संगीतकार एवं शिक्षक अरमान राज़ आर्य को मिली हिंदी-भूषण उपाधि

 6ठवे अंतरराष्ट्रीय साहित्यकार सम्मान समारोह में संगीतकार एवं शिक्षक अरमान राज़ आर्य को मिली हिंदी-भूषण उपाधि

बदायूँ। टीम अजेयभारत। 



अखिल भारतीय हिंदी साहित्य संस्थान के अंतर्गत के.बी. हिंदी सेवा न्यास के 6ठवे अंतरराष्ट्रीय साहित्यकार सम्मान समारोह का आयोजन उत्तर प्रदेश के बदायूँ जिले के आर. के. इंटरनेशनल स्कूल में सम्पन्न हुआ। न्यास द्वारा स्थानीय गंगापुर सिटी के संगीत शिक्षक एवं लेखक अरमान राज़ को हिंदी भाषा के विकास, उन्नयन, सम्बर्धन, संरक्षण, उत्कृष्ट लेखन एवं विभिन्न साहित्यिक उपलब्धियों हेतु  हिंदी भूषण उपाधि से नवाज़ा गया एवं हिंदी भाषा आधारक सम्मान भी दिया गया। इस सम्मान के साथ उन्हें शाल, सम्मानपत्र व प्रतीक चिन्ह एवम धनराशि प्रदान किये गए। समारोह की अध्यक्षता हरिद्वार से आये वरिष्ठ लेखक पंडित ज्वाला प्रसाद शांडिल्य द्वारा की गई। 



समारोह के मुख्य अतिथि नेपाल के विराटनगर विश्व विद्यालय के प्रोफेसर देवीपंथी, विशिष्ट अथिति त्रिभुवन विश्व विद्यालय, काठमांडू (नेपाल) के प्रोफेसर डॉ. घनश्याम परिश्रमी, महाराष्ट्र से आए हुए वरिष्ठ लेखक रामकृष्ण सहस्त्रबुद्धे, तमिलनाडु से आए हुए वैज्ञानिक एवं लेखक डॉ संजय रामन, प्रसिद्ध संस्कृत विद्वान डॉ. रमेश चन्द्र शर्मा, डॉ. रामबहादुर "व्यथित", रहे। मंच संचालन बरेली से आये वरिष्ठ लेखक एवं समीक्षक डॉ. नितिन सेठी द्वारा किया। साथ ही न्यास की प्रस्तुति वार्षिक स्मारिका "कथोपकथन-6", पत्रिका "नये क्षितिज"  के अंक-23 व अंक-24 , एवं साझा संकलन "काव्य के नए क्षितिज" का लोकार्पण भी किया गया। गौरतलब है कि अरमान राज द्वारा लिखित पुस्तक मेरी कलम से के लिए उन्हें गत वर्ष युवा रत्न एवं काव्यश्री उपाधि से भी नवाजा जा चुका है। इस अवसर पर नगर के सम्भ्रान्त जन, साहित्यकार एवम श्रोतागण भारी संख्या में उपस्थित रहे। गौरतलब है कि  संचालक डॉ0 नितिन सेठी द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया।

Post a Comment

0 Comments