Recents in Beach

header ads

घरडा़ना खुर्द की बहू ने जिले का नाम किया रोशन, सीनियर साइंटिस्ट के पद पर हुआ चयन ।

झुंझुनूं जिले के घरडा़ना खुर्द की बहू का सीनियर साइंटिस्ट के पद पर हुआ चयन ।

घरडा़ना खुर्द की बहू का सीनियर साइंटिस्ट के पद पर चयन

गांव ही नहीं झुंझुनू जिले का किया नाम रोशन

झुंझुनू जिले के गांव घरडा़ना खुर्द की बहू मोनू राव पत्नी रामनिवास राव ने ना सिर्फ साइंटिस्ट बल्कि सीनियर साइंटिस्ट के पद पर कामयाबी हासिल कर गांव ही नहीं जिले को गौरवान्वित किया है घरडा़ना खुर्द निवासी गूगन राम के चार पुत्रों में सबसे छोटे पुत्र रामनिवास राव की पत्नी है मोनू राव

शिक्षा में अव्वल

मोनू राव msc.( केमिस्ट्री), HTET, CTET, B.ed और pre.(phd.) की शिक्षा के साथ Net (J.R.F.) क्वालीफाई है, मोनू राव का कहना है की Msc. की पढ़ाई पूरी करने के बाद पिता की कमजोर स्थिति को देखते हुए प्राइवेट सेक्टर में पीजीटी टीचर के पद पर कार्य करने लगी और अपनी शिक्षा को जारी रखा, बाद में इसी पद पर गवर्नमेंट सेक्टर में चयन हुआ लेकिन थोड़े दिनों बाद  ही अपने पद से रिजाइन दे दिया क्योंकि समाज में कुछ अलग करने की लालसा बार-बार चुनौती दे रही थी, उसी दौरान अपने परिवार व समाज के सपनों और उनकी इज्जत को ध्यान में रखते हुए रामनिवास राव को अपना हमसफर चुना!!

माता - पिता भाई व पति का रहा अहम रोल

माता-पिता ने पढ़ा लिखा कर इस काबिल बनाया कि मैं कुछ कर सकूं, कुछ बन सकूं, लेकिन वो कहते हैं ना कि सही समय पर सही सलाह और गाइडलाइन मिलना भी आप की कामयाबी को और आसान बना देती है और वह सलाह मुझे मेरे पति से मिली उन्होंने मुझे कहा कि घर गृहस्ती व कॉमन कार्य तो बहुत से लोग करते हैं लेकिन आप कुछ अलग करो और कुछ अलग करने का माहोल व साथ मुझे मेरे पति व पूरी फैमिली से मिला जिसका नतीजा आप सबके सामने है!

वर्तमान में मोनू राव आदर्श पीजी कॉलेज में रसायनिक विज्ञान के लेक्चरर के पद पर कार्यरत है

गौरतलब है कि मोनू राव जनवरी में ट्रेनिंग के लिए मुंबई जाएगी उसके बाद डिस्कवरी के लिए स्विट्जरलैंड जाएंगी

Post a Comment

0 Comments