विलक्षणा एक सार्थक पहल समिति और दादा रिकॉर्डस ने शुरू की नई पहल

विलक्षणा एक सार्थक पहल समिति और दादा रिकॉर्डस ने शुरू की नई पहल

भिवानी। सामाजिक संस्था विलक्षणा एक सार्थक पहल समिति और दादा रिकॉर्डस ने हरियाणवी लोक संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए एक नई पहल की शुरुआत की। जिन हरियाणवी लेखकों और गायकों को जिन्हें कोई पहचान या कोई मंच नहीं मिला है, उन सभी को आगे लाने की शुरुआत की है। अगस्त महीने में संस्था औऱ दादा रिकॉर्ड्स ने ऑनलाइन ऑडिशन करवाये जिनका परिणाम अब घोषित किया। इस ऑडिशन का परिणाम जाने माने हरियाणवी गीतकार नवीन विशु, सुप्रसिद्ध हरियाणवी गायक सोमवीर कथूरवाल ने जारी किया। सभी प्रतिभागियों में से विजेताओं का चयन उनकी प्रतिभा के आधार पर किया गया। लेखक व गायक दोनों श्रेणियों में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पर रहे प्रतिभागियों के 5-5 गाने ऑडियो और वीडियो दादा रिकॉर्ड्स द्वारा तैयार किये जायेंगे। इसके अलावा 5 अन्य प्रतिभागियों का 1-1 गाने की ऑडियो और वीडियो दादा रिकॉर्ड्स द्वारा तैयार की जाएगी। इसके लिए किसी भी प्रतिभागी से कोई भी सहयोग राशि नहीं ली जाएगी। दादा रिकॉर्ड्स के मुख्य प्रबंधक एवं कवि शिरोमणि दादा मांगे राम जी के सुपौत्र सोनू शर्मा और विलक्षणा एक सार्थक पहल समिति के महासचिव विकास शर्मा ने सयुंक्त रूप से बताया कि उनका मकसद हरियाणवी लोक संस्कृति को बढ़ावा देने के साथ साथ छिपी हुई प्रतिभाओं को आगे लाना है। इस अवसर पर हरियाणवी म्यूजिक इंड्रस्ट्री के जाने माने चेहरे ऋषि राज मस्ताना, सुमन सेन, सरोज जांगड़ा, नरेश शर्मा, गुरुग्राम से पंडित केवल शर्मा, अल्पना शर्मा आदि मौजूद रहे।

चुने गए गायकों के नाम:

1. हिमांशु अनुपम
2. मन्नू तंवर
3. कपिल मस्ताना

इनके अलावा 5 गायकों 1-1 गाने का मौका दिया जाएगा:

1. अंजली बुटाना
2. संजय राणा
3. दीपक फौजी
4. नैना गोहाना
5. अंकिता करगवाल

चुने गए हरियाणवी लेखक:

1. संदीप कोहाड़
2. माही खरकिया
3. संदीप नूणसर

Post a Comment

0 Comments