योगेश महाराज के द्वारा ताड़का वध, मारीच सुबाहु युद्ध एवं यज्ञ रक्षा का प्रसंग सुनाया गया

 महेन्द्रगढ़ :प्रमोद बेवल                    



स्थानीय दीवान कालोनी स्थित प्रिंस वेंकट हॉल में चल रही नौ दिवसीय श्रीराम कथा के चौथे दिन वृंदावन धाम से पधारे कथावाचक आचार्य योगेश महाराज के द्वारा ताड़का वध, मारीच सुबाहु युद्ध एवं यज्ञ रक्षा का प्रसंग सुनाया गया ।

कार्यक्रम  के मुख्य यजमान आप पार्टी के जिलाप्रधान डा. सुकेश दीवान एवं श्रीमती बबीता दीवान सपरिवार थे । पूर्व पोस्टमास्टर रमेश वर्मा  एवं  श्रीमती विश्वरत्न तथा डा. विश्वशक्ति विशिष्ट अतिथि थे जिन्होंने प्रसाद वितरण करवाया व श्रीरामकथा मण्डल के समस्त ब्राह्मणों को कम्बल वितरित किए ।

आचार्य ने बताया कि दशरथ के चारों राजकुमारों-राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न ने अल्पकाल में ही गुरू वशिष्ठ के आश्रम में अपनी सम्पूर्ण शिक्षा ग्रहण कर ली थी । राक्षसों के आतंक से घबराकर मुनि विश्वामित्र दशरथ के दरबार में आए और राक्षसों का नाश करवाने के लिए राम लक्ष्मण को साथ ले गए ।  मार्ग में राम लक्ष्मण ने ताड़का का वध किया और मारीच सुबाहु को परास्त कर मुनि के यज्ञ की रक्षा की।

इस अवसर पर श्रीराम कालेज आफ एजुकेशन के संस्थापक श्रीराम दीवान, गोविंद शर्मा, आचार्य त्रिलोक शास्त्री, श्यामसुंदर शर्मा, सोनू शर्मा, सत्यनारायण पाठक, ओमप्रकाश शास्त्री, मीडिया प्रभारी अमरसिंह सोनी, प्रधान रामौतार सैन, मनीष दीवान, नरेश दीवान, राजेश दीवान, अमित शर्मा, हवासिंह योगी, देवदत्त कौशिक,  श्रीमती शांति देवी, उमा, शकुंतला देवी, रेनू दीवान, आशा गर्ग एवं कविता शर्मा आदि उपस्थित थे ।

Post a Comment

0 Comments