जल्द स्वस्थ हो जनसेवा में जुटेंगे सांसद संजय भाटिया: बोधराज सीकरी

-कोरोना संक्रमित हुए हैं संजय भाटिया

गुरुग्राम। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं समाजसेवी बोधराज सीकरी ने करनाल से सांसद संजय भाटिया के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। उन्होंने कहा कि वे जल्द ही ठीक होकर फिर से जनसेवा में जुटेंगे। उनके संसदीय क्षेत्र से लेकर पूरे हरियाणा में उनके जल्द दुरुस्त होने की प्रार्थना उनके प्रशंसक, पार्टी कार्यकर्ता, नेता कर रहे हैं।

बोधराज सीकरी ने कहा कि सांसद संजय भाटिया भारत सरकार में स्टैंडिंग कमेटी ऑन होम अफेयर्स के सदस्य, ज्वायंट कमेटी ऑन सेलरीज एंड अलाउंसेज ऑफ मेंबर ऑफ पार्लियामेंट, कंसलटेटिव कमेटी, मिनिस्ट्री ऑफ माइक्रो, स्माल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज के मेंबर भी हैं। यानी उनके कंधों पर अपने संसदीय क्षेत्र के साथ भारत सरकार में ये सब जिम्मेदारियां हैं। इस लिहाज से अपने संसदीय क्षेत्र के साथ-साथ सांसद संजय भाटिया पूरे देश के लिए अहम व्यक्तित्व हैं। पूरे भारत में अधिकाधिक मतों से जीत दर्ज करने का दूसरे नंबर पर उनका  नाम है। श्री सीकरी ने कहा कि सांसद संजय भाटिया ने कोरोना महामारी में नियमों का पालन करते हुए लगातार जनसेवा की। 

लॉकडाउन में भी उन्होंने अपने क्षेत्र में जनता के साथ लगातार संपर्क बनाए रखा। उन्होंने एक जनप्रतिनिधि होने के नाते, अपनी पूरी क्षमता, कार्यकुशलता के साथ जनता तक राहत पहुंचाई। सामाजिक मुद्दों पर वे हमेशा ही विचार करने के साथ-साथ मंत्रणा करते हैं, ताकि जनता का अधिक से अधिक भला किया जा सके। पानीपत में जन्मे संजय भाटिया अपनी इन्हीं खूबियों की वजह से अपने संसदीय क्षेत्र ही नहीं बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी लोकप्रिय हैं। कृषि के क्षेत्र में भी उनकी रुचि है। वे किसान परिवार से आते हैं। भारतीय जनता पार्टी में इन्होंने प्रदेश महामंत्री के तौर पर भी काम किया है और पार्टी को मजबूती दी है। 

बोधराज सीकरी का कहना है कि बेशक संजय भाटिया केंद्र सरकार में हों, लेकिन हरियाणा सरकार के साथ मिलकर भी वे बेहतरी से कार्य करते हैं। उनका मुख्य उद्देश्य प्रदेश में खुशहाली, प्रदेश में लोगों को सुविधाएं देना है। इसके लिए वे केंद्र व राज्य सरकार के साथ पूरे तालमेल के साथ काम करते हैं। सांसद संजय भाटिया प्रांत व केंद्र सरकार के बीच में एक सुदृढ़ कड़ी का काम करते हैं। उनका मृदुभाषी स्वभाव, उनकी कार्यशैली, उनकी कर्मठता एवं जुझारूपन उनके व्यक्तित्व को चार चांद लगाते हैं।

Post a Comment

0 Comments