली,जितेन्द्र,अंकित साईबर सेल झुंझुनू।

Post a Comment

0 Comments