Recents in Beach

header ads

दौहरे हत्याकांड का पुलिस ने किया पर्दाफाश, नाबालिगों ने ही दिया वारदात को अंजाम ।


चिड़ावा क्षेत्र के श्यामपुरा-मटाणा गांव के पास हुए दोहरे हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

झुंझुंनू जिले के चिड़ावा थाना इलाके के श्यामपुरा गांव के पास हुए दोहरे हत्याकांड का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने डबल मर्डर का खुलासा करते हुए बताया कि दोनों मर्डर तीन नाबालिगों ने किए हैं जिसमें से दो को निरुद्ध कर लिया गया है तथा एक की तलाश जारी है। मृतक प्रेम सिंह व राहुल उर्फ मोनू के आरोपियों के साथ चल रहे पुराने मुकदमे व रंजिश के चलते तीनों आरोपियों ने दोनों की हत्या की योजना बनाई जिसके तहत तीनों आरोपी एक जगह इक_ा हुए। उनमें से दो आरोपी किसी परिचित के घर गए वहां पर रात्रि भोजन किया और वहां से अपने किसी दोस्त से लिफ्ट लेकर दो कुल्हाड़ी के साथ मटाणा जोहड़ पहुंच गए और प्रेम सिंह का इंतजार करने लगे। जो रोज घर जाने के लिए इसी रास्ते से आता था। रात 10 बजे के करीब प्रेम सिंह वहां से बाइक से गुजरने लगा। तब आरोपीगणों ने उसे रोक लिया और बातों में उलझा लिया। उसके बाद पूर्व नियोजित तरीके के अनुसार एक अन्य आरोपी को भी बुला लिया। तीनों आरोपियों ने मिलकर प्रेम सिंह के फोन से मृतक राहुल उर्फ मोनू को कॉल पर यह कह दिया कि कुछ देर बाद किशोरपुरा स्कूल के पास आ जाना तथा अब कॉल नहीं करूंगा, केवल मैसेज करूंगा। उसके बाद फोन की लाइट दिखाऊंगा, वहां पहुंच जाना। कॉल करने के तुरंत बाद एक आरोपी ने प्रेम सिंह को पकड़ लिया और अन्य दोनों ने धारदार कुल्हाडिय़ों से ताबड़तोड़ वार कर दिए। जिससे प्रेम सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। उसके बाद तीनों ने लाश को घसीट कर कुछ दूरी पर पड़ी लकडिय़ों पर डाल दिया और बाइक से पेट्रोल निकालकर मृतक के शरीर पर डालकर आग लगा दी। वहां से मृतक की बाइक लेकर राहुल को मारने के लिए स्कूल के पास पहुंच गए। जहां राहुल को मोबाइल की लाइट दिखाते ही राहुल वहां पहुंच गया। राहुल के पहुंचते ही तीनों आरोपियों ने कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर दिए और उसकी वहीं पर हत्या कर दी। इसके बाद मोबाइल को कुल्हाड़ी से काट दिया। दोनों की हत्या करने के बाद एक आरोपी अपने घर चला गया व दो अन्य मौके से प्रेम सिंह की बाइक लेकर झुंझुनंू अपने परिचित के कमरे पर चले गए। वहां से टैक्सी किराए पर लेकर दिल्ली गए। चंडीगढ़, पठानकोट होते हुए जम्मू वैष्णो देवी पहुंच गए। वैष्णो देवी के दर्शन करने के बाद वापस दिल्ली आ गए। इस दौरान उनके पास खर्चा खत्म हो गया तथा हत्याकांड का पछतावा होने पर आत्महत्या का विचार भी आया। खर्चा खत्म होने पर रुपए लेने के लिए आरोपी अपने परिचित के पास आया। जहां सोलाना के पास गोवला नदी में पुलिस ने धर दबोचा। दूसरे आरोपी को चनाना के पास से दस्तयाब कर लिया गया। उल्लेखनीय है कि गोवर्धन पूजा के दिन श्यामपुरा मटाणा के पास दो युवकों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। मृतकों की पहचान श्यामपुरा निवासी प्रेम सिंह राजपूत व राहुल उर्फ मोनू जांगिड़ के रूप में हुई थी

Post a Comment

0 Comments