Video News:गरीबों के बच्चों पर सरकारी स्कूल में हो रहा है अत्याचार,वीडियो को देखकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे

सोनीपत :टीम अजेयभारत : गांव जुआं के प्राथमिक स्कूल का निरिक्षण करने पहुंचे सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता व समाजसेवी अशोक अग्रवाल जब पहुंचे तो वंहा जमीन पर पतली सी टाट को बिछाकर बैठे बच्चो को देखकर उनके होश उड़ गए की कोई भला इतनी काम सुविधाओं में अपने बच्चो को सरकारी स्कूल में क्यों पढ़ायेगा ? क्या सिर्फ नाम के लिए ?



कड़ाके की ठंड का कहर जारी है। गलन और सर्द हवाओं से हर कोई बेहाल है। मासूम बच्चों पर भी किसी को तरस नहीं आ रहा। सर्द सुबह में उन्हें ठिठुरते-कांपते हुए स्कूल जाना पड़ रहा है। नंगे पांव स्कूल की डगर नाप रहे बच्चों को गीले फर्श पर बैठना पड़ रहा है। 

दरी के नाम पर अधिकांश स्कूलों में पतली चटाई है। शिक्षक कुर्सियों पर बैठ कर भी कांप रहे हैं, मगर बच्चों को गीली फर्श पर बैठाने के बाद भी कोई पूछने वाला नहीं है। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले अधिकांश बच्चों के पास न तो ढंग के ऊनी कपड़े हैं और न ही जूता, चप्पल और टोपी।

बावजूद अच्छी तालिम लेकर भविष्य संवारने की आस में उन्हें अलसुबह स्कूल आना पड़ रहा है। लाड़लों की इस पीड़ा को महसूस करने के बाद भी मां-बाप बेबस बने हुए हैं।

अधिकांश परिवार के लोग ठंड के कारण बच्चों विद्यालय नहीं भेज रहे हैं। ठंड को देखते हुए विद्यालय को बंद कर देना चाहिए।

वैसे तो सरकार में सिंघम बने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, मंत्री अनिल विज समेत और भी कई नेता है लेकिन शायद वो सिर्फ दिखावे के लिए बने है ?

https://youtu.be/QqmHA106xLc

Post a Comment

0 Comments