Recents in Beach

header ads

स्वास्थ्य मंत्री ने वीसी के माध्यम से नूंह-पलवल जिलों में शुरू किया मिशन इंद्रधनुष

नूंह में एडीसी विवेक पदम सिंह ने बच्चों को पिलाई दवा 
दो साल आयु तक के 23852 बच्चों एवं 5238 गर्भवती महिलाओं को मिलेगा सम्पूर्ण टीकाकरण का लाभ 
धनेश प्रभाकर, नूंह। 
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सोमवार को वीडियो काफ्रैंस के माध्यम से जिला नूंह और पलवल में सघन मिशन इन्द्रधनुष का शुभारंभ किया। इस मौके पर नूंह के सचिवालय में एडीसी विवेक पदम सिंह ने बच्चों को दवाई पिलाई और इसके साथ ही इस जिले में मिशन इंद्रधनुष का दूसरा चरण शुरू हो गया। 
इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री विज ने नूंह प्रशासन और जिला स्वास्थ्य विभाग को इस प्रकार प्रयास करने के निर्देश दिए ताकि कोई बच्चा अथवा गर्भवती इस मिशन के तहत टीकाकरण के लाभ से वंचित ना रहे। उन्होंने लोगों से अपने घर में गर्भवती महिला या बच्चे को टीके जरूर लगवाने की अपील की। नूंह और पलवल में यह अभियान बच्चों का प्रतिरक्षण कम होने की वजह से चलाया जा रहा है। 
स्वास्थ्य विभाग के एसीएस राजीव अरोड़ा ने कहा कि गर्भवती महिलाओं और बच्चों को 11 जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए सधन मिशन इंद्रधनुष का द्वितीय चरण नूंह जिले में दो दिसंबर से शुरू किया गया है। इसके तहत दो साल आयु तक के 23852 बच्चे एवं 5238 गर्भवती महिलाओं को सम्पूर्ण टीकाकरण का लाभ दिया जाएगा। जिन बच्चों या गर्भवती महिलाओं को अब तक यह लाभ नहीं मिला, उन्हें ही इस अभियान के तहत कवर किया जाएगा। मिशन इंद्रधनुष के लिए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग मुस्लिम धर्मगुरूओं के साथ पंच-सरपंच, नम्बरदार, चैकीदार का भी सहयोग लेगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव से दूर ढाणियों में भी टीकाकरण के लिए जाएगी। 
इन 11 बीमारियों पर होगा वार
मिशन इंद्रधनुष के तहत 11 जानलेवा बीमारियों से बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को बचाया जाएगा, जिनमें पोलियो, काली खांसी, गलघोटू, टीबी, निमोनिया, खसरा, रुबेला, टिटनेस, पीलिया समेत कुल 11 बीमारियों पर टीकाकरण के माध्यम से वार किया जाएगा। यह अभियान दिसंबर से मार्च तक चलेगा। अवकाश को छोड़कर सातों दिन टीकाकरण होगा। दिसंबर में 2 से 12 दिसंबर तक टीकाकरण होगा। दिसंबर, जनवरी, फरवरी एवं मार्च तक चार चरणों में यह अभियान चलेगा। 
एडीसी विवेक पदम सिंह ने बताया कि बच्चों को यह टीके सभी प्राईमरी हैल्थ सेंटरों, सामुदयिक हैल्थ सेंटर व सामान्य अस्पताल, उप-स्वास्थ केेंद्र व आगनवाड़ी सेंटरों पर एएनएम, आशा वर्कर व आगनवाड़ी वर्कर के सहयोग से लगाए जाएगें। उन्होंने बताया कि इस चरण के अंर्तगत भी जिले के सौ प्रतिशत बच्चों को कवर करने का लक्ष्य विभाग द्वारा रखा गया है। उन्होंने बच्चों के अभिभावको से अपील की वे इस अभियान के अन्र्तगत बच्चों को अवश्य टीके लगवाए। 
नूंह फोटो 1: मिशन इन्द्रधनुष को लेकर वीडियो काफ्रैंस में शामिल एडीसी विवेक पदम सिंह। 
उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग का प्रयास है कि इस मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के तहत कोई भी बच्चा टीकाकरण से वचिंत न रहने पाए क्योकि टीकाकरण हर बच्चे व गर्भवती महिला के लिए जरूरी है। इस मौके पर सिविल सर्जन डा. राजीव बातीश, डीआईओ डा.बंसत दूबे, उप-सिविल सर्जन डा. चावला, एसएसओ नूंह डा. गोबिंद शरण, डीपीएम सहित अन्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। 
नूंह फोटो 2: नूंह सचिवालय में एक बच्चे को दवाई पिलाते एडीसी विवेक।   

Post a Comment

0 Comments