Recents in Beach

header ads

Video News: हरियाणा की बदहाल शिक्षा व्यवस्था : मुख्यमंत्री व्यस्त जनता त्रस्त, प्रशासन बेख़बर

हरियाणा की बदहाल शिक्षा व्यवस्था : मुख्यमंत्री व्यस्त जनता त्रस्त, प्रशासन बेख़बर

पलवल: टीम अजेयभारत :माता-पिता अपने बच्चों के स्कूल भेजते हैं ताकि वे पढ़-लिखकर कामयाब हो सकें. स्कूल पहुंचने के बाद शिक्षकों की जिम्मेदारी होती है कि वे बच्चों को अच्छी शिक्षा दें. लेकिन हरियाणा के सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर कैसा होगा आप खुद इस वीडियो में देख सकते है.

हम अजेयभारत के पाठको के लिए हरियाणा की बदहाल शिक्षा व्यवस्था को दिखने के लिए आज आपको लेकर चलते है धतीर गांव में जो की पलवल जिला के अंतर्गत आता है और देश की राजधानी दिल्ली से 75 किलोमीटर दूर है, आप इस वीडियो में देख सकते है की सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठअधिवक्ता अशोक अग्रवाल जी ने खुद जाकर बच्चो के साथ जमीन पर बैठकर उनका हाल जानने की कोशिश की है, साथ ही आप देख सकते है की बच्चे ठंड के मौसम में आखिर कैसे जमीन पर बैठकर पढ़ते होंगे जबकि इस मौसम में तो कोई जानवर भी जमीन पर न बैठे और भाजपा सरकार में आज के युग में भी बच्चे स्कूल में पर्याप्त कमरे और डेस्क न होने के चलते जमीन पर बैठकर पढ़ने को मजबूर है, क्योंकि इनके माता पिता शायद इतना नहीं कमाते की इन्हे महंगे प्राइवेट स्कूल में एडमिशन करवा सके.बता दें कि हरियाणा में सरकारी स्कूलों की व्यवस्थाओं और शिक्षा को लेकर लगातार सवाल खड़े होते रहे हैं.

ज्ञात रहे की हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर आजकल अपने दूसरे टर्म में इतने व्यस्त है की सूबे में क्या हो रहा है शायद उन्हें नहीं पता और अधिकारी इतने बेखबर है की जानबूझकर वो इस तरह की व्यवस्थाओ पर धयान नहीं देना चाहते, इसलिए अशोक अग्रवाल जी जैसे जागरूक लोगो को एक साथ आना होगा और इस तरह की व्यवस्थाओ को सुधारना होगा


Post a Comment

0 Comments