गोपालन के नाम से फर्जी कम्पनी बनाकर रुपयों की ठगी करने वाले तीन आरोपीयो को किया गिरफतार


गोपालन के नाम पर फर्जी कम्पनी बनाकर रुपयों की ठगी  के तीन आरोपीयो को किया गिरफतार।
एसपी जगदीश चंद्र शर्मा के निर्देशन व वृताधिकारी सुरेश शर्मा के सुपरविजन में चिड़ावा थाना पुलिस को मिली सफलता ।

झुंझुंनू ( रमेश रामावत ) पुलिस अधीक्षक जगदीश चन्द्र शर्मा ने बताया की 1 सितम्बर 20 को परिवादी भूपेन्द्र सांगवान पुत्र फतेहसिह जाति जाट उम्र 49 वर्ष निवासी वार्ड नंबर 22 आदर्श कॉलोनी चिड़ावा ने एक लिखित रिपोर्ट पेश कर बताया की मेरे से भगवान व नरेश ने 06 जुलाई को वाटिका डेयरी के बारे में बताया व प्रलोभन दिया की पैसे लगाओ अच्छा मुनाफा कमाओ तथा 18 जुलाई 20 को मेरे पास आकर एक लाख रूपये नकद भगवान व नरेश तथा कंपनी का एमडी विजेन्द्र ने लिये ये लोग मुझे अधिक मुनाफे का प्रलोभन दिखाकर मेरे एक लाख रूपये हड़प कर लिये है। ये लोग किसी तरह की कंपनी बनाकर भोले-भाले लोगों को झांसा देकर रकम हड़प कर कंपनी में रूपये लगाकर अधिक लाभ कमाने का झांसा देकर एक रूपये हड़पते है। इन लोगो के साथ संजय, मनप्रीत, विजेन्द्र कुमार वगैरा कई लोगों ने मिलकर गिरोह बना रखा है। जो जनता से झुठे प्रलोभन देकर रूपये हड़प कर कंपनी को बंद कर भाग जाते है आदि रिपोर्ट पर अपराध संख्या 348/2020 धारा 420, 406 भादस में पंजीबद्ध कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया अभियक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु चिड़ावा वृताधिकारी सुरेश शर्मा के सुपरविजन एवं थानाधिकारी लक्ष्मीनारायण सैनी के नेतृत्व मे टीम गठित की गई। गठित टीम द्वारा प्रकरण में आरोपी नरेश पुत्र मांगेराम जाति कुमावत उम्र 30 साल निवासी कारोली जिला रेवाड़ी हरियाणा व भगवानदास पुत्र जगदीश प्रसाद जाति मेघवाल उम्र 28 साल निवासी कारोल जिला रेवाड़ी हरियाणा तथा संजय पुत्र लखीराम जाति ब्रहामण उम्र 30 साल निवासी कारोली जिला रेवाड़ी हरियाणा को गिरफतार कर पुछताछ की गई। अनुसंधान में सामने आया  की आरोपीयो द्वारा गिर नस्ल की गाय पालने के नाम पर आम जनता को गाय के दुध व दूध से बने उत्पादों से होने वाले लाभ में हिस्सा मिलने का प्रलोभन देकर लोगों को चैन सिस्टम से जोड़कर, लोगों से पैसे हड़प कर भविष्य में फरार हो जाते। जिनसे अनुसंधान लगातार जारी है। वारदात में शामिल कम्पनी के एमडी विजेन्द्र यादव निवासी मन्दाना नारनौल हरियाणा के संबध में पूछताछ की जा रही है। गठित टीम में थानाधिकारी लक्ष्मीनारायण सैनी व महेन्द्र कानि., महावीर कानि., अनिल कानि. तथा श्रवण कानि. आदि शामिल रहे ।

Post a Comment

0 Comments