सोशल एडवोकेट फर्म की मुहिम की पहल से छोटी जरूरतों के लिए ई स्टाम्प खुद छापने की अनुमति दी यूपी सरकार ने

 लखनऊ: फर्म प्रेसिडेंट एड०हर्ष शर्मा ने बताया की स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (सीआरए) के माध्यम से किसी भी वैल्यू तक की ई-स्टाम्पिंग के लिए अब स्टाम्प वेंडर अधिकृत है ,लेकिन वे भी कम मूल्य के ई स्टाम्प प्रिंट करने में दिलचस्पी नही दिखाते क्योंकि 100 रुपये के ई स्टाम्प पर उन्हें लगभग बतौर कमीशन 11.5 ₹ ही मिलते हैं।

फर्म वाईस प्रेजिडेंट एड० देवेश कुमार का कहना है कि वेंडर के चक्कर लगाने और ब्लैक में खरीदने से मिलेगी मुक्ति।फर्म के सक्रिय मेम्बर एड० कमल सैन ने बताया कि गुरुवार को इस सम्बंध में स्टाम्प आयुक्त मिनिस्ती एस. द्वारा जारी आदेश के मुताबिक कोई भी व्यक्ति नेट बैंकिंग ,डेबिट कार्ड या यूपीआई के जरिए स्टाम्प शुल्क का भुगतान कर कहीं से भी सीआरए की वेबसाइट (www.shcilestamp.com) या स्टाम्प विभाग की वेबसाइट (igrsup.gov.in) पर जाकर ऑनलाइन ई स्टाम्पिंग मोड्यूल के तहत अब 500 रुपये तक के ई स्टाम्प खुद प्रिंट (80 जीएसएस एक्जीक्यूटिव बांड पेपर ) पर सकेगा। फर्म की निगरानीकर्ता लॉयर विशाल खैवाल का कहना है कि ई स्टाम्प क्यो ले रहे हैं यह भी बताना होगा पहले यूजर आईडी व पासवर्ड बनाना होगा इससे लॉगिन करके राज्य, अनुच्छेद (शपथ पत्र, सामान्य अनुबंध, अप्रेंटिसशिप पत्र,नामांकन प्रमाण पत्र,प्रति,क्षतिपूर्ति बांड आदि) स्टाम्प शुल्क की राशि दोनों पक्षों की जानकारी देने के साथ यह भी बताना होगा कि किस उद्देश्य से ई स्टाम्प ले रहे हैं।इस तरह प्रिंट किए गए ई स्टाम्प प्रमाण पत्र का अनिवार्य रूप से सत्यापन वेबसाइट या ई स्टाम्पिंग मोबाईल एप के जरिए भी किया जा सकेगा। फर्म से  नए नए जुड़े सक्रिय मेम्बर अधिवक्ता समोद पंवार ने बताया कि यह सुविधा जल्द ही मार्च के पहले सप्ताह से मिलने की उम्मीद है।

फर्म के सभी अधिवक्ताओं ने एक सुर में कहा कि वे ऐसे अनेकों कार्यो के लिए प्रतिज्ञाबद्ध है ।



Post a Comment

0 Comments