31 मार्च तक राज्य के सभी हैफेड गोदामों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे: सुभाष कत्याल

अधिकारी व कर्मचारी पारदर्शिता से करें काम ,बायोमैट्रिक पर हाजिरी लगाना अनिवार्य।
योगेश जांगड़ा:गुरुग्राम।  हरियाणा राज्य सहकारी आपूर्ति और विपणन महासंघ समिति (हैफेड) के अध्यक्ष सुभाष कत्याल ने कहा कि प्रदेश भर में हैफेड के उत्पाद बनाने की 1000 नई यूनिटों की स्थापना की जाएगी। हैफेड उत्पादों की बिक्री बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं जिससे अधिक मात्रा में उत्पादों की आवश्यकता होगी  और इसके लिए नई यूनिटों की शुरुआत करना जरूरी है । इन उपायों से प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार के ज्यादा अवसर भी सृजित होंगे।

श्री कत्याल आज गुरुग्राम में हैफेड कार्यालय का निरीक्षण करने आए थे। उन्होंने इस दौरान हैफेड कार्यालय परिसर में एक गोदाम का भी उद्धघाटन किया । बताया गया कि यह गोदाम अब ऐमेजॉन व उड़ान कंपनी को किराए पर दिया जाएगा  जिससे हैफेड की आय बढ़ेगी।

श्री कत्याल ने  बताया कि पिछले वर्ष में हैफेड के उत्पादों की बिक्री लगभग 1 करोड़ 73 लाख के आसपास रही। उन्होंने सभी से कहा कि वहीं इस आंकड़े  में बढ़त लाए  और इस वर्ष में 3 करोड़ के आंकड़े को छूने के हर संभव प्रयास करें । उन्होंने कहा कि अगर गुरुग्राम जिले को देखा जाए तो यहां पर हर वर्ग का नागरिक रहता है और यहां की जनसंख्या भी अधिक है तो यह जाहिर सी बात है कि हैफेड के उत्पादों की भी बिक्री यहां पर और जिलों से अधिक होनी चाहिए ।

श्री कत्याल ने कहा कि गुरूग्राम को नंबर वन जिला बनाने के लिए यह आवश्यक है कि कार्यालय में  सभी पूरी लगन व ईमानदारी से अपना कार्य करें और उत्पादों कि बिक्री को बढ़ाने का हर संभव प्रयास करें । अधिकारियों एवं कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुए श्री कत्याल ने कहा कि यह अच्छी बात है कि जहां बिक्री पहले हैफेड के उत्पादों की बिक्री 30 टन प्रतिदिन थी वह अब 50 टन प्रतिदिन है , परंतु हमें इसी दिशा में काम करते हुए इसे 100 टन से आगे लेकर जाना है एवं हर नागरिक तक इन उत्पादों को पहुंचाना है ।

उन्होंने हैफेड के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ बैठक भी की जिसमें उन्होंने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आदेश दिए कि वे अपने कार्यालय में रोजाना बायोमैट्रिक सिस्टम से अपनी उपस्थिति दर्ज करें साथ ही मूवमेंट रजिस्टर को भी मेंटेन करें जिसमें वह कहीं आने जाने का रिकॉर्ड दर्ज करें । उन्होंने कहा कि वह अपना कार्य पूरी ईमानदारी और लगन के साथ करें ।

श्री कत्याल ने आज हैफेड कार्यालय स्थित बफर स्टाॅक का भी निरीक्षण किया, और वहां पर उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए  कि वह स्टोर में आने वाले लोगों को उत्पादों के बारे में  जागरूक करे एवं उन्हें यह बताएं कि हैफेड उत्पाद अन्य कंपनियों के उत्पादों से बेहतर और शुद्ध हैं। उन्होंने बताया कि हैफेड द्वारा निर्मित फोर्टीफाइड आटे में किसी भी प्रकार के मैदे  या अन्य प्रकार की मिलावट नहीं होती।  यह आटा विटामिन और प्रोटीन से भरपूर होता है । उन्होंने कहा कि इसी प्रकार लोगों के बीच हैफेड के उत्पादों की गुणवत्ता के बारे में जागरूकता होनी आवश्यक है, तभी वे इन उत्पादों की खरीददारी में रुचि दिखाएंगे।

 श्री कत्याल द्वारा आज कार्यालय के परिसर में  पौधारोपण भी किया गया,  जिससे उन्होंने एक स्वच्छ एवं स्वस्थ वातावरण को बढ़ावा देने का संदेश सभी कर्मचारियो तथा अधिकारियों को दिया। 

इस मौके पर उपस्थित हैफेड के जिला प्रबंधक एस एस सैनी ने बताया कि जल्द ही हैफेड के उत्पादों को गौशाला से भी जोड़ा जाएगा । श्री सैनी ने बताया कि गौशाला के बाहर हैफेड के उत्पादों से भरी बस खड़ी की जाएगी जिसमें आटा , तेल , गुड जैसी आदि कई अन्य वस्तुएं शामिल होंगी। उन्होंने बताया कि गौशाला में आने वाले लोग ग्यारह सौ रुपए की पर्ची कटवाने की बजाए बाहर खड़ी बस में से दाल, आटा, चीनी, गुड जैसी वस्तु लेकर दान कर सकते है जो एक नई प्रकार कि शुरूआत होगी ।

उन्होंने ये भी बताया कि गुरूग्राम में हैफेड के उत्पादों की बिक्री के लिए आउटलेट्स की संख्या बढ़ाई जाएगी। नए आउटलेट ज्यादा फुटफाॅल वाले स्थानों जैसे सरकारी इंस्टीट्यूट्स , भोंडसी पुलिस ट्रेनिंग सेंटर , इंडस्ट्री जंक्शन जैसे  होंडा , मारुति  सहित कई अन्य जगहों पर  हैफेड के आउटलेट्स खोले जाएंगे । इन आउटलेट्स पर खादी , वीटा व  हैफेड के उत्पाद उपलब्ध रहेंगे ।

श्री कत्याल ने कहा कि हैफेड में काम करने वाला हर कर्मचारी इसे अपने परिवार की तरह समझें और अपनी ड्यूटी को  जिम्मेदारी से पूरा करें। उन्होंने कहा कि हम सभी एक परिवार हैं और यहां हमें मिलकर हैफेड को एक नए मुकाम पर लेकर जाना है।

 बैठक में हैफेड के चेयरमैन सुभाष कत्याल , जिला प्रबंधक एसएस सैनी , सुरेश गुप्ता सहित  कार्यालय के सभी कर्मचारी एवं अधिकारी उपस्थित रहे ।

Post a Comment

0 Comments