जब तक सूरज चांद रहेगा सौरभ तेरा नाम रहेगा नारों के साथ भाई ने दी मुखाग्नि

शहीद सौरभ के पार्थिव देह पंचतत्व में हुआ विलीन

Ajay Kumar Vidyarthi:Bharatpur:
भारतीय सेना की 28 आरआर रेजीमेंट के जवान जिले के रूपवास पंचायत समिति के ग्राम बरौली ब्राह्मण निवासी सौरभ कटारा विगत मंगलवार रात श्रीनगर से कूपवाडा में सैन्य वाहन ले जाते समय ग्रेनेड हमले में शहीद हुए जिनके पार्थिव देह का गुरूवार सुबह उनके पैतृक गांव बरौली ब्राह्मण में पूर्ण सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार के साथ किया गया। शहीद कटारा की चिता को उनके छोटे भाई अनुप कटारा ने मुखाग्नि दी।

शहीद सौरभ कटारा के शहीद होने की खबर मिलते ही ग्राम में शोक छा गया एवं ग्राम का माहौल गमगीन हो गया। गुरूवार को तडके शहीद सौरभ के पार्थिव शरीर के ग्राम में पहुंचते ही आसपास के दर्जनों ग्राम के लोग शहीद के अंतिम दर्शन करने के लिए उनके ग्राम पहुंच गये।

शहीद सौरभ के ग्राम पहुंचने परे ‘‘सौरभ कटारा अमर रहे, जब तक सूरज चाॅंद रहेगा, सौरभ तेरा नाम रहेगा, भारत माता की जय, भारत जिन्दाबाद-पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारों से पूरा गांव गूंज उठा। इस गमगीन माहौल में तिरंगे में लिपटे शहीद के पार्थिव देह पर पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह, जिला कलक्टर नथमल डिडेल,  पुलिस अधीक्षक हैदर अली जैदी, भरतपुर मिलिट्री स्टेशन के कमान्डर कर्नल अंशुमान श्रीवास्तव, बैटरी कमाण्डर मेजर राहुल डे, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी से.नि. कर्नल केवीएस ठैनुआ, बयाना-रूपवास विधायक अमर सिंह जाटव, सांसद रंजीता कोली, पूर्व प्रधान रूपवास सालेग्राम एवं रविन्द्र सिंह, डाॅ0 शैलेश सिंह, भानुप्रताप राजावत, भजनलाल शर्मा ने पुष्प चक्र अर्पित किये साथ ही बडी संख्या में ग्रामीणों ने पुष्पांजली अर्पित की।

भारतीय सेना के जवानों ने हवाई फायरिंग कर सलामी दी। स्टेशन कमाण्डर कर्नल अंशुमान श्रीवास्तव ने शहीद के पिता को तिरंगा ध्वज प्रदान किया।

सभी आग्ंातुकों ने शहीद के परिजनों को ढाॅंढस बंधाया। शहीद वीरांगना पूनम, शहीद के पिता हवलदार नरेश कटारा, चाचा रिंकू शर्मा ने शहादत पर गर्व जताया है। शहीद अपने पीछे पिता हवलदार नरेश कटारा, माता अनीता कटारा, भाई गौरव कटारा व अनुप कटारा, बहन दीपक, पत्नी पूनम कटारा छोड गये।

इस मौके पर उपखण्ड अधिकारी रूपवास कमल सिंह यादव, तहसीलदार अल्का श्रीवास्तव, जेसीओ सैंती कुमार, नैमसिंह फौजदार, डोरी लाल शर्मा सहित बडी संख्या में क्षेत्रीय ग्रामीणजन मौजूद थे।





Post a Comment

0 Comments