अपराधियों के सिम की होगी अब जांच, फर्जी मिलने पर IPS नाजनीन भसीन करेगी ये काम


पहचान सुनिश्चित होने के बाद ही नई सिम जारी करें दुकानदार: एसपी भसीन 

धनेश प्रभाकर, रेवाड़ी। 
रेवाड़ी पुलिस द्वारा अपराधियों के नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए नया अभियान शुरू किया गया है। एसपी नाजनीन भसीन के मार्गदर्शन में शुरू हुए अभियान के तहत अब पुलिस, पकड़े जाने वाले अपराधियों के मोबाइल फोन व उनके सिम की बारीकी से जांच करेगी। उसके बाद अगर आईडी किसी और के नाम मिली तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। साथ ही सिम जारी करने वाले विक्रेता के खिलाफ भी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। 

एसपी ने कहा कि अकसर देखने में आया है कि अपराधियों से बरामद होने वाले मोबाइल फोन व उनमें इस्तेमाल होने वाली सिम किसी और के नाम ही मिलती है। उन्होनें विशेषकर सिम बेचने वाले दुकानदारों को कहा कि वे किसी भी ग्राहक को सिम बेचने से पहले उसकी आईडी प्रूफ की अच्छे से जांच करेे। बगैर आईडी या फिर किसी अन्य के नाम पर कोई सिम जारी ना करें। अगर ऐसे मामले में सिम विक्रेता की लापरवाही मिली तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। इतना ही नहीं एसपी ने कहा कि अपराधी खुद की पहचान छुपाने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति के नाम पर सिम चलाते है। 

अगर अपराधी से बरामद होने वाली सिम किसी ओर के नाम पर मिली तो उस व्यक्ति को भी किसी सूरत में छोड़ा नहीं जाएगा। एसपी ने तमाम थाना व चैकी प्रभारियों को आदेश दिया कि वे अपने-अपने थाना क्षेत्रों में अपराधियों की पहचान और अपराधिक गतिविधियों में शामिल लोगों पर तुरंत निगरानी रखकर समय रहते कार्रवाई करें। अपराधिक किस्म का व्यक्ति इससे पहले किसी वारदात को अंजाम दे पुलिस उसे तुरंत गिरफ्तार करें।

Post a Comment

0 Comments