अब खिलेगा कमल, दिल्ली होगी भाजपा की - सट्टा बाजार, फलोदी


फलोदी सट्टा बाजार ने दिल्ली दी बीजेपी को । राजस्थान के फलौदी सट्टा बाज़ार ने दिल्ली में सरकार बदलने की भविष्यवाणी की है। इसके मुताबिक़ दिल्ली में अमित शाह की मेहनत रंग लाई है और शुरुआती दौर में पीछे दिखाई देने के बावजूद बीजेपी बड़े बहुमत के साथ जीत हासिल करने जा रही है। इसके मुताबिक़ 70 सदस्यों वाली दिल्ली विधानसभा में बीजेपी को 45 सीटें मिलेंगी। जबकि अभी प्रचंड बहुमत से सत्ता में बैठी आम आदमी पार्टी को सिर्फ़ 22 सीटों पर ही जीत हासिल होगी। फलौदी सट्टा बाज़ार ने जो सबसे बड़ी भविष्यवाणी की है वो ये कि कांग्रेस भी इस बार मुक़ाबले में है और उसके उम्मीदवार 3 सीटों पर जीत हासिल करने जा रहे हैं। फलौदी सट्टा बाज़ार अपने सही-सही अनुमान के लिए देशभर में चर्चित रहता है। 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव हों या 2019 के लोकसभा चुनाव, इन दोनों में फलौदी सट्टा बाज़ार के अनुमान बिल्कुल सही साबित हुए थे। दिल्ली की हर सीट पर जमीनी सर्वे ! फलौदी सट्टा बाज़ार की खूबी यह है कि ये एक-एक सीट पर अपने सटोरियों से जानकारी बटोरता है। ये जानकारी राजनीतिक पार्टियों से नहीं, बल्कि ज़मीनी सर्वे पर आधारित होती हैं। यही कारण है कि यहाँ के अनुमान आश्चर्यजनक तरीक़े से सही पाए जाते हैं। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए हर सीट के हिसाब से अनुमान जारी किया गया है। लोकसभा चुनाव के बाद दिल्ली पहला चुनाव है जिसे लेकर पूरे देश की नज़रें टिकी हुई हैं। बीजेपी ने इस चुनाव में अपनी पूरी ताक़त झोंक दी है और इसी का नतीजा है कि दिल्ली की ज़्यादातर सीटों पर वो ज़बरदस्त फाइट देने की स्थिति में है। अब एक नज़र देखते हैं, दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों की स्थिति

◆ BJP 45
◆ Aap 22
◆ Cong 3
【1】 नरेला BJP
【2】 बुराड़ी CONGRES
【3】 तिमारपुर AAP
【4】 आदर्श नगर BJP
【5】 बादली AAP
【6】 रिठाला BJP
【7】 बवाना (सु) BJP
【8】 मुंडका BJP
【9】 किराड़ी AAP
【10】 सुलतानपुरी (सु) AAP
【11】 नांगलोई BJP
【12】 मंगोलपुरी (सु) AAP
【13】 रोहिणी BJP
【14】 शालीमार बाग BJP
【15】 शकूरपुर बस्ती AAP
【16】 त्रिनगर AAP
【17】 वजीरपुर BJP
【18】 मॉडन टाउन BJP
【19】 सदर बाजार BJP
【20】 चांदनी चौक BJP
【21】 मटिया महल AAP
【22】 बल्लीमारन BJP
【23】 करोल बाग (सु) BJP
【24】 पटेल नगर (सु) BJP
【25】 मोती नगर AAP
【26】 मादीपुर (सु) AAP
【27】 राजौरी गार्डन BJP
【28】 हरी नगर BJP
【29】 तिलक नगर BJP
【30】 जनकपुरी BJP
【31】 विकासपुरी AAP
【32】 उत्तम नगर AAP
【33】 द्वारका BJP
【34】 मटियाला BJP
【35】 नजफगढ़ BJP
【36】 बिजवासन AAP
【37】 पालम AAP
【38】 दिल्ली कैंट BJP
【39】 राजेंद्र नगर BJP
【40】 नई दिल्ली AAP
【41】 जंगपुरा BJP
【42】 कस्तुरबा नगर BJP
【43】 मालवीय नगर BJP
【44】 आरकेपुरम BJP
【45】 महरौली CONGRES
【46】 छतरपुर BJP
【47】 देवली (सु) AAP
【48】 अंबेडकरनगर (सु) AAP
【49】 संगम विहार BJP
【50】 ग्रेटर कैलाश BJP
【51】 कालकाजी CONGRES
【52】 तुगलकाबाद AAP
【53】 बदरपुर BJP
【54】 ओखला BJP
【55】 त्रिलोकपुरी (सु) AAP
【56】 कोंडली (सु) BJP
【57】 पटपडग़ंज AAP
【58】 लक्ष्मी नगर BJP
【59】 विश्वास नगर BJP
【60】 कृष्णा नगर BJP
【61】 गांधी नगर BJP
【62】 शाहदरा BJP
【63】 सीमापुरी (सु) BJP
【64】 रोहतास नगर BJP
【65】 सीलमपुर BJP
【66】 घौंडा AAP
【67】 बाबरपुर BJP
【68】 गोकलपुर (सु) AAP
【69】 मुस्तफाबाद BJP
【70】 करावल नगर BJP

लोकसभा चुनाव में भी फलौदी सट्टा बाजार ने NDA को 350 सीट का अनुमान लगाया था, जो कि आश्चर्यजनक तरीके से सटीक बैठा था। फलौदी सट्टा बाजार ने अनुमान लगाया था कि राहुल गांधी अमेठी और वायनाड, दोनों ही सीटोें से हार सकते हैं। हालांकि यह बात पूरी तरह से सही नहीं रही थी। फलौदी का यह भी अनुमान था कि कांग्रेस पार्टी को 2019 के लोकसभा चुनाव में भी बाद लोकसभा में विपक्ष पार्टी बनने के मौका नही मिलेगा, कांग्रेस को कम से कम 55 सांसद सीटों की तुलना में कम जीत हासिल हो सकती है, जिससे विपक्ष के नेता के रूप में पहचाना जाना चाहिए।



Post a Comment

0 Comments