भूखों, वंचितों का पेट भरने का काम कर रही मानव आवाज़ संस्था :दीपा मलिक

भूखों, वंचितों का पेट भरने का काम कर रही मानव मानव संस्था

-लॉकडाउन में पहली बार घर से निकलकर संस्था का जनहित कार्य देखने पहुंची
-पदमश्री एवं खेलरत्न दीपा मलिक ने मानव आवाज के कार्य को सराहा
-जनता से बेवजह बाहर नहीं निकलने की अपील
-समर्थ लोगों से जरूरतमंद लोगों की सहायता करने को भी कहा
-रोजाना 1500 लोगों को आवंटित किया जा रहा है खाना

गुरुग्राम। लॉकडाउन में पहली बार अपने घर से बाहर निकली खेलरत्न अवार्डी एवं पदमश्री दीपा मलिक ने मानव आवाज के भोजन आवंटन के कार्य को देखा और सराहा। उन्होंने कहा कि यह सच में ही मानव की आवाज को सुनकर अपनी संस्था के नाम को सार्थक कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कि वे बेवजह घरों से बाहर निकलकर लॉकडाउन का उल्लंघन ना करें।
मंगलवार को यहां एमजी रोड स्थित व्यापार सदन परिसर में मानव आवाज संस्था की ओर से नियमित रूप से आयोजित किए जा रहे खाना के कार्यक्रम में दीपा मलिक पहुंची थी। यहां वंचितों, जरूरतमंदों को रोजाना खाना आवंटित किया जाता है। मानव आवाज संस्था के संयोजक एडवोकेट अभय जैन की ओर से किए जा रहे इस कार्य की सराहना करते हुए दीपा मलिक ने कहा कि यह बहुत ही नेक कार्य है। उन्होंने कहा कि वे खुद भी विलिंग हैप्पीनेस संस्था चलाती हैं और लोगों की सहायता करती हैं। उनकी बेटी का भी इसमें योगदान है। उन्होंने मौके पर मौजूद और पूरे देश में ड्यूटी पर तैनात पुलिस को भी सेल्यूट करते हुए कहा कि इनके बिना लॉकडाउन की सफलता संभव नहीं है। बहुत बेहतर ड्यूटी पुलिस दे रही है। यहां पर सभी को उन्होंने सोशल डिस्टेंस रखने का भी अनुरोध किया। हालांकि यहां पर सफेद पेंट से सोशल डिस्टेंस के हिसाब से गोल दायरे बनाकर भोजन लेने वालों को सोशल डिस्टेंस मैंटेन रखने का फार्मुला दे रखा है और वे भी बहुत ही सभ्यता के साथ यहां पर भोजन लेते हैं।
दीपा मलिक ने आगे कहा कि उनका समर्थ लोगों से आग्रह है कि वे किसी न किसी रूप में इस दौर में समाजसेवा में अपना योगदान दें। यह बहुत जरूरी है। हम सबके सहयोग से भी भूखों का पेट भर रहा है। जो गरीब रोटी नहीं कमा सकते, वो हमारे ऊपर ही आश्रित हैं। लॉकडाउन में यहां फंसे हुए संगरूर के एक ट्रक चालक जब खाना लेने पहुंचे तो उससे दीपा मलिक ने बात की। उन्होंने कहा कि सभी ऐसे लोगों की हमें मदद करनी है, जो इस तरह से भी फंसे हुए हैं। उन्होंने सभी देशवासियों से यह आग्रह किया कि सभी लॉकडाउन का पूरा पालन करें। कोविड19 को लेकर सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी का पूरा पालन करें।
नियमों का पालन करके ही आवंटित करते हैं खाना: अभय जैन
इस मौके पर मानव आवाज संस्था के संयोजक एडवोकेट अभय जैन ने बताया कि 26 मार्च से 1000 लोगों से खाना देना शुरू किया गया था। अब 1500 लोगों को राजीव नगर, द्वारका एक्सप्रेस-वे सेक्टर-106 और व्यापार सदन में खाना दिया जा रहा है।  जिनके पास मास्क नहीं, उन्हें मास्क और सेनिटाइजर भी देते हैं। नियमों का पूरा पालन करके ही खाना आवंटित करते हैं। संस्था का प्रयास यही है कि किसी को भूखा नहीं रहने देना। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के साथ ही उन्होंने अपनी यह समाजसेवा शुरू कर दी थी। प्रयास यही हैं कि जब तक लॉकडाउन रहे, तब तक जनसेवा चलती रहे। सभी के हाथ धुलवाए जाते हैं।

कूपन के हिसाब से खाना, फल दिए जाते हैं, ताकि अफरा-तफरी ना मचे।
इन महानुभावों का संस्था को मिल रहा सहयोग
मानव आवाज संस्था के संयोजक एडवोकेट अभय जैन ने बताया कि जरूरतमंदों का पेट भरने के लिए संस्था के साथ एडवोकेट कुलभूषण भारद्वाज, देवेंद्र जिंदल, मुस्कान केयर संस्था से नीरज बंसल, नाथूपुर से राजकपूर यादव, राजेंद्रा पार्क से रमेश जैन, समाजसेवी नवीन गोयल, अनिल यादव, उमेश जैन, सेक्टर-14 से अशोक जैन, नीरज जैन, राकेश जैन, एडवोकेट अशोक गोयल, लव अग्रवाल, दिनेश गर्ग व आशु गुप्ता, संस्था के सदस्य हेमंत वशिष्ठ, डा. आर्यन मित्तल, ज्योति डाबला, एडवोकेट बिजेंद्र गर्ग का आर्थिक, शारीरिक सहयोग संस्था को मिल रहा है।


फोटो: गुरुग्राम के एमजी रोड स्थित व्यापार सदन में मानव आवाज संस्था की ओर से जरूरतमंदों को भोजन आवंटित करती पदमश्री एवं खेल रत्न दीपा मलिक।

Don't miss any important news about India and World
LIke and Share

https://www.facebook.com/pages/Ajeybharat/436212523123198

https://twitter.com/ajeybharatnews

https://www.youtube.com/channel/UCkIIj6QS45EJ

https://chat.whatsapp.com/ClaOhgDw5laFLh5mzxjcUH

https://www.ajeybharat.com

Post a Comment

0 Comments