हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय में हिन्दी कार्यशाला का हुआ आयोजन

 हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय में हिन्दी कार्यशाला का हुआ आयोजन

- के सहायक निदेशक (राजभाषा) सुमेर सिंह रहे उपस्थित

महेंद्रगढ़, प्रमोद बेवल 



हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़ में राजभाषा अनुभाग की ओर से हिंदी आलेखन व टिप्पण पर आधारित कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के सहायक निदेशक (राजभाषा) सुमेर सिंह यादव उपस्थित रहे। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने संदेश के माध्यम से कहा कि विश्वविद्यालय राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार को लेकर गंभीरता के साथ प्रयास कर रहा है। इसके लिए विश्वविद्यालय में राजभाषा कार्यान्वयन समिति का गठन किया हुआ है। राजभाषा हिन्दी के कार्यालयीन प्रयोग के लिए हिन्दी का प्रशिक्षण आवश्यक है। इसके लिए विश्वविद्यालय में प्रत्येक तिमाही में कार्यशाला व प्रशिक्षण का आयोजन किया जाता है। कुलपति ने कहा कि इस प्रकार का व्यावहारिक प्रशिक्षण विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवं कर्मचारियों को हिन्दी के कार्यलयीन प्रयोग में मददगार साबित होगा। उन्होंने कार्यशाला के विशेषज्ञ का भी आभार व्यक्त किया।  
प्रो. कुहाड़ ने विश्वविद्यालय में आयोजित इस कार्यशाला के संबंध में कहा कि इसका उद्देश्य कार्यालयीन व्यवहार में हिंदी के प्रयोग को बढ़ावा देना है और मुझे खुशी है कि विश्वविद्यालय में हिंदी का प्रयोग शैक्षणिक व शिक्षणेतर कर्मचारियों द्वारा कार्यालय प्रयोग में लगातार बढ़ रहा है और मुझे आशा है कि भविष्य में भी ऐसी ही कार्याशालाओं का आयोजन होता रहेगा। उन्होंने कहा कि हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय में प्रत्येक शुक्रवार को विश्वविद्यालय के सभी विभागो व अनुभागों द्वारा कार्यालय का कार्य हिन्दी में किया जा रहा है। कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में पधारे सुमेर सिंह यादव ने कहा कि हिंदी का प्रयोग आसान है क्योंकि यह हमारी अपनी भाषा है। तकनीकी मोर्चें पर अगर कुछ समस्याएं आ रही हैं तो कुछ प्रयासों के द्वारा उनका समाधान किया जा सकता है। उन्होंने इस अवसर राजभाषा के विषय में जानकारी देते हुए हिंदी टिप्पण व आलेखन की जानकारी देते हुए उसका अभ्यास कराया। 
कार्यशाला का आरम्भ विश्वविद्यालय के कुलगीत के साथ हुआ। तत्पश्चात विश्वविद्यालय के हिन्दी अधिकारी शैलेंद्र सिंह ने विशेषज्ञ वक्ता का परिचय प्रस्तुत किया। इसके पश्चात अधिष्ठता, शिक्षा पीठ डॉ. प्रमोद कुमार ने स्मृति चिह्न देकर विशेषज्ञ को सम्मानित किया। इस अवसर पर बोलते हुए डॉ. प्रमोद ने कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ के निर्देशन व मार्गदर्शन में हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं और यह कार्यशाला इन कोशिशों में सहयोग प्रदान करेगी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के अधिष्ठाता, विभागाध्यक्ष, प्रभारी, शिक्षक, कर्मचारी भारी संख्या में उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments