खेकड़ा की बेटी प्रज्ञा पर बनी बॉलीवुड फिल्म

 पर्दे पर आएगी एक बेटी की दर्दनाक सच्ची कहानी

''घर चलो ना पापा'' हिंदी फिल्म की शूटिंग पूरी


नई दिल्ली। दिल्ली एनसीआर के गांव खेकड़ा की बेटी प्रज्ञा आर्य के वास्तविक जीवन में घटी एक अभूतपूर्व सत्य घटना पर बालीवुड हिंदी फीचर फिल्म ''घर चलो ना पापा'' की शूटिंग पूरी हो गई है। प्रज्ञा आर्य जन्म से मुस्लिम थी, लेकिन उसकी सहेली की एक मदरसे में दुष्कर्म के बाद मौत हो जाती है, जिसको इंसाफ दिलाने के लिए वह आठ वर्ष तक कानूनी लड़ाई लड़ती है, अदालत से जीत होने के बावजूद भी उसे घर और समाज वालों में से किसी का साथ नहीं मिला। बाद में उसे खेकड़ा के एक हिंदू परिवार ने पुत्री के रूप में अंगीकार कर लिया, जो आजकल देहरादून में बीए फाइनल की छात्रा है।

जाने—माने फिल्म डायरेक्टर सावन वर्मा ने इस फिल्म का निर्देशन किया है। इस फिल्म में छत्तीसगढ़ के सुपरस्टार अखिलेख पांडे और हरियाणा की जिया दहिया ने मुख्य कलाकार के रूप में भूमिका अदा की। गुजरात की प्रसिद्ध अभिनेत्री शताक्सी राजपूत के अलावा राजबंधू (हरियाणा), आयुष्य शर्मा (अलीगढ़), सुचित्रा सिंह, धर्मेंद्र बच्च्न, प्रताप वर्मा, कृश्णपाल भारत, हरबीर धामा, राकेश आंतिल एवं काजल ने महत्वपूर्ण किरदार निभाए। इस फिल्म में कुमार चंद्रहास ने संगीत दिया है। इस फिल्म में कई प्रसिद्ध गायकों के साथ—साथ बागपत की उभरती प्रतिभा जावेद सईद को भी एक गीत गाने का अवसर मिला है।

इस फिल्म की कहानी के लेखक तेजपाल सिंह धामा हैं। फिल्म की शूटिंग बृजघाट, गढ़मुक्तेशवर, बागपत, सोनीपत हरियाणा आदि क्षेत्रों में विभिन्न लोकेशनों पर हुई। कोरोना संकट को देखते हुए सरकारी निर्देशनों का पालने करते हुए शूटिंग को गोपनीय रखा गया।


....

संलग्न

शूटिंग के कुछ फोटो





Post a Comment

0 Comments