Recents in Beach

header ads

जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने हरी झंडी दिखाकर किया सडक सुरक्षा जागरूकता रैली को रवाना ----- रैली में जज और स्कूली बच्चे हुए शामिल

धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 
देश के संविधान की 70 वीं वर्षगाठ के अवसर पर सडक हादसों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा मंगलवार को सडक सुरक्षा जागरूकता रैली निकाली गई। जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिनेश कुमार मित्तल ने जिला न्यायिक परिसर से रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जागरूकता रैली में सैनसोरियम पब्लिक स्कूल, यूरो पब्लिक स्कूल, यदुवंशी पब्लिक स्कूल, जैन पब्लिक स्कूल, होली चाईल्ड पब्लिक स्कूल, अनेजा पब्लिक स्कूल, राज इंटरनेशनल स्कूल के विद्यार्थियों ने भाग लिया। सडक सुरक्षा नियम जागरूकता रैली न्यायिक परिसर रेवाडी से प्रारंभ हुई और मुख्य सडकों से होती हुई बाल भवन पहुंची।
इस अवसर पर जज दिनेश कुमार ने कहा कि लगातार बढ़ रहे सडक हादसे बेहद चिंता का विषय हैं। अदालतों में सडक हादसों से संबंधित केसों की निरंतर वृद्घि हो रही है। जिला सत्र न्यायाधीश ने छात्रों से आहवान किया वे अपने अभिभावकों, पड़ोसियों आदि को सडक सुरक्षा का महत्व समझाएं और यातायात नियमों की अनुपालना की कहें। जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिनेश कुमार ने इस मौके पर स्कूली बच्चों को सडक सुरक्षा नियमों संबंधित इश्तिहार बांटे। उन्होंने कहा कि सडक हादसों का मुख्य कारण लोगों द्वारा सडकयातायात नियमों की अनदेखी करना है। तेज गति में गाड़ी चलाना, नशे व नीदं में ड्राइविंग, गलत दिशा में गाड़ी चलाना आदि दुर्घटनाओं के मुख्य कारण हैं। 
उन्होंने कहा कि चाहे पैदल यात्री हों या वाहन चालक, सडक संबंधी नियमों का पालन सभी के लिए बेहद जरूरी है, ताकि आकस्मिक सडक हादसों से बचा जा सके। ऐसे में जरूरी है कि आप न सिर्फ  सडक सुरक्षा नियमों को जाने, बल्कि इनका पालन भी करें। बच्चों ने सडक सुरक्षा जागरूता रैली के दौरान यातायात नियमों के बारे में जानकारी हैलमेट का उपयोग करने, नियमों के पालन में सहयोग, ड्राइविंग करते समय मोबाईल पर  बात  न करने, नशे व नींद में ड्राइविंग न करने के बारे में जागरूक किया। यदि बात करना है तो वाहन को साईड में रोकना, मत करो इतनी मस्ती जिंदगी नहीं सस्ती, आदि स्लोगन के डिस्पले कार्ड अपने हाथों में लेकर राहगीरों को सडक सुरक्षा का संदेश दिया। जागरूकता रैली से पहले न्यायिक परिसर में सडक सुरक्षा के नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए सैनसोरियम स्कूल के विद्यार्थियों द्वार लघु नाटिका का मंचन किया गया, जिसे खूब सराहना मिली। 
मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रेवाड़ी कीर्ति जैन ने रैली समापन के अवसर पर बाल भवन में छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मनुष्य को जीने के लिए एक ही जीवन मिलता है जो कि अमूल्य है। सडक पर चलते समय तथा वाहन चलाते समय लापरवाही के कारण लोग सडक दुर्घटनाओं में अपनी कीमती जान गंवा देते हैं व काफी लोग घायल हो जाते हैं। इस अवसर पर अतिरिक्त सत्र एवं न्यायाधीश नरेश कुमार, अतिरिक्त सत्र एवं न्यायाधीश कंचन माही, अतिरिक्त सत्र एवं न्यायाधीश सैलेन्द्र सिंह, अतिरिक्त सत्र एवं न्यायाधीश कुलदीप सिंह, अतिरिक्त सत्र एवं न्यायाधीश अभिलाषा कोहली, सीजेएम समप्रीत कौर, एसीजेएम मोहित अग्रवाल, एसीजे (एसडी) जितेन्द्र सिंह, जेएमआईसी अनुराधा, जेएमआईसी नेहा गुप्ता, जेएमआईसी अपर्णा भारद्वाज, अधीक्षक जगननाथ, आरएसओ रमेश वशिष्ठ, अरूण गुप्ता, प्रदीप नरूला, लोकेश गोयल, नितेश अग्रवाल, भारत भूषण, हेमन्त, दीपक सैनी, अमन शर्मा, सलोनी सिंगला सहित अनेक अधिवक्ता मौजूद रहे।
रेवाड़ी फोटो 4 : यातायात जागरूकता रैली को हरी झंड़ी दिखाते डीएसजे दिनेश कुमार।
        ----------- 
       बाक्स 
अदालत परिसर में भी मनाया संविधान दिवस 
रेवाड़ी। मंगलवार को न्यायिक परिसर में जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिनेश कुमार मित्तल की अध्यक्षता में संविधान दिवस मनाया गया। इस मौके पर जज मित्तल ने संविधान और राष्टड्ढ्र के प्रति मौलिक कर्तव्यों की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि हम सब इस देश के जिम्मेदार नागरिक हैं और हमें संविधान के दायरे में रहकर मौलिक कर्तव्यों का पालन करना चाहिए। इस मौके पर डालसा रेवाड़ी की सचिव कम सीजेएम कीर्ति जैन ने संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। इस मौके पर जिले में तैनात न्यायधीश एवं अधिवक्ता मौजूद रहे।
----------------

Post a Comment

0 Comments