प्लाज्मा दान करने को आगे आएं ठीक हुए लोग: नवीन गोयल

-प्लाज्मा डोनेशन को सरकार का पूर्ण सहयोग दे रही कैनविन फाउंडेशन
-अब तक करीब एक दर्जन लोगों को प्लाज्मा करवाए हैं डोनेट
-स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर नियमित तौर पर कोरोना जांच शिविर भी लगा रहे
-कोरोना महामारी काल में शुरू से ही सक्रिय है कैनविन फाउंडेशन

गुरुग्राम। कोरोना महामारी काल में सरकार के साथ कैनविन फाउंडेशन अपनी अहम भूमिका निभा रही है। कोरोना से ग्रसित होकर ठीक हो चुके लोगों के प्लाज्मा डोनेट करवाने को संस्था ने व्यापक पैमाने पर अभियान छेड़ रखा है। अपने स्तर पर प्लाज्मा डोनेट के लिए प्रचार, लोगों में जागरुकता समेत तमाम तरीकों से संस्था इस काम में लगी है। कैनविन शहर की एक मात्र ऐसी संस्था है, जो कि कोरोना महामारी काल में शुरुआत से लेकर अब तक किसी न किसी रूप में जनहित के कार्य कर रही है।

कैनविन फाउंडेशन के सह-संस्थापक नवीन गोयल ने कहा है कि गुरू द्रोण की नगरी में दानवीरों की कमी नहीं है। उनकी कोरोना संक्रमित होकर ठीक हुए लोगों से अपील है कि वे प्लाज्मा डोनेट करने को आगे आएं। इस बीमारी को अवसर मान कर दूसरों का जीवन बचाएं। क्योंकि कोरोना संक्रमितों को ठीक हुए लोगों का ही प्लाज्मा चढ़ाया जा सकता है। कोरोना संक्रमितों को कोरोना से ठीक हुए लोगों का प्लाज्मा डोनेट करने की शुरुआत भी कैनविन फाउंडेशन की ओर से ही की गई। 31 जुलाई 2020 से प्लाज्मा डोनेट करने के लिए कादीपुर में रोटरी प्लाज्मा बैंक की शुरुआत हुई। उसी दिन कैनविन ने 4 लोगों के प्लाज्मा डोनेट करवाकर अच्छी शुरुआत की थी। उसके बाद से लगातार कैनविन की टीम इस कार्य में दिन-रात मेहनत कर रही है। कोरोना को लेकर जिस तरह से संस्था ने व्यक्तिगत तौर पर, तकनीक का सहारा लेकर, प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से, पंपलेट से, सोशल मीडिया के माध्यम से जनजागरण अभियान चलाया है, उससे लोग जागरुक भी हुए हैं। नवीन गोयल के मुताबिक कोरोना महामारी के दौरान समाजसेवा के अन्य कार्य भी उन्होंने शुरू किए। खुद मंडलायुक्त डा. अशोक सांगवान, उपायुक्त अमित खत्री, सिविल सर्जन डा. विरेंद्र यादव ने भी कैनविन के कार्यों की सराहना की है।   

संस्था द्वारा अब तक दी गई सेवाओं का विवरण
नवीन गोयल ने बताया कि संस्था ने कोरोना काल में अब तक 25320 लोगों तक होम्योपैथी दवाओं का वितरण करने के साथ 15 फीसदी छूट पर 7535 लोगों को दवाओं की होम डिलीवरी कराई है। 2500 से अधिक लोगों का कैंप लगाकर कोरोना टेस्ट कराया गया है। करीब 1000 लोगों की ऑनलाइन कंसल्टेंसी की गई। लोगों को घर बैठे एक्स-रे, ईसीजी व एबीजी की जांच सुविधा भी दी गई। अब तक 683 लोगों का लैब टेस्ट किया गया। एम्बुलेंस सेवा 1800 लोगों को दी गई। वहीं 7 लोगों का प्लाज्मा भी डोनेट कराया गया है।

Post a Comment

0 Comments