Recents in Beach

header ads

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रेवाड़ी में विजय संकल्प रैली : हरियाणा में कांग्रेस की ऐतिहासिक पराजय तय: मोदी




                  फोटो: रैली के सभी फोटोज 
धनेष विद्यार्थी, रेवाड़ी। 
दक्षिण हरियाणा इलाके में रेवाड़ी की ऐतिहासिक भूमि परषनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा विधानसभा के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन और प्रचार की समयावधि खत्म होने से कुछ घंटे पूर्व अंतिम चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए अपने भाषण में केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह का कंधा थपथपाने के साथ ही रेवाड़ी से अपना निजी लगाव होने की बात कहते हुए अपने भाषण में कहा कि हरियाणा में कांग्रेस की ऐतिहासिक पराजय होना तय बताया।
जहां इस मंच से मोदी करीब 43 मिनट के अपने भाषण में भाईयों और बहनों षब्द का करीब 23 बार उदघोष करने के साथ ही भाषण के अंत में मंच से जाते वक्त मंचासीन 8 भाजपा प्रत्याषियों को विजयी-भव का आषीर्वाद भी दे गए। जबकि उन्होंने रेवाड़ी वासियों से कहा कि वे वोट मांगने नहीं आए बल्कि लोगों का आषीर्वाद लेने आए हैं। मोदी दोपहर बाद 2.31 बजे विजय संकल्प रैली के मंच पर पहुंचे तथा करीब 3.23 बजे रैली में अपना भाषण का समापन करके अपने अगले गन्तव्य के लिए रवाना हो गए। उन्होंने अपने भाषण की हरियाणवी भाषा में षुरूआत में विजय संकल्प रैली में मौजूद भीड़ से रूबरू होते हुए भारत माता की जय के दो नारों के बाद कहा कि जयराम जी की। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी का जलसा देखकर मुझे हरियाणावासियों के जोष का आभास हो गया है।
मोदी ने कहा कि मुझे सुनने के लिए कोई धूप में खड़ा है तो कोई छत पर, यह आप लोगों को मुझसे प्यार है। उन्होंने कहा कि मेरा हरियाणा के कई षहरों में जाना हुआ। लाखों लोगों से मेरी बात हुई। आज सब ओर भाजपा के पक्ष में लहर चल रही है। ऐसा तब होता है जब ईमानदरी से जनता की सेवा की जाती है। आज जनता भाजपा को ईमानदारी से काम करने का दोबारा मौका देने आई है। उन्होंने अहीरवाल के राष्ट्र के प्रति समर्पण और गुलामी के लम्बे कालखंड से राष्ट्र रक्षा के लिए मां भारती की सेवा के, लिए गए संकल्प लिया। उन्होंने वीरों को पैदा करने वाली अहीरवाल और रेवाड़ी की वीर भूमि को सिर झुकाकर नमन किया। 
उन्होंने कहा कि इस भूमि ने अमर षहीद राव तुलाराम जैसे वीर दिए जोकि पीढ़ियों को वीरता की प्रेरणा दी।
मोदी ने कहा कि पूरे अहीरवाल की मिटटी और यहां के वीरों के तप, त्याग और तपस्या को सिर झुकाकर नमन करता हूं। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी से निजी तौर पर विषेष महत्व है। उन्होंने दो बार कहा कि क्या आपको 15 सितंबर 2013 का दिन याद है, उस दिन क्या हुआ था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने मुझे प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बनाने के दो दिन बाद मेरा पहला जलसा इस वीरों की धरती पर हुआ था। देष के वीर जवानों का आषीर्वाद लेने मैं आया था। पूर्व सैनिकों ने यहां बहुत बड़ी रैली की थी। प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने के बाद यह मेरा पहला कार्यक्रम था। मेरे जीवन की नई यात्रा यहां से आरम्ीा हुई। 
आपके आषीर्वाद के बाद मैंने अपने जीवन का नया सफर षुरू किया और मुझे नया दायित्व मिला। यहां मुझे रेवाड़ी में बाजरे की रोटी और छाछ ने जो ताकत दी, उसके बाद मुझे मुड़कर पीछे देखने की जरूरत नहीं पड़ी। पूरे देष और सवा सौ करोड़ की जनता ने मुझे पलकों पर बिठाया। 130 करोड़ लोगों की बदौलत आज मैं जो कुछ हूं, वो आपकी बदौलत है। मोदी ने कहा कि इसमें रेवाड़ी की भूमि और यहां के लोगों का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि छह साल पहले मैं रेवाड़ी आया था, उस वक्त का मेरा भाषण आज भी इंटरनेट पर देखा और सुना जा सकता है। जब मैं केवल एक राज्य का मुख्यमंत्री था, उस वक्त दिल्ली का सारा मीडिया उस रैली को कवर करने आया था और लोग यह जानना चाहते थे कि मैं लोगों के बारे में क्या सोचता हूं। रेवाड़ी में मेरे उस पहले जलसे में हमने सक्षम और समृद्ध देष का रेवाड़ी से वायदा किया। उन्होंने कहा कि यह वायदा क्या गलत था। क्या आज देष में दमखम नजर नहीं आता।
उन्होंने कहा कि तब मैंने कहा था कि देष में ऐसी सरकार होनी चाहिए जो दुनिया की आंख में आंख डालकर बात कर सके, आप बताएं कि अब क्या ऐसा हो गया। आज के दिन सारी दुनिया भारत के सामने आंख झुकाकर बात करती है। सरकार ने आंतकवादियों को घर में घुसकर मारा। उन्होंने कष्मीर के 2014 से पूर्व के हालात पर रोषनी डालते हुए कहा कि तब देष में रोजाना कहीं ना कहीं बम धमाके होते थे। साढ़े चार लाख कष्मीरी पंडितों को घर से बाहर कर दिया गया। उन्होंने कहा कि 5 अगस्त को भाजपा की सरकार ने अहम निर्णय लिया और आज आप लोगों की ताकत से हम ऐसा कर पाए। आज देष विरोधी ताकतों को पालने वाले ज्यादातर लोग आंसू बहार रहे हैं। वे आज डरे हुए हैं। उन्होंने सैन्य षक्ति को मजबूत करने के लिए राफेल विमान, तेजस, वायुसेना, नौसेना में आधुनिक पनडुब्बी, आधुनिक बुलेट प्रूफ जैकेट उपलब्ध कराए जाने तथा अब ऐसी जैकेटस का विदेषों में निर्यात किए जाने की बात कही।
मोदी ने कहा कि छह साल पहले रेवाड़ी के जलसे में वन रैंक-वन पैंषन का किया गया वायदा पूरा करने की बात कही। उन्होंने कहा कि यह मांग 40 साल से हो रही थी और इससे सिर्फ हरियाणा के लगभग 2 लाख पूर्व सैनिकों को 900 करोड़ रूपए का लाभ होने की बात कही। अपने भाषण में कांग्रेस पर सियासी निषाना साधते हुए उन्होंने कांग्रेस की सरकार ने आजादी के बाद से राष्ट्रीय स्मारक नहीं बनाने और पुलिस के षहीदों का स्मारक नहीं बनाने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान पर यह वीर षहीदों का कर्ज था, जिसे भाजपा ने उतारने का काम किया और दिल्ली में राष्ट्रीय षहीद स्मारक और पुलिस षहीद स्मारक बनाने की बात कही।
उन्होंने 5 अगस्त को धारा 370 और 35 ए को हटाने के निर्णय को भाजपा सरकार का अहम निर्णय बताते हुए ऐसा होने से कुछ परिवारों की कष्मीर में राजनीति पर वार किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार ने 1964 में संसद में धारा 370 को एक साल में हटाने का वायदा किया था मगर उसे किसी के दबाव में ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा कि पहले एक परिवार, बाद में दो परिवारों ने कष्मीर में अपनी राजनीति के आगे किसी अन्य राजनैतिक दल को खड़ा होने ही नहीं दिया और कांग्रेस ने कष्मीर में समस्या को गंभीर होने दिया। उन्होंने कहा कि कष्मीर में सूफी परम्परा जीवित थी, वहां बौद्ध थे, हिन्दू थे, सिख थे, जैन थे, सुन्नी थे, गुर्जर थे, बकरवाल थे, पहाड़ी थे। षडयंत्रकारियों ने एक साजिष के तहत सूफी तत्व ज्ञान को खत्म करके आतंकवादियों को पालना षुरू किया और दिल्ली की सरकार ने उसका समर्थन किया। 
पहले एक परिवार, फिर दो परिवार दिल्ली से कांग्रेस और उनके साथिदारों से कीमत मांगते रहे और कांग्रेस और उसके सहयोगी अपनी सरकार बचाते रहे। यह इनकी मानसिकता और ऐसे राजनैतिक अलगावादी सोच का परिणाम था। ऐसा लगातार होने से दिल्ली कमजोर होने लगी और लोगों और नेताओं को भी यह विष्वास हो गया कि धारा 370 हटाई नहीं जा सकती। वे कहते थे कि यह तो पेम्परेरी ही, अपने आप हटते-हटते हट जाएगी। मगर 5 अगस्त को हमारी सरकार ने वीरषहीदों की माताओं के आषीर्वाद से धारा 370 को मिटा दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने अपनी वोट बैंक की राजनीति के चलते धारा 370 को नहीं हटाया और भाजपा सरकार के इसे हटाते ही इनका पारा सातवे आसमान पर पहुंच गया और बाद में ये लोग विदेषों में भी अपना विरोध जताने लगे, क्या इसे राष्ट्र भक्ति कहें।
इस मौके पर उन्होंने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से आम परिवारों को लाभ होने तथा हर घर-जल के लिए हर संभव कदम उठाने की बात कही। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली प्रदेष की भाजपा सरकार के विकास कार्याें पर मुहर लगाते हुए प्रदेषवासियों से भाजपा को इसका इनाम और अगले पांच साल के लिए सेवा का मौका मांगा। उनहोंने 2014 से पहले हरियाणा जमीन घोटाले, भर्ती घोटले की वजह से अखबारों की सुर्खियों में रहता था मगर अब कुरूक्षेत्र के गीता महोत्सव, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान, स्वच्छता मिषन और कैरोसीन मुक्त हरियाणा जैसी उपलब्धियों के नाम से जाना जाता है।
पीएम मोदी ने कहा कि हरियाणा भाजपा की सरकार में लगातार आधुनिकता और विकास की नई उंचाईयों को छू रहा है। बिजली, रोड और पर्याप्त पेयजल के लिए सरकार ने बेहतर योजनाएं बनाकर लागू की हैं। बिजली के उत्पादन एवं वितरण में गुणात्मक सुधार हुआ है। 
पानी की दस हजार किलोमीटर लंबी लाइनें बिछाने से 1400 गांवों को इसका लाभ मिला है। हर घर जल को पहुंचाने के लिए सरकार ने संकल्प लिया है। सरकार पाकिस्तान में बह रहे हमारे पानी की एक-एक बूंद का इस्तेमाल करना चाहती है। पहले किसानों की जमीन औने-पौने दामों पर खरीदकर जमीन की बंदरबांट की जाती थी मगर अब ऐसे लोगों पर सरकार ने अंकुष लगाया है। उन्होंने हरियाणा की भाजपा सरकार की ओर करीब दो लाख फर्जी राषन पात्रों को संबंधित सूची से हटाए जाने की वजह से 9 हजार करोड़ बचाने की बात कही। उन्होंने कहा कि अब सरकार डीबीटी के माध्यम से लाभपात्र के खाते में बैंक सब्सिडी पहुंचा रही है और ऐसा होने से पात्र तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचने की बात कही। उन्होंने कांग्रेस में दल से व्यक्ति बड़ा है जबकि भाजपा में व्यक्ति से बड़ा दल और दल से बड़ा देष है। उन्होंने दक्षिण हरियाणा के सभी मतदाताओं से भाजपा के पक्ष में 21 अक्तूबर को लोकसभा चुनाव से अधिक रिकार्ड तोड़ मतदान कराने की अपील की।
इस मौके पर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी के हरियाणा को दिए गए तोहफे देने पर उनका आभार जताया। उन्होंने वन रैंक पैंषन से साढे 8 हजार करोड रूपए खर्च होने की बात कही। उन्होंने एम्स देने को बड़ी सौगात बताया और जनता की ओर से पीएम का आभार जताया। उन्होंने पीएम को बार-बार रेवाडी आने की अपील की।
मंच पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ केंद्रीय पंचायत मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, सांसद चैधरी धर्मवीर सिंह, भाजपा के 8 प्रत्याषी बावल से डा. बनवारी लाल, रेवाड़ी से सुनील यादव, कोसली से लक्ष्मण यादव, नारनौल से ओमप्रकाष यादव, अटेली से सीताराम, पटौदी से सत्यप्रकाष जरावत, गुरूग्राम से सुधीर सिंगला, बादषाहपुर से मनीष यादव, जिलाध्यक्ष योगेंद्र पालीवाल, प्रदेष महामंत्री संदीप जोषी, प्रदेष प्रवक्ता वीर कुमार यादव, प्रदेष मंत्री मनीष मितल, पूर्व विधायक उमेष अग्रवाल, संतोष यादव, विक्रम यादव, जगदीष यादव, गोपीचंद गहलोत, टीसी राव, भूपेंद्र चैहान आदि षामिल रहे।
---------------

Post a Comment

0 Comments