बच्चों के साथ दुष्कर्म एवं गलत घटनाओं की बढ़ोत्तरी आये दिन हो रही है :यशवंत कुमार मिश्र

 वृन्दावन। टीम अजेयभारत। छोटे बच्चों के साथ हो रहे यौन अपराधों की खबरें समाज को शर्मसार करती नजर आती है इस तरह के मामलों की बढ़ती संख्या देख कर  वर्ष 2012 में एक विशेष कानून बनाया गया था जो बच्चों को छेड़ खानी, बलात्कार, और दुष्कर्म जैसे मामलों से सुरक्षा प्रदान करता है उस कानून को पोक्सो कानून के नाम से जाना जाता है। पोक्सो कानून क्या है और गुड़ टच बेड टच क्या होता है इसकी जानकारी वृंदावन कुम्भ मेले में समायोजित ब्राह्मण सेवा संघ शिविर में राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ मथुरा एवं इनाया फाउंडेशन के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कठपुतली नृत्य के माध्यम से बताया गया । कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि मथुरा जनपद के जनपद न्यायालय श्री यशवंत कुमार मिश्र जी ने दीप प्रज्वलित कर भगवान परशुराम के चित्रपट पर माल्यार्पण कर किया । कार्यक्रम की अध्यक्षता आनंद बल्लभ गोस्वामी ने की । विशिष्ट अतिथि मयूर जैन अपर एवं सत्र न्यायाधीश व दीक्षा श्री जी थे । कार्यक्रम को भव्यता प्रदान की इनाया फाउंडेशन जयपुर की टीम ने कठपुतली व घोड़ी नृत्य से मनोरंजक रूप में पोक्सो कानून की जानकारी दी जिसका नाम दिया गया मुन्नी की खुशी ।



मुख्य अतिथि यशवंत कुमार मिश्र ने कहा कि समाज मे हो रहे बच्चों के साथ दुष्कर्म एवं गलत घटनाओं की बढ़ोत्तरी आये दिन हो रही है । इसको रोकने के लिए हमे जागरूक होने की आवश्यकता है और  इस तरह के कार्यक्रम होते रहने चाहिए । विशिष्ट अतिथि अपर एव सत्र जिला जज मयूर जैन ने कहा बच्चों एवं उनके अभिभावकों को इस कानून की जानकारी होनी चाहिए । इस मुहिम को गति प्रदान करनी चाहिए । सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मथुरा दीक्षा श्री ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम हर जगह पर आयोजित किए जाने चाहिए उन्होंने चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 व 112 का प्रयोग करने की सलाह दी । 



रंगजी चौकी इंचार्ज रचना सांगवान ने कहा कि इस मनोरंजक तरीके से अगर बच्चों को पोक्सो कानून की जानकारी दी जाएगी तो वह अच्छा परिणाम होगा । बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील शर्मा व सचिव सुनील चतुर्वेदी ने कार्यक्रम की भूरी भूरी प्रशंशा की और कहा कि बाल हित में वह सदैव सहयोग रहेंगे । कार्ष्णि नागेन्द्र महाराज ने आर्शीवचन देते हुए कहा कि जिस तरह से बाल कृष्ण की रक्षा नंदबाबा ने की थी वैसे ही हमे बाल गोपालों की सुरक्षा करनी है । अध्यक्षता करते हुए आनंद बल्लभ गोस्वामी ने कहा कि बाल हित के कार्यक्रमो में जहाँ भी मेरी आवश्कता होगी मैं सदैब सहयोगी बन कर आपके साथ रहूँगा । सांदीपनि मुनि स्कूल की बेटी निशा भौमिक ने अपनी कविता प्रस्तुत की जिससे दर्शकों में बेटियों के प्रति सोच बदली । डॉ नीतू गोस्वामी ने भी कविता के माध्यम से प्रोत्साहित किया।  कार्यक्रम में आगंतुकों की व्यवस्था में नीरज गौड़, सुमंत शुक्ला व श्रेया शर्मा रही । कार्यक्रम का सफल संचालन करते हुए प्रतिभा शर्मा ने कहा कि दुष्कर्मियों की हवाओं से कह दो विधि के ज्ञान का दीप जलाया है कुम्भ के पावन पर्व पर यह बीड़ा उठाया है । चंद्रनारायण शर्मा चीनू ने भी सहयोग में हाथ बढ़ाया । 


कार्यक्रम में विशेष सहयोगी रही शशि शुक्ला व उनकी बहने तथा उपस्थित रही सत्यभान शर्मा, जगदीश नीलम, पुष्पांग गोस्वामी, चैतन्य शर्मा, श्याम सुंदर बृजवासी, कृष्णा गोस्वामी, श्वेता गोस्वामी, विनीता द्विवेदी, तुषार, गोपाल, काव्य, हरीश शर्मा, देव शर्मा, मनु शर्मा, सतीश चंद्र शर्मा, सीमा चतुर्वेदी, बंदना अरोड़ा, विष्णु गोला, सीमा शर्मा, नीलम गोस्वामी, ममता शर्मा, पार्थ सारथी, सेवा मूर्ति दासी, प्रतिमा सिंह, दीपांजलि शर्मा, भावना शर्मा, मेमोरी गर्ल प्रेरणा शर्मा, डॉ भुवनेश चौधरी, एडवोकेट जुगल सक्सेना, एडवोकेट विवेक गौतम, डॉ देव प्रकाश शर्मा । घोड़ी नृत्य रोहित एवं कठपुतली नृत्य अपर्ण भट्ट ने किया । कार्यक्रम के अंत मे धन्यवाद ज्ञापन लाला व्यास ने किया ।

Post a Comment

0 Comments