कलेक्टर के बाद झुंझुनूं एसपी का भी तबादला, आईपीएस जगदीश चन्द्र होंगे झुंझुनूं के नए एसपी।

गहलोत सरकार ने देर रात जारी की IPS और IAS अफसरों की तबादला सूची,देखे किसे क्या मिली जिम्मेदारी
जयपुर(राज.)

कलेक्टर के बाद झुंझुनूं एसपी का भी हुआ तबादला।
आईपीएस जगदीश चन्द्र होंगे झुंझुनूं के नए एसपी।
एसपी गौरव यादव का कोटा शहर एसपी पद पर तबादला।
पांचवीं बटालियन आरएसी जयपुर के कमांडेंट पद से स्थानांतरित होकर आएंगे शर्मा।
एसपी यादव ने एक वर्षीय कार्यकाल किया पुरा।
हाल ही में हुआ था यादव का प्रमोशन।
नवाचार और अपराधियों की धरपकड़ को लेकर सक्रिय रहे थे एसपी यादव। गौरतलब है कि कलेक्टर रवि जैन का भी जयपुर शासन सचिव पद तबादला हुआ है।
उमरदीन खान को झुंझुनूं कलेक्टर के रूप में लगाया है।
राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करते हुए देर रात 36 आईपीएस (IPS) और 7 आईएएस (IAS) अफसरों के तबादले कर दिए.सरकार ने 4 जिलों के एसपी भी बदल दिए हैं. साथ में 2 जिलों के कलेक्टर भी बदल दिए गए. डूंगरपुर की जिला कलेक्टर बनाई गई नम्रता का तबादला निरस्त कर दिया है.नम्रता के स्थान पर कानाराम को डूंगरपुर का कलेक्टर बनाया गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर रेंज के आईजी सचिन मित्तल को हटा दिया गया है. मित्तल के स्थान पर अब एपीओ चल रहे नवज्योति गोगोई को जोधपुर रेंज का आईजी बनाया गया है 8 प्रमोटी आईपीएस को पहली बार मिली पोस्टिंग
सरकार ने 8 फरवरी आईपीएस अफसरों को पोस्टिंग दी. भारतीय पुलिस सेवा में पदोन्नति पर अरशद अली, आलोक श्रीवास्तव, शांतनु कुमार सिंह, देवेंद्र कुमार बिश्नोई, मारुति जोशी, विनीत कुमार बंसल, श्याम सिंह और नारायण तोगस को पोस्टिंग दे दी गई है. इन अफसरों का हाल ही में राज्य प्रशासनिक सेवा से भारतीय प्रशासनिक सेवा में प्रमोशन हुआ था.
दो तबादला सूची जारी करते हुए ,दिया कड़ा संदेश
एक दिन में ही दो बड़ी तबादला सूची जारी कर गहलोत सरकार ने बड़े स्तर पर प्रशासनिक सर्जरी कर दी है. दरअसल, राज्य में ग्राम पंचायत चुनाव के बाद ही ब्यूरोक्रेसी में बदलाव की अटकलें लगाई जा रही थी. तबादला सूचियों का मुख्यमंत्री स्तर पर कई बार मंथन हुआ. मुख्यमंत्री की हरी झंडी मिलते ही राज्य के कार्मिक विभाग ने आईएएस और आईपीएस अफसरों की तबादला सूची जारी कर दी गई।
गहलोत अफसरों की कार्यप्रणाली से दिखे नाखुश
दरअसल,मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अफसरों की कार्यप्रणाली से नाखुश बताए जा रहे थे. यही कारण है कि एक ही दिन में आईएएस और आईपीएस के बड़े स्तर पर तबादले किए गए हैं. बड़े स्तर पर प्रशासनिक सर्जरी करने के बाद अब मुख्यमंत्री अफसरों से काम चाहते हैं. जो अफसर सरकार के पैमाने पर खरे नहीं उतरेंगे उन्हें अहम जिम्मेदारी से हटा दिया जाएगा ।


Post a Comment

0 Comments