चौकी प्रभारी 10 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप, रिश्वत नही देने पर जेल भेजने की दे रहा था धमकियां

झालावाड़ एसीबी की कोटा ग्रामीण में बड़ी कार्रवाई, चौकी प्रभारी अजीत सिंह 10 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप ।
राजस्थान में ACB टीम फिर हुई सक्रिय, आईजी दिनेश एम एन के निर्देशन में हुई बड़ी कार्यवाही ।
कोटा ग्रामीण में एसीबी की ट्रैपिंग कार्यवाही, झालावाड़ एसीबी कर रही है कोटा में ट्रैप की बड़ी कार्यवाही ।
कोटा ग्रामीण के चेचट पुलिस थाने में चल रही है एसीबी की ट्रैप कार्रवाई ! चेचट थाना क्षैत्र के आलोद पुलिस  चौकी के इंचार्ज अजीत सिंह हुए ट्रैप, दस हज़ार रुपयो की मंथली रिश्वत लेते एसीबी ने दबोचा, बजरी परिवहन की एवज में मांगी थी मंथली रिश्वत, एएसपी एसीबी (झालावाड़) भवानी शंकर मीणा के नेतृत्व में कार्रवाई । बतादे की भवानी शंकर मीणा पूर्व में भी रावतभाटा में एएसपी रहे है । एसीबी रिश्वतखोर चौकी के इंचार्ज से कर रही है पूछताछ, आखिरकार कब से चल रहा है ये अवैध मंथली का खेल ।
आरोपी की पहचान-  आरोपी हेडकांस्टेबल अजीत सिंह (42) निवासी नीमराणा, जिला अलवर को घूस लेते पकड़ा। वह कोटा ग्रामीण जिले के चेचट थाना के अंतर्गत अलोद पुलिस चौकी का प्रभारी है।
यह है पूरा मामला
एएसपी भवानी शंकर मीणा ने बताया कि घूसखोर आरोपी अजीत सिंह के खिलाफ गांव अलोद, थाना चेचट निवासी ब्रजमोहन अहीर ने 17 फरवरी को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि उसके ट्रेक्टर से चारभुजा नाथ के मंदिर निर्माण समिति के स्टॉक रीछी बस स्टैंड से मंदिर निर्माण स्थल तक बजरी पहुंचाने की एवज में हेडकांस्टेबल अजीत सिंह मासिक बंधी के रुप में 10 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है।
रिश्वत की रकम लेकर सरकारी क्वार्टर पर बुलाया, वहीं पकड़ा गया
मासिक बंधी देने से इंकार करने पर अवैध बजरी परिवहन का मुकदमा दर्ज करवाने और गिरफ्तार कर जेल भेजने की धमकियां दे रहा है। तब एसीबी ने शिकायत दर्ज कर 21 फरवरी को सत्यापन किया। इसके बाद सोमवार को ट्रेप रचा। जिसमें हेडकांस्टेबल अजीत सिंह ने परिवादी ब्रजमोहन को रिश्वत की रकम लेकर चेचट थाना परिसर में बने अपने सरकारी क्वार्टर बुलाया। जहां रिश्वत लेते ही एसीबी टीम ने आरोपी अजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उसकी पेंट की जेब से रिश्वत की रकम बरामद कर ली।

Post a Comment

0 Comments