शिक्षा विभाग के कार्मिक करें लॉक डाउन की सख्त पालना, शाला दर्पण के माध्यम से दे उपस्थिति


शिक्षा विभाग के कार्मिक करें लॉक डाउन की सख्त पालना
शाला दर्पण के माध्यम से दे उपस्थिति की सूचना ।
झुंझुनू, 12 अप्रेल। राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमण की रोकथाम के लिए शासकीय निर्देशानुरूप घोषित लॉकडाउन के दौरान अपने मुख्यालय से बाहर गए अधिकारी/कार्मिकों को लॉकडाउन के दौरान किसी भी तरह की ड्यूटी पर लगाए जाने से उन्हें मुख्यालय पर लौटने हेतु अनावश्यक लम्बी यात्राएं करनी पड़ती है, जिससे लॉक डाउन का उद्देश्य विफल होता है एवं संक्रमण का खतरा बना रहता है। माध्यमिक एवं प्रारम्भिक शिक्षा राजस्थान बीकानेर के निदेशक आई.ए.एस. सौरभ स्वामी ने अधीनस्थ कार्यालयों एवं जिला प्रशासन से यह आह्वान किया है कि वह केवल मुख्यालय पर उपस्थित कार्मिकों की ही ड्यूटी लगाये। निदेशक ने सभी पीईईओ,,संस्थाप्रधान, कार्मिक, जो वर्तमान में अपने मुख्यालय पर उपस्थित नहीं है तथा अपने परिवार के साथ अन्य जिलों में/मुख्यालय से अन्यत्र निवास कर रहे है, लॉक डाउन अवधि में मुख्यालय पर लौटने के लिए लम्बी यात्रा नहीं करेंगे तथा लॉक डाउन समाप्ति के पश्चात ही मुख्यालय के लिए प्रस्थान करेंगे। उन्होंने सभी पीईईओ व संस्था प्रधानों को निर्देश दिए है कि उपस्थिति संबंधित सूचना (मुख्यालय पर अधिकारी/कार्मिक के उपस्थित होने अथवा नहीं होने) शाला दर्पण के माध्यम से 13 अप्रेल सायं 5 बजे तक आवश्यक रूप से भिजवाएं। इस संबंध में पीईईओ व संस्था प्रधान मुख्यालय के आस-पास के गांव, कस्बों, शहरों में निवास कर रहे अधिकारी/कार्मिक, जो कार्य के लिए मुख्यालय पर सहज उपलब्ध हो सके, उनको मुख्यालय पर उपस्थित मानते हुए उपस्थिति सूचना देवें। यह सूचना प्रत्येक कार्मिक से दूरभाष पर बात करके ही ऑनलाईन अंकन करें। किसी भी कार्मिक को उक्त कार्य के लिए विद्यालय में उपस्थित होने के लिए निर्देशित नहीं करें। यह सूचना संबंधित मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को भिजवाना सुनिश्चित करें।

Post a Comment

0 Comments