जिला मुख्यालय हमारा हक है और हम महेन्द्रगढ़ में स्थापित करवा कर ही दम लेंगे:अजित यादव

 महेन्द्रगढ़ : प्रमोद बेवल:


महेंद्रगढ़ के वकीलों द्वारा जिला मुख्यालय स्थापित करवाने को लेकर जारी धरना प्रदर्शन के 43 वें दिन वकील व लोगों ने उपायुक्त का घेराव व नारेबाजी कि और धरने को जारी रखा ।



महेन्द्रगढ़ बार एसोसिएशन के प्रधान अजीत यादव एडवोकेट ने धरने को संबोधित करते हुए 12 जनवरी के प्रस्तावित महाजाम की रूपरेखा बताते हुए सभी अधिवक्ताओं को उनकी जिम्मेवारी से अवगत करवाया और उपस्थित लोगों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि जिला मुख्यालय हमारा हक है और हम महेन्द्रगढ़ में स्थापित करवा कर ही दम लेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि हमारी मंजिल अब दूर नहीं है और शीघ्र ही सकारात्मक विचार सामने आएगा।

मुख्यमंत्री से अभी तक मुलाकात ना होने को लेकर वकीलों ने उपायुक्त के घेराव का फैसला लिया गया। प्रदर्शनकारी वकीलों ने सचिवालय का घेराव किया और जम कर नारे बाजी की । तत्पश्चात उपायुक्त प्रदर्शनकारी वकीलों से मिलने बाहर आए और कहा कि आपका मामला हमारे संज्ञान में है और आपकी बात उच्च अधिकारियों तक पहुंचाई जा चुकी हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से मुलाकात करवाने बारे कहा कि मैं उच्च अधिकारियों से संपर्क कर मुख्यमंत्री से मुलाकात का समय दिलाने की कोशिश करूंगा।

प्रधान अजीत यादव एडवोकेट ने सभी राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे राजनीतिक मतभेद 
भुलाकर धरने प्रदर्शन में शामिल हों और जिला मुख्यालय महेन्द्रगढ़ में स्थापित करवाने में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि यह समय राजनीति करने का नहीं है बल्कि मिलकर जिला मुख्यालय स्थापित करवाने का है । सभी मिल कर सरकार को सन्देश दें कि मांग न मानने का खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

धरना स्थल पर आम जनता का आना जारी रहा और सोमवार को महेन्द्रगढ़ खटीक समाज से जिला उपाध्यक्ष महेन्द्रगढ़ खटीक समाज 
हरीराम खन्ना, पूर्व पार्षद रामस्वरूप, प्रधान खटीक समाज राजकुमार चौहान, संतोष कुमार, सतबीर, कर्मवीर, जगदीश चौहान, बीरबल चौहान, महावीर खन्ना, अजीत सिंह, भीम सिंह, गाव सिसोठ से सूबेदार राम व अन्य लोग धरना स्थल पर पहुंचे । स्वरूप, निहाल सिंह, सोहन लाल, ढाणी भालोठ से हरीश, मुडायन से पूर्व पंच दयानंद, मालडा से पार्षद प्रदीप यादव, कोथल से प्रवीण व महेन्द्रगढ़ नगर पार्षद डा. तरुण उपस्थित थे ।

Post a Comment

0 Comments