मेहनतकश एवं स्वाभिमानी लोगों तक पहुंचाया राशन,आंखें हुई नम, शब्द पड़े कम

गुरुग्राम।
कोरोना वायरस कोविड-19 के चलते ऊर्जा समिति द्वारा 26 मार्च से निरंतर ही राशन का वितरण किया जा रहा है।
इसी कड़ी में मेहनतकश एवं स्वाभिमानी जरूरतमंदों तक भी राशन पहुंचाया गया। सैक्टरों और निजी कॉलोनियों में कपड़े धोने व प्रेस करने वाले, गाड़ी साफ करने वाले, चप्पल जूती गांठने वाले, घरेलू कार्य करने वाले तथा छोटे-छोटे कार्य करने वाले जरूरतमंद लोगों तक राशन पहुंचाया गया।


समिति के महासचिव संजय कुमार चुघ ने बताया कि गुरुग्राम के अनेक क्षेत्रों में  मेहनत कर भरण पोषण करने वाले जरूरतमंद लोगों को लगभग 17 किलो राशन की थैलियां दी गई। तांकि तालाबंदी 3 में उन्हें दोबारा राशन की जरूरत ना पड़े।
इस राशन की थैली में 5 किलो आटा, 5 किलो चावल, 2 किलो दाल, 2 किलो चीनी, एक लीटर खाना बनाने का तेल, एक किलो नमक, 250 ग्राम टाटा चाय पत्ती, हल्दी, मिर्च, जीरा, 100 ग्राम कॉलगेट टूथपेस्ट, डेटॉल एवं रिन साबुन इत्यादि हैं।

आंखें हुई नम, शब्द पड़े कम

ऊर्जा समिति के वालंटियर ने मेहनती एवं स्वाभिमानी लोगों को नमन करते हुए अपना अनुभव बताया कि जब राशन वितरण किया जा रहा था तब एक परिवार ने सब्र का परिचय देते हुए दूसरे परिवारों को राशन देने का आग्रह किया। उसने स्वयं कहा कि हमारे घर अभी आटा उपलब्ध है। कृपया यह दूसरों को दे दे और स्वयं अपने लिए केवल अचार ही मांगा। तब ज्ञात हुआ कि उनके घर में बमुश्किल केवल एक किलो ही आटा होगा अन्य राशन नहीं था।

ऐसे स्वाभिमानी एवं मेहनतकश लोगों की त्याग भावना को देख कर वालंटियर कुछ भी ना बोल पाये और झुकी हुई नम आंखों से उस परिवार के साथ सब परिवारों को राशन की थैली भेंट की और फिर अन्य परिवारों की सेवा में आगे चल पड़े।

Post a Comment

0 Comments