Recents in Beach

header ads

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में फैसला न्याय व्यवस्था के लिए मील का पत्थरः मलिक



गुरुग्राम

राम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला नया पूर्ण होने के साथ-साथ न्याय व्यवस्था पर एक मील का पत्थर साबित होगा। अयोध्या विवाद डेढ़ सौ साल पुराना विवाद है इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का दिया गया फैसला आज तक के इतिहास में सबसे बड़ा फैसला है। शनिवार को यह बात भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता रमन मलिक ने कही। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि यह किसी की हार और किसी की जीत का फैसला नहीं है दोनों पक्षों को बराबर का मानते हुए यह फैसला दिया गया है। ऐसा फैसला ऐतिहासिक है और जस्टिस गोगोई सहित सभी 5 जजों की बेंच इस फैसले को लेकर स्वागत योग्य है। उन्होंने इस फैसले के जरिए एक ऐसा उदाहरण स्थापित किया है जो भारत की न्यायिक व्यवस्था के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा।

 हम भारतीय जनता पार्टी की तरफ से माननीय सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश वह इस खंडपीठ के प्रत्येक न्यायधीश का सम्मान व आभार प्रकट करते हैंl  जिस प्रकार माननीय मुख्य न्यायाधीश वह खंडपीठ ने इस मामले की दिन प्रतिदिन सुनवाई और सारे साक्षात और तथ्यों को बारीकी से देखते हुए जिसमें पुराणिक ऐतिहासिक व सिद्धांत एक विषय रहे अपना विवेक लगाकर एक स्पष्ट और नियोजित फैसला इस देश की 130 करोड़ जनता को दिया हैl

उन्होंने कहा कि भारत की 130 करोड़ जनता का भी आभार व्यक्त करते हैं कि उन्होंने इस देश का सामाजिक सांस्कृतिक और आध्यात्मिक ताना-बाना सुनियोजित  रखा है यह फैसला यह स्पष्ट संदेश देता है कि हमारे लोकतंत्र की जड़ें बहुत मजबूत हैं और हमारा यह भी स्पष्ट मानना है कि इस निर्णय के उपरांत  इस विषय से जुड़े सभी विवाद पूर्णता सुलझ जाएंगे और भारत शांति प्रगति और अध्यात्मिक उन्नति की तरफ अग्रसर होगाl

 भारतीय जनता पार्टी सदैव भव्य राम मंदिर के निर्माण हेतु वचनबद्ध रहे हैं और यह विषय हमारी आस्था का विषय है और राजनीतिक विषय नहीं हैl आपको याद होगा कि भारतीय जनता पार्टी के पालमपुर अधिवेशन से लेकर आज तक यह विषय हमेशा भारतीय जनता पार्टी के हर घोषणा पत्र और संकल्प पत्र का एक प्रमुख अंग रहा है जिसके साथ हमने यह भी हमेशा बोला कि इस विषय को संविधान के दायरे के अंदर रख के इसका निराकरण करा जाएगा और इस देश की आत्मा भगवान श्री राम के दिखाए हुए मार्ग पर चलते हुए वहां एक भव्य राम मंदिर का निर्माण होगाl

 हमारे लिए यह एक सुख की अनुभूति है की यह निर्णय एनडीए की नरेंद्र मोदी जी  अगवाई मैं चल रही सरकार के कार्यकाल में आया हैl मेरा मानना है कि जिस प्रकार से गत कुछ वर्षों में हमारी सरकार अनेकों विराट मुद्दों को सुलझाया और न्याय प्रदान करा है भारत के इतिहास में यह कालखंड स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगाl

हमें माननीय सर्वोच्च न्यायालय वह  माननीय मुख्य न्यायाधीश  की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के प्रत्येक न्यायाधीश को इस विश्व के सबसे पुराने न्यायिक विभाग को पूर्ण विराम लगाने के लिए कोटि-कोटि साधुवादl

 हम ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हैं। इसने न केवल इससे संबंधित सभी मुद्दों को हल कर दिया है, बल्कि यह शांति, एकता और सद्भावना की हमारी महान परंपरा को और मजबूती प्रदान करने वाला है।   भाजपा इस निर्णायक और समयबद्ध निर्णय के लिए माननीय सर्वोच्च न्यायालय, माननीय न्यायाधीशों और विशेष रूप से भारत के मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ का स्वागत करती है, जिसने दैनिक सुनवाई सुनिश्चित की और दशकों से लंबित मामले को सुलझाया। भारतीय जनता पार्टी देश के उन लोगों का स्वागत करती है और उन्हें सलाम करती है जिन्होंने एकजुट होकर देश के सामाजिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक ताने-बाने को बरकरार रखा है।   भारतीय जनता पार्टी देशवासियों से अपील करती है कि वे इस फैसले का तहे दिल से स्वागत करें और अफवाहों पर ध्यान दिए बिना समानता, सामाजिक सद्भाव और शांति की अमूल्य विरासत को बचाने के लिए एक उदाहरण स्थापित करें। इस फैसले ने स्पष्ट संदेश दिया है कि हम एकजुट हैं और भारत में लोकतंत्र की जड़ें बहुत मजबूत हैं।

 मलिक ने आगे कहा की विधि का विधान  देखिए कि शन 1989 में  9 नवंबर के दिन ही राम जन्मभूमि में भव्य राम मंदिर के लिए शिलान्यास की पूजा हुई थी और आज 30 साल बाद उस मंदिर के निर्माण का मार्ग माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने प्रशस्त करा हैl 9 नवंबर का दिन यूं भी इतिहास में एक बड़ी भूमिका निभाता है इसी दिन यूरोप के बीच में बनी बर्लिन दीवार गिर गई थी और मेरा मानना है कि भारतवर्ष में धर्म  के नाम पर बनी हुई दीवारें और ऐसे लोग जिनका व्यवसाय धर्म पर अपवाद खड़ा  करके चलता था उनकी दुकानों के भी शटर गिर गए हैंl

रमन मलिक ने कहा कि यह बहुत संतोष की बात है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के दौरान भगवान राम के मंदिर मुद्दे का समाधान किया गया है। जब भी देश का इतिहास फिर से लिखा जाएगा, केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का यह कार्यकाल स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। हम इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हैं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का तहे दिल से स्वागत करते हैं।

Post a Comment

0 Comments