Recents in Beach

header ads

हज़ारों दीपकों की रोशनी से जगमगाया मण्डा विद्यालय


अजमेर:टीम अजेयभारत:

दुनिया को ज्ञान का प्रकाश देने वाले विद्यालय दीपावली के दिन अँधेरे में क्यों रहे ?

दीपावली पर आपने हर किसी को अपने दुकान या मकान की सजावट तो करते जरूर देखा होगा, मगर आज हम आपको केकड़ी क्षेत्र के ऐसे गांव में लेकर चलते है जहां के शिक्षक, बच्चों व गांव वालों ने दीपावली के अवसर पर ना केवल अपने घर व दुकान की सजावट की वरन उस संस्थान को भी दीपों की झिलमिलाहट से रोशन कर दिया, जो भावी पीढ़ी के भविष्य की राह को रोशन करता है।

जी हाँ, हम बात कर रहे है केकडी क्षेत्र की मोलकिया ग्राम पंचायत के मण्डा गांव स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय की, जहाँ दीपावली के दिन रविवार को यहां कार्यरत शिक्षक दिनेश वैष्णव की अगुवाई में विद्यार्थियों, युथ क्लब के सदस्यों व समस्त ग्रामवासियों ने घर-घर से दीपक लाकर विद्यालय को रोशन कर यह पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया। सैकड़ो दीपक की रोशनी से पूरा विद्यालय परिसर जगमग हो गया।

वाकई मण्डा गांव के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों व ग्रामवासियों का यह सन्देश इस लिहाज से भी काफी अहम है कि ज्ञान का प्रकाश देने वाला विद्यालय दीपावली के दिन अंधेरे में क्यों रहे !

शिक्षक दिनेश वैष्णव ने बताया कि इसके पीछे मूल रूप से यह भाव जगाना हैं कि मेरा घर स्वच्छ और रोशन हैं तो मेरा विद्यालय भी स्वच्छ और रोशन रहना चाहिए। विद्यालय के प्रति, सार्वजनिक सम्पत्ति के प्रति मेरापन, अपनापन का भाव जागृत होगा तो कई समस्याओं का समाधान स्वतः ही हो जाएगा।

इस अवसर पर वैष्णव ने कहा कि विद्यालय का सुख-दुख मेरा भी सुख-दुख हैं। यह विद्यालय मेरा है, यह गांव मेरा हैं, यह देश मेरा हैं, यह पृथ्वी अपनी हैं। यह भाव ही तो वसुधैव कुटुम्बकम हैं। यही तो आत्म-तत्व का विस्तार हैं।

वैष्णव ने बताया कि विद्यार्थियो में विद्यालय के प्रति अपनापन बढ़े, इस दृष्टि से पिछले पांच-छः वर्षो से एक परम्परा, एक आग्रह शुरू किया था कि दीपावली के दिन बालक अपने घर से एक दीपक लाकर विद्यालय को भी रोशन करें। पहले चित्तौड़गढ़ जिले के फाचर सोलंकी और फिर पिछले वर्ष से मण्डा में भी यह प्रयोग सफल रहा। अच्छी संख्या में बच्चों ने दीपावली की सायंकाल विद्यालय में भी दीपमालिका सजाई।

इस अवसर पर शिक्षक दिनेश वैष्णव, यूथ क्लब के अध्यक्ष दिलराज जाट, राजू वैष्णव, परमेश्वर सिंह, दिलराज मीणा, बबलू सिंह, लोकेश सिंह, केसरलाल मीणा, गौरु सिंह, मनीष बैरवा, नरेन्द्र बैरवा, नटवर, रौनक, आयुष, सूरज वैष्णव, सुमन बैरवा, दशरथ जाट, सपना वैष्णव, महिमा चौधरी व शिवानी बैरवा सहित कई ग्रामवासी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments