ब्राह्मण सेवा संघ द्वारा दिया गया नारा मंच अनेक ब्राह्मण एक।

 ब्राह्मण सेवा संघ द्वारा दिया गया नारा मंच अनेक ब्राह्मण एक।



 उत्तर प्रदेश युवा ब्राह्मण महासभा ने शुरू की ब्रजक्षेत्र में चेतना यात्रा।


वृन्दावन में अनेक विप्र संगठनों ने किया दिव्य भव्य स्वागत।



वृन्दावन। ब्राह्मण सेवा संघ के तत्वावधान में उत्तर प्रदेश युवा ब्राह्मण महासभा द्वारा आयोजित विप्र चेतना यात्रा का स्थानीय सी एल शिशु शिक्षा निकेतन पर भव्य स्वागत समारोह आयोजित किया गया। समारोह में वृन्दावन के अनेक विप्र संगठनों ने सहभागिता की।


ब्राह्मण सेवा संघ के संस्थापक प. चंद्रलाल शर्मा ने कहा कि आज विप्र एकता की महती आवश्यकता अनुभव की जा रही है। विप्र चेतना यात्रा के द्वारा सम्पूर्ण ब्रजक्षेत्र के ब्राह्मणों में एकता की चेतना अवश्य जागृत होगी।


सेवा संघ के अध्यक्ष आचार्य आनन्दवल्लभ गोस्वामी ने कहा कि ब्राह्मणों के मंच भले ही अनेक हों लेकिन ब्राह्मण एक हैं। आजके कार्यक्रम में यह स्पष्ट दिखाई भी दिखाई दिया जब नगर के समस्त विप्र संगठन एक साथ एकत्रित हुए हैं। ब्राह्मण सेवा संघ द्वारा मंच अनेक ब्राह्मण एक का नारा भी दिया गया।



यात्रा के संयोजक उत्तर प्रदेश युवा ब्राह्मण महासभा के संस्थापक प. राजेश पाठक ने बताया कि विप्र चेतना यात्रा का उद्देश्य ब्राह्मणों में एकता का बिगुल फूंकना है। ये यात्रा ब्रज चौरासी कोस के सम्पूर्ण क्षेत्रों में भ्रमण करेगी।


स्वागत समारोह में ब्राह्मण महासभा वृंदावन, अखिल भारतवर्षीय ब्राह्मण महासभा, सर्व ब्राह्मण महासभा, सारस्वत सभा, तीर्थपुरोहित पंडा सभा, परशुराम महिला संगठन, श्रीहनुमद आराधन मण्डल एवं ब्रह्मकीर्ति दल सहित अनेक विप्र संगठनों के सदस्यों ने मंगलकामना पूर्वक विप्र चेतना यात्रा का स्वागत करके अगले पड़ाव के लिए विदा किया।



कार्यक्रम का शुभारम्भ भगवान  परशुराम जी के चित्रपट के सम्मुख वेदमन्त्रों की पवित्र ध्वनि के मध्य दीप प्रज्ज्वलन एवं पुष्प अर्पण करके किया गया।



कार्यक्रम में रमेश दत्त शर्मा, सत्यभान शर्मा, आशुतोष भारद्वाज, सन्त आदित्यानन्द महाराज, नवल गिरि महाराज, सुरेशचंद शर्मा, महेश भारद्वाज, राजनारायण द्विवेदी राजू भैया, बिहारी लाल वशिष्ठ, अतुलकृष्ण गोस्वामी, राम विलास चतुर्वेदी, अखिलेश गौड़, संजय पण्डित, कृष्ण चन्द्र गौतम छीता, डॉ मनोज मोहन शास्त्री, बिहारी लाल शास्त्री, अशोक व्यास, विपिन बापू, श्रीमती शशि शुक्ला, राजवीर दीक्षित, योगेंद्र भारद्वाज, विष्णु सिद्ध, राम नारायण वृजवासी, बिट्टू गौतम, सुधीर शुक्ला, रामेश्वर शर्मा, जगदीशनीलम, राम जीवन शर्मा, डॉ अनिरूद्ध शास्त्री, सतीश पाराशर, प्रियाशरण, नीरज गौड़, सर्वेश तिवारी, अशोक अज्ञ, ऋषि कुमार, श्रीहरि कौशल,आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments