दांतारामगढ़ के 50 कोरोना योद्धा वर्तमान में दिल्ली पुलिस में दे रहे सेवा


प्रदीप सैनी, दांतारामगढ़
दांतारामगढ़ के 50 कोरोना योद्धा दिल्ली पुलिस में दे रहे सेवा, राजस्थान पुलिस के स्थापना दिवस पर विशेष
सीकर जिले में दांतारामगढ़ के पचास युवा वर्तमान में दिल्ली पुलिस में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। जिनमें से कुछ दिल्ली पुलिस के जवानों ने बताया कि मैं सागर घासल ग्राम पंचायत बाज्यावास  का रहने वाला हूँ तथा पुलिस थाना कीर्ति नगर दिल्ली में अपने सभी साथियों के साथ 24 घंटे थाने में ही रहते हुए 14 से 16 घटे ड्यूटी करते हुए जनता की सोशल डिस्टेन्सिग का पूरा ध्यान रखते हैं व लोगों को कोरोना के लिए जागरूक करते हुए मजबूर लोगों के खाने पीने का प्रबंधन करते हैं। जहां-जहां गलियों को कोरोनटाइन किया गया है वहाँ के सभी घरों में जरूरी सामान दुकानों से लाकर देते हैं तथा वरिष्ठ नागरिक जो दिल्ली पुलिस की सीनियर सिटीजन सेल से जुडे हुए हैं उन बुजुर्गों के खाने पीने व दवाइयों का प्रबंधन करना हमारी जिम्मेदारी समझते हैं। इस समय सभी साथी पुलिसकर्मियों का एक ही कार्य है कि कोई भूखा ना सोये। साथ-साथ अफवाहों से लोगों को बचाने के लिए अपने-अपने क्षेत्र में फोन पर अलर्ट रहते हैं। सभी  साथी पुलिसकर्मी लाॅकडाउन के बाद अपने परिवार से दूरी बनाए रखना उचित समझते हैं। महिला सिपाही संगीता निठारवाल गांव गोरधनपुरा की रहने वाली हैं जो दिल्ली पुलिस में पीसीआर वैन दक्षिणी दिल्ली में तैनात हैं जो लगातार 12 घटे की ड्यूटी करते हुए जनता को कोरोना से बचाने के लिए जागरूक करती हैं तथा काॅल मिलने पर तुरंत लोगों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहती हैं तथा जरूरतमंद लोगों को खाने-पीने का प्रबंधन करती हैं। काफी बार खाने-पीने का सामान ना होने व दवाओं की काल भी आती हैं तो हमारी टीम उन लोगों के सभी जरूरी सामान का प्रबंध भी करती हैं।हवलदार भीवाराम बुरडक गांव मेई का रहने वाला हैं जो दिल्ली पुलिस में पीसीआर वैन दक्षिणी दिल्ली में बतौर इंचार्ज तैनात हैं जो लगातार 12 घटे की ड्यूटी करते हुए जनता को कोरोना से बचाने के लिए जागरूक करते हैं तथा काॅल मिलने पर तुरंत लोगों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं तथा जरूरतमंद लोगों के खाने-पीने का प्रबंध करते हैं। काफी बार खाने-पीने का सामान ना होने व दवाओं की काॅल भी आती हैं तो हमारी टीम उन लोगों के सभी जरूरी सामान का प्रबंध भी करती हैं। दिल्ली पुलिस के सेवाभावी व ड्यूटी के प्रति समर्पित दांता के बगड़ियों की ढ़ाणी  के कांस्टेबल मुकेश कुमार बगड़िया साउथ दिल्ली के लोधी कॉलोनी थाने में लगातार 12 से 18 घंटे तक ड्यूटी कर रहे हैं। साथ ही सेवाभावी संगठनों के साथ मिलकर जरुरतमंद लोगो को खाना खिलाना और सभी आवश्यक सहायता कर रहे हैं। इन युवाओं के अलावा रामनिवास भामू दांता, राजेन्द्र कुमार भामू बड़का चारणवास दांता, विनोद कुमार बधाला, गोपाल  बधाला अमरपुरा, अशोक मंडीवाल, नवीन मंडीवाल, दिनेश मंडीवाल, विजय शर्मा खातीवास, भीवाराम बुरड़क, रामेश्वर बालोडिया, सीताराम खीचड़ गुवारडी दांतारामगढ़, रामनिवास राड़ सुरेरा, कैलाश धायल, श्रवण धायल पचार, शंकर बाजिया बनाथला, सागर घासल, महेन्द्र घासल बाज्यावास, छोटूराम, महेन्द्र बिजारणियां बल्लूपुरा बाय, रोशन लाल बिजारणियां, राधेश्याम मीणा दूधवा, जगदीश निठारवाल बांसडी, जालूराम रॉयल गोपीनाथपुरा, महेश रूंथला, श्रवण गढ़वाल गिलो की ढाणी, सागर मूंड, ओंकार खाचरिया खाटूश्यामजी इत्यादि इनके साथ 50 से भी ज्यादा दांतारामगढ़ के पुरुष और महिला दिल्ली पुलिस में अपनी सेवाएं दे रहे है।



Post a Comment

0 Comments