अपात्र लोगों द्वारा सरकारी सहायता लेने की होड़ पर प्रशासन हुआ सख्त।

अपात्र लोगों द्वारा सरकारी सहायता लेने की होड़ पर प्रशासन सख्त।

झुंझुनूं :-राज्य व केन्द्र सरकार की सामाजिक सहायता योजनाओं में पेंशन आदि की सहायता लेने वाले व्यक्तियों द्वारा कोरोना संकट के दौरान राज्य सरकार द्वारा दी गई तत्कालिक सहायता लेने की होड़ मची हुई है। जिले में ऐसे परिवार जो पारिवारिक पेंशन प्राप्त नही कर रहे हैं तथा बीपीएल, वेंडर, दिहाड़ी मजदूर की श्रेणी में आते हैं, उनका का सर्वे करवाने पर करीब सात हजार लोगों की सूची बनाई गई हैं। जिला कलेक्टर उमरदीन खान द्वारा इन परिवारों के खातों में प्रथम क़िस्त के रूप में एक-एक हजार रुपये ट्रांसफर किये गये है।जिन लोगों के बैंक खाते नहीं है, उन्हें उपखण्ड अधिकारियों द्वारा सर्वे करने वाले कर्मचारियों के माध्यम से नकद वितरित करवाये जायेंगे। यदि किसी पेंशन धारक या अपात्र व्यक्ति को राशि वितरित की जाती हैं तो इसके लिए सर्वे करने तथा वितरण करने वाला कर्मचारी जिम्मेदार होगा।
जिले के कुल पात्र परिवारों में से आधे व्यक्ति झुंझुनूं नगर परिषद व उदयपुरवाटी नगरपालिका क्षेत्र के होने के कारण आपदा राहत के प्रभारी मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामनिवास जाट द्वारा जिले के सभी विकास अधिकारियों तथा नगरीय निकायों के अधिशासी अधिकारियों को सावचेत किया गया है कि राशि वितरण से पूर्व पात्रता की जांच एक बार और करवा लें। कुछ  सक्षम व्यक्तियों द्वारा हर योजना में लाभ प्राप्त करने की प्रवृत्ति पर प्रभावी रोक के लिये जिला प्रशासन द्वारा टेस्ट चेकिंग भी करवाई जा रही है!

Post a Comment

0 Comments