लॉक डाउन को लेकर ना फैलाएं किसी तरह का भ्रम, पता चलते ही सीधे भेजा जाएगा जेल : एसपी

-सोशल मीडिया पर पुलिस की एक टीम रख रही विशेष निगरानी 
-एसपी ने लोगों से की अपील : सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप करें लॉक डाउन की पालना 
फोटो संलग्न : एसपी नाजनीन भसीन। 
धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। लॉकडाउन का तीसरा चरण लागू होते ही जिला पुलिस ने सोशल मीडिया पर ओर अधिक तरीके से पैनी नजर रखनी शुरू कर दी है। 
एसपी नाजनीन भसीन ने कहा कि लॉकडाउन से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी सोशल मीडिया पर पोस्ट या शेयर करने से पहले उसकी सत्यता को परख लें, अगर किसी तरह की भ्रम या फिर अफवाह वाली पोस्ट पाई गई तो ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हुए उसे सलाखों के पीछे डाला जाएगा। एसपी ने कहा कि लॉकडाउन को लेकर सरकार व जिला प्रशासन की तरह से समय-समय पर गाइडलाइन जारी की जाती है। इन्हीं गाइडलाइन के अनुरूप चलते हुए लोग लॉकडाउन की पालना करें। 
उन्होंने कहा कि किसी तरह की कोई जानकारी जो गाइडलाइन में नहीं है, इस तरह की जानकारी सोशल मीडिया पर वायरल की तो उसके खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। एसपी ने कहा कि किसी भी एक झूठी जानकारी से भीड़ एकत्रित हो सकती है। ऐसी सूरत में कोरोना का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए लोगों को खुद जागरूक होने की जरूरत है। यह समय सरकार व जिला प्रशासन के साथ मिलकर चलने का है। कुछ असामाजिक तत्व माहौल खराब करने की कोशिश कर सकते हैं, जिनसे लोगों को सचेत रहे। 
अगर इस तरह की पोस्ट किसी व्यक्ति को नजर भी आए तो वह भी पुलिस को सूचित कर सकता है, हम तुरंत एक्शन लेंगे। वैसे भी हमारी एक टीम काफी समय से सोशल मीडिया पर नजर रखे हुए है। एसपी ने कहा कि हमने पहले भी अफवाह फैलाने वाले लोगों पर केस दर्ज करते हुए उन्हें जेल भेजा है। अगर फिर किसी ने ऐसी हरकत की तो उसपर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी। 
---------------- 

Post a Comment

0 Comments