सोशल डिस्टेंसिंग का पालन लोगो को नही कराया तो अधिकारी कर्मचारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई : सुमन देवी ।

अजय कुमार विद्यार्थी:भरतपुर:डीग: कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए जहां एक ओर प्रशासन के अधिकारी कस्बे में लॉक डाउन व सोशल  डिस्टेंसिगं की पालना कराने में जी जान से जुटे हुऐ हैं। वही ।

डीग स्थित राजकीय चिकित्सालय में सोशल डिस्टेसिग की धज्जियाॅ उड़ती नजर आ रही हैं।  प्रभारी अधिकारी सोशल डिस्टेंस को  पालन करने मे असमर्थ से दिखाई दे रहे हैं ।

प्रातः चिकित्सालय खुलने के दौरान टिकट विंडो पर भारी भीड़ होने की जानकारी मिलने पर  उप जिला मजिस्ट्रेट सुमन देवी व कार्यपालक मजिस्ट्रेट सोहन सिंह नरूका ने पुलिस टीम के साथ  चिकित्सालय पहुंचकर भारी भीड़ को व्यवस्थित कर सोशल डिस्टेंसिग का पालन कराया कराया I
इस दौरान कार्यपालक मजिस्ट्रेट सोहन सिंह नरूका ने चिकित्सकों से बात कर रजिस्ट्रेशन विंडो को अंदर से बाहर कराने के लिए निर्देश दिए ताकि लोगों को स्पेस मिल सके । उन्होंने वहां रखे वाहनों को व्यवस्थित करने के निर्देश दिए ।
 उप जिला मजिस्ट्रेट सुमन देनी  ने प्रभारी और चिकित्सा अधिकारियो से कहा कि इस कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है और इसमें कहीं भी कोई कोताही बरती गई तो विभागीय अधिकारी कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।
इस दौरान उप जिला मजिस्ट्रेट सुमन देवी ने कस्बे में राउंड के दौरान
बेवजह मोटरसाइकिल पर घूमने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस को
कार्रवाई करने के निर्देश दिए ।

पुलिस सब इंस्पेक्टर निरंजन सिंह की टीम ने सिंह पोल गेट मेला ग्राउंड  बड़ा बाजार नई सड़क पर सख्ती दिखाते हुए मोटरसाइकिलों के पहियों के बाल निकाल दिये
 तथा दुबारा मिलने पर
वाहन जप्त कर  कार्यवाही करने की चेतावनी दी
कोरोना वायरस संक्रमण में जरूरतमंद व्यक्तियों की मदद के लिए समाजसेवी भामाशाह आदि लोगों का सिलसिला बना हुआ है।

 डीग पंचायत समिति मे श्री बल्लभ राम शर्मा मानव सेवा समिति ग्राम अऊ के कोषाध्यक्ष हेमेंद्र शर्मा कोरोना वायरस पीड़ित लोगों की मदद के लिए  विकास अधिकारी दीपाली शर्मा को 31 हजार रुपए का  चेक व बजरंग शिक्षण समिति की ओर से पण्डित महेश शर्मा द्वारा पॉच हजार रुपये की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में देने के लिये डीग उप जिला मजिस्ट्रेट सुमन देवी को चेक प्रदान किया ।
डीग  सहित ग्रामीण इलाकों में भी कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये लोग अपने अपने तरीके से लोगों को जागरूक कर  घर पर रहने  मास्क बनाकर गांव और गलियों में लोगों को वितरण कर रहे हैं। तथा वेरिकेट लगाकर वाहर से आने वाले लोगों पर चौबीस घंटे नजर रख रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments