आखिरी उम्मीद बने सोनू सूद ने रखा इस संस्था का मान, फ्री में करवाएंगे बच्चे का ईलाज

 झाँसी। टीम अजेयभारत।



नेकिया कर के जो दरिया में डाल दोगे अभी ।

वही तूफानों में कश्तियां बनकर साथ देंगे कभी।।

 इन्हीं लाइनों को एक बार फिर झांसी में निरंतर समाज सेवा में आगे रहने वाली संस्था "उम्मीद रोशनी की" ने अपने नाम को सार्थक  किया है । नंदनपुरा में रहने वाले नसीम के 1 साल के बेटे अहमद रजा के लिए संस्था एक आखरी उम्मीद के रूप में सामने आई है। इसमें संस्था का साथ मशहूर फिल्म अभिनेता सोनू सूद जी ने दिया। दरअसल झांसी की रहने वाली सुष्मिता गुप्ता ने ट्विटर पर बच्चे की बीमारी का जिक्र करते हुए सोनू सूद से मदद मांगी थी. इसके बाद सोनू सूद ने ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि वे बच्चे के इलाज कराएंगे.

झांसी के नन्दनपुरा के रहने वाले नसीम के एक वर्षीय बच्चे अहमद के दिल की बीमारी का इलाज परिवार के लोग वहन नहीं कर पा रहे थे. नसीम मजदूरी काम का काम करता है और किसी तरह परिवार गुजर बसर करता है. नसीम ने बच्चे के इलाज के लिए उम्मीद रोशनी की संस्था से मदद मांगी. 



उम्मीद रोशनी की संस्था के ने इससे पहले झांसी के 1 बच्चे लकी का हर्ट का ऑपरेशन सोनू सूद जी की मदद से करवा चुके है। इसी कड़ी में संस्था की सदस्य और पेशे से ललितपुर  में शिक्षिका सुष्मिता गुप्ता ने बच्चे की तस्वीर और डॉक्टर के सलाह से जुड़े कागज 20 मार्च को ट्वीटर पर शेयर कर सोनू सूद से मदद मांगी थी. एक अप्रैल को सोनू सूद ने ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि इस बच्चे के इलाज की व्यवस्था हो गई है, सुष्मिता गुप्ता ने बताया कि इस बीमारी के इलाज पर चार से पांच लाख रुपये का खर्च आना था लेकिन परिवार यह खर्च वहन नहीं कर पा रहा था. हमने सोनू सूद से मदद मांगी तो उन्होंने इलाज की जिम्मेदारी उठा ली. बच्चा और उसके परिवार के लोग तीन अप्रैल को मुम्बई के लिए रवाना होंगे. सोनू सूद के सहयोगी गोविंद अग्रवाल ने अवगत कराया है कि चार अप्रैल को बच्चे का इलाज शुरू हो जाएगा.

Post a Comment

0 Comments