एचसीए के प्रदेश महासचिव कुलदीप बोले : गलत तरीके से लिये जा रहे पैसे


एचसीए ने खेल मंत्रालय भारत सरकार, फिडे व आइओए को भेजी शिकायत,
ऑनलाइन शतरंज स्पर्धाओं में पैसे लेने वाले हो जायें सावधान,
आयोजको की वेबसाइट पर फ्री का संदेश, कॉल पर मांग रहे फीस,

नही होने देंगे पैसे की लुटमार : एचसीए
एचसीए के प्रदेश महासचिव बोले : गलत तरीके से लिये जा रहे पैसे

कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में खेल प्रतियोगिताएं ठप्प पड़ी है। लेकिन शतरंज ने ऑनलाइन टेक्नोलॉजी की बदौलत इस आपदा को बेहतर अवसर में बदलते हुए अब जिला, राज्य, नेशनल स्तर के साथ-साथ पूरे विश्व की ऑनलाइन शतरंज स्पर्धाएं नि:शुल्क आयोजित  हो रही है। हम सुरक्षित रहते हैं, हम रचनात्मक रहते हैं तथा हम ऑनलाइन शतरंज खेलते हैं इस नारे के साथ हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) ऑल इंडिया ऑनलाइन शतरंज स्पर्धाएं आयोजित करवा रही हैं।

ऑनलाइन टेक्नोलॉजी के कारण शतरंज भारत व विश्व में तेज गति से आगे बढ रहा है। कोरोना आपदा के समय भारत देश से प्रतिदिन लाखों व्यक्ति ऑनलाइन शतरंज खेलते है। लेकिन अब कुछ लोगो ने इसका गलत फायदा उठाना शुरू कर दिया है। आयोजक अपनी  वेबसाइट पर तो फ्री का संदेश देकर लोगो को शतरंज खेलने के लिये आमंत्रित कर रहे है, लेकिन एंट्री के लिये जब उनको फोन किये जाते है तो खिलाडिय़ों से एंट्री के नाम पर पैसो की मांग की जाती है।

हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) के प्रदेश महासचिव कुलदीप ने बताया कि आये दिन उनके पास इस तरह की शिकायतें आ रही है तथा जब उन्होंने इस पर कार्य किया तो शिकायत को सच पाया। देश में ऑल इंडिया चेस फेडरेशन के दो गुट है। जल्द ही चुनाव होने वाले है। इनमें से एक गुट से संबंधित लोगो पर खिलाडिय़ों से गलत तरीके से पैसे लेने के आरोप लग रहे है। हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) ने इसकी शिकायत खेल मंत्रालय भारत सरकार, विश्व शतरंज फेडरेशन (फिडे) व भारतीय ओलंपिक संघ (आइओए) से करते
हुये इस तरह के लोगो पर तुरंत कार्रवाई की मांग की है, ताकि ऐसे लोगो पर नकेल लगाई जा सके।

आयोजको की वेबसाइट पर फ्री का संदेश, कॉल पर मांग रहे फीस
हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) के प्रदेश महासचिव कुलदीप ने बताया कि ऑल इंडिया चेस फेडरेशन भरत सिंह गुट ने अपनी ऑफिसियल वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू एआइसीएफ डॉट ओआरजी डॉट इन तथा अपने ऑल इंडिया चेस फेडरेशन नाम से फेसबुक पेज पर  29 जून को बंगाल से ऑल इंडिया ऑनलाइन शतरंज स्पर्धा नि:शुल्क एंट्री से कराने का संदेश पूरे देश में प्रचारित किया जा रहा है लेकिन जब आयोजक के फोन नंबर पर खिलाड़ी एंट्री के लिये फोन कर रहे है तो खिलाडिय़ों से एंट्री के लिये पैसो की डिमांड की जा रही है

जो सरासर गलत है। देश भर में प्रतिदिन ऐसी कई ऑनलाइन स्पर्धाओं का आयोजन किया जाता है। इस प्रकार आये दिन ऐसे टूर्नामेंटस से लाखों रूपये का घोटाला होता है। देश में एक ओर वे लोग है जो प्रतिदिन फ्री एंट्री से नगद ईनामी राशि के टूर्नामेंटस आयोजित करते है  तथा दूसरी तरफ वे लोग जिनका एकमात्र उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा पैसे लूटना है। ऐसे लोगों का शतरंज से कोई वास्ता ही नही है।

हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) के प्रदेश महासचिव कुलदीप ने बताया कि इस फ्री ऑनलाइन टेक्नोलॉजी का आविष्कार करने वाली लिचेस डॉटओआरजी एक फ्रेंच इंटरनेशनल ओरगेनाइजेशन है तथा सभी ऑनलाइन टूर्नामेंटस व अन्य सभी फीचरस पूरी तरह से फ्री
है। लीचेस के उद्देश्य अनुसार इसके सभी फिचरस सदैव विश्व में सभी के लिये फ्री दिए जाते रहेगे, लेकिन गलत लोग पैसे कमाने के लिए देश भर के खिलाडिय़ों को गुमराह कर प्रतिदिन लाखों रूपये लूट रहे है।

नगद ईनामी राशि की ऑल इंडिया ऑनलाइन शतरंज चैंपियनशिप 30 जून से हरियाणा में
एचसीए चेकमेट कोरोना वायरस पंडित राम चन्द्र मैमोरियल ऑल इंडिया ऑनलाइन शतरंज चैंपियनशिप 30 जून से आयोजित की जाएगी। इसमें देश के सभी राज्यों के खिलाडियों का प्रवेश नि:शुल्क किया जाएगा। इसके लिये एचसीए वाट्सएप नंबर 98129 20931 पर

नि:शुल्क रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया चालू है। इस ऑनलाइन शतरंज स्पर्धा की बिसात पर देश से हजारों खिलाड़ी कोरोना को शह-मात करेंगे। देश के सभी राज्यों के हजारों खिलाडियों के बीच ऑनलाइन शतरंज मुकाबले आयोजित होगे। स्पर्धा के टॉप 30 विजेताओं को एचसीए की

ओर से ई-सर्टीफिकेट तथा हरित फाउंडेशन के सहयोग से नगद राशि दी जायेगी। चैंपियनशिप की पूरी जानकारी एचसीए की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट इंडियनचेस डॉट ओआरजी पर देखी जा सकती हैं।

Post a Comment

0 Comments